नई दिल्ली - ब्रिटिश मल्टीनेशनल एल्कोहलिक बेवरेज कंपनी डियाजिओ ने भगौड़ा घोषित हो चुके विजय माल्या को 35 मिलियन डॉलर का भुगतान न करने का फैसला किया है। भारतीय मुद्रा में यह रकम करीब सवा 2 अरब रुपए बैठती है। आपको बता दें कि डियाजिओ ने डायाजियो ने सेटलमेंट के तहत माल्या को 7.5 (4.8 अरब रुपये) करोड़ डॉलर देने का वादा किया था। इस मामले की जानकारी रखने वाले दो एग्जीक्यूटिव्स ने यह जानकारी दी है।
माल्या से बकाया वसूलने को कदम उठाएगी डियाजिओ:
इकोनॉमिक टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक डियाजिओ माल्या से अपना बकाया वसूलने के लिए भी कदम उठाएगी। इस बकाए में 13.5 करोड़ डॉलर की वह रकम भी शामिल है, जो डियाजियो ने वॉटसन लिमिटेड की लायबिलिटीज के लिए कंडीशनल गारंटी के रूप में स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक को दे रखी थी। जानकारी के लिए बता दें कि वॉटसन लिमिटेड माल्या से जुड़ी कंपनी है।
डियाजिओ ने माल्या को दे दिए थे 4 करोड़ डॉलर:
डियाजियो इसके अलावा फोर्स इंडिया फॉर्मूला वन टीम में माल्या के स्टेक पर भी दावा करेगी। उस स्टेक को वॉटसन के लिए सिक्यॉरिटी के रूप में गिरवी रखा गया था। जॉनी वॉकर स्कॉच और स्मिरनॉफ वोदका बनाने वाली डियाजियो ने पिछले साल हुए सेटलमेंट के तहत 4 करोड़ डॉलर माल्या को तब दे दिए थे, जब माल्या ने यूनाइटेड स्पिरिट्स लिमिटेड से हटने पर सहमति जताई थी। सेटलमेंट की बाकी रकम अगले कुछ वर्षों में दो बराबर किस्तों में दी जानी थी।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें