नई दिल्ली - देशभर में नोटबंदी लागू होने के बाद डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा दिया गया था। इन प्रयासों के चलते छह महीनों में डिजिटल ट्रांजेक्शन में करीब 23 फीसद तक की बढ़ोतरी देखने को मिली है। यह जानकारी नोटबंदी ओर डिजिटल इकोनॉमी पर बनी संसदीय कमेटी के समक्ष एक सरकारी अधिकारी ने दी है। इस संसदीय कमेटी के समक्ष विभिन्न सरकारी विभागों के कई अधिकारी पेश हुए हैं।
सरकारी अधिकारी की ओर से संसदीय कमेटी को दी गई दी प्रेजेंटेशन में बताया गया है कि बीते वर्ष नवंबर के दौरान देश में कुल 2.24 करोड़ डिजिटल लेनेदेन हुए थे। यह मई 2017 में बढ़कर 2.75 करोड़ तक पहुंच गए हैं।
डिजिटल ट्रांजेक्शन में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी युनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के जरिए ट्रांजेक्शन में दर्ज की गई है। छह महीनो में यूपीआई के जरिए डिजिटल ट्रांजेक्शन करीब 30 गुना बढ़ा है। नवंबर 2016 में यूपीआई के जरिए रोजाना केवल दस लाख लेनदेन हो रहे थे। यह मई 2017 में बढ़कर चीन करोड़ के स्तर पर पहुंच गए हैं।
वहीं, दूसरी ओर इस दौरान इमिडिएट पेमेंट सिस्टम (आईएमपीएस) के जरिए हुए ट्रांजेक्शन में भी करीब दोगुना बढ़ोतरी दर्ज की गई है। नवंबर 2016 में आईएमपीएस के जरिए 12 लाख लेनदेन होते थे। यह मई, 2017 में बढ़कर 22 लाख तक पहुंच गए हैं।
हालांकि जानकारी के लिए बता दें कि इस दौरान क्रेडिट और डेबिट कार्ड के जरिए हुए लेनदेन में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हुई है। नवंबर 2016 से मई 2017 के दौरान कार्ड के जरिए लेन-देन केवल सात फीसद ही बढ़ा है। नवंबर 2016 में कार्ड के जरिए करीब 68 लाख लेनदेन दर्ज किए गए थे जो मई में बढ़कर केवल 73 लाख तक पहुंच पाए हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें