नई दिल्ली - देश के सबसे प्रतिष्ठित बैंकों में शुमार पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में बड़ी धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। बैंक के मुंबई ब्रांच में 1.77 बिलियन डॉलर यानी 113518950000.00 (एक खरब 13 अरब 51 करोड़ 89 लाख 50 हजार रुपये के फर्जी लेनदेन का खुलासा हुआ है। इस खुलासे के बाद शेयर बाजार में पीएनबी के शेयरों की कीमत में काफी गिरावट देखी गई।
इस खुलासे के बाद बैंक बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दिये एक बयान में बताया कि लेनदेन कुछ चुनिंदा खाताधारकों को लाभ पहुंचाने की कोशिश की गई है। ऐसा लगता है कि इन लेनदेन के रिकॉर्ड के आधार पर विदेशों में कुछ बैंकों ने उन्हें ऋण दिया है।
बैंक ने कहा है कि ये लेनदेन सीमित हैं तथा नियमों के दायरे में जिम्मेवारी तय की जायेगी। उसने बताया कि इन लेनदेन की कुल राशि 177.17 करोड़ डॉलर है।
आपको बता दें कि सार्वजनिक क्षेत्र की बैंक पीएनबी देश में कर्ज देने वाली दूसरी सबसे बड़ी बैंक है और संपत्ति के मामले में चौथी सबसे बड़ी। बैंक ने अभी तक इस धोखाधड़ी में शामिल लोगों के नाम का खुलासा नहीं किया है लेकिन कहा है कि इस सौदेबाजी की सूचना प्रवर्तन एजेंसियों को दी गई है। अब इसका मूल्यांकन किया जाएगा इस लेनदेन से किसी की जवाबदेही बनती है या नहीं।
पीएनबी की ओर से कहा गया कि बैंक में ये लेन-देन आकस्मिक प्रवृति के हैं और इनपर देनदारी का फैसला कानून और अंतर्निहित लेनदेन के आधार पर किया जाएगा।
लुढ़के शेयर
शेयर बाजार में आज सुबह (बुधवार) कारोबारी सत्र में पीएनबी के शेयर 4.1% गिरावट के साथ खुले और गिरकर 5.7 फीसदी तक चले गए। बिकवाली की वजह से बैंक का शेयर करीब 8 फीसद टूट गया। करीब 12 बजे पीएनबी का शेयर 7.67 फीसद की गिरावट के साथ 149 रुपए पर कारोबार कर रहा है। इस गिरावट के पीछे मुख्य वजह बैंक की मुंबई ब्रांच में 177.17 करोड़ डॉलर के फ्रॉड की खबर है।
सीबीआई जांच जारी
सीबीआई के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पिछले हफ्ते 10,000 करोड़ रूपये के संदिग्ध लेनदेन के बारे में डिजाइनर नीरव मोदी तथा एक ज्वेलरी कंपनी के खिलाफ पीएनबी से दो शिकायतें मिलीं। दोनों पर पीएनबी को 44 मिलियन डॉलर धोखा देने का आरोप लगा है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें