नई दिल्ली - ऑटो एक्सपो में युवाओं के लिए ऑफ रोड वाहन आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। इनमें से कई वाहन ऐसे हैं जो पहाड़ी इलाकों में दमखम के साथ चलने में सक्षम है। यही नहीं इन कारों के डिजाइन और ईंधन की कम खपत पर भी कंपनियों ने खासा ध्यान दिया है। सुनील पांडेय की रिपोर्ट
ऑटो मोबाइल कंपनियां ऑटो एक्सपो में ऑफ रोड कार व बाइक लेकर आई हैं, जो युवाओं को काफी पंसद आ रही है। कार और बाइक के साथ फोटो ¨खचवा रहे हैं। तकनीकी की जानकारी ले रहे हैं। कंपनियों ने युवाओं को ध्यान में रखकर ही कार और बाइक को तैयार किया है। पहाड़ी क्षेत्र में माइलेज का विशेष ध्यान रखा है।ऑटो एक्सपो में ऑफ रोड गाड़ियां दर्शकों को लुभा रही हैं। मारुति सुजुकी की कांसेप्ट कार सरवाइवर खूब पसंद की जा रही है। मारुति ने इसे इलेक्ट्रिक में उतारा है। इसके अलावा म¨हद्रा की थार भी लोगों को खूब भा रही है। यह कार भी ऊबड़-खाबड़ इलाकों में चलने में सक्षम है। कई कंपनियों ने बाइक को भी ऑफ रोड के लिए उतारा है। ये बाइक लोगों की पसंद बनी हुई हैं।
मेले में मंगलवार को 70 हज़ार से ज्य़ादा लोग उमड़े
ऑटो एक्सपो में मंगलवार को भी खूब लोग पहुंचे। दोपहर बाद भीड़ अधिक हो गई। आज सत्तर हजार से अधिक लोग मेले में पहुंचे। अंतिम दिन ब्यहां पहुंचे लोग वाहनों के साथ सेल्फी ¨खचवाने में व्यस्त रहे। सबसे अधिक भीड़ लग्जरी वाहनों के पास रही। बुधवार को मेले का अंतिम दिन है। ऑटो एक्सपो में वाहनों को देखने के लिए पहुंच रहे हैं। बुधवार को अंतिम दिन होने के चलते मंगलवार को भी खूब लोग ऑटो एक्सपो में पहुंचे। लग्जारी गाड़ियों के साथ लोग फोटो ¨खचवाने में व्यस्त रहे। युवा कारों और बाइक के साथ सेल्फी लेने में व्यस्त रहे। मर्सिडीज और बीएमडब्ल्यूए में सबसे अधिक पहुंचे। यहां हर कोई कार के साथ फोटो ¨खचवाना चाहता रहा।वहीं, ऑटो एक्सपो में भीड़ के चलते परी चौक पर जाम की स्थिति बनी रही। यहां वाहन रुक-रुक कर चलते रहे।
एक्सपो में लावारिस बैग मिलने से हड़कंप
ऑटो एक्सपो में मंगलवार को एक काले रंग का लावरिस बैग मिलने से हडकंप मच गया। हालांकि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए डॉग स्कवायड और बम निरोधक दस्ते को मौके पर बुलाया। जिसके बाद बैग को खोलकर देखा गया। लेकिन बैग में कोई संदिग्ध वस्तु नहीं मिली। एक्सपो मार्ट सेंटर के गेट नंबर एक के समाने कोई व्यक्ति अपना बैग छोड़कर चला गया। एक्सपो मार्ट में अंदर लोगों ने लावारिस बैग रखा देखा तो पुलिस को सूचना दी। जिसके बाद पुलिस ने तुरंत डॉग स्कवायड की टीम और बम निरोध दस्ते को मौके पर बुलाया। पुलिस ने पहले से यहां व्यवस्था की है। गनीमत रही कि बैग में कोई संदिग्ध वस्तु नहीं थी। बैग में कुछ कागजात रखे थे।
एक्सपो में विंटेज गाड़ियों का जलवा कायम
ग्रेटर नोएडा में लगे ऑटो एक्सपो में एक कोना ऑटो इंडस्ट्री के सुनहरे अतीत के नाम है। हॉल नंबर 12 में पहुंचने पर यही अतीत आपका स्वागत करता है। यहां खड़ी हैं आला दर्जे की, अनूठी और रौबदार कारें और बाइक्स, जो कभी सड़कों की शान थी।बुईक कार जब आई तब पहला विश्व युद्ध खत्म हो रहा था। युद्ध में सैनिकों के साथ बड़ी संख्या में घोड़े भी मारे गए जो यातायात का अहम साधन थे। इसी दौर में कनैडियन कंपनी मैकलाघलिन ने बुइक पेश की। 7 लोगों के बैठने के लिए बनी यह कार अपने जमाने की बेहतर कारों में शुमार होती थी। बाद में अमेरिकी कंपनी जनरल मोटर्स ने खरीद लिया।
इसके अलावा कैडिलिक कार किसी जंगी वाहन जैसी भारी भरकम कैडिलेक 355 डी को जनरल मोटर्स ने तैयार किया था। 8 सिलेंडर वाली इस कार का उत्पादन 1931 से 35 तक हुआ। कैडिलेक 355 डी की गिनती अपने दौर की सबसे मजबूत और आलीशान कारों में होती थी। लग्जरी कारों में बेंटली की अपनी अलग पहचान है। यह पहली बार 1946 में आई। 1952 तक इसका प्रॉडक्शन हुआ। यह उस समय की बहुत महंगी और कामयाब कार मानी गई। 100 मील प्रति घंटे की रफ्तार के साथ अपनी प्रतिद्वंद्वियों में सबसे तेज। यह पहली कार थी जिसका पूरा कोचवर्क स्टील से किया गया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें