कारोबार

कारोबार (2859)


नई दिल्ली - भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने कड़ी कार्रवाई करते हुए 12 नॉन बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियों (NBFCs) के रजिस्ट्रेशन को रद्द कर दिया है। आरबीआई ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। आरबीआई ने कहा, 'बैंक ने आरबीआई एक्ट 1934 के सेक्शन 45 1ए (6) के तहत मिले अधिकारों का इस्तेमाल करते हुए इन कंपनियों के लाइसेंस को रद्द कर दिया है।'
केंद्रीय बैंक ने जिन कंपनियों के लाइसेंस को रद्द किया है उसमें देविका मोटर फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड, एरोमैक इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड, श्रॉफ फाइनेंशियल सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड, एंथिया टाइ अप प्राइवेट लिमिटेड, धानुलक्ष्मी टेक्सटाइल्स लिमिटेड, विशारदा फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड, सर्वमंगल फाइनेंशियल प्राइवेट लिमिटेड शामिल हैं।
इसके अलावा आरबीआई ने गोल्डन लेक मर्चेंट्स प्राइवेट लिमिटेड, धान मोटर फाइनेंस प्राइवेट लिमिटेड, सनरेज एजेंसीज प्राइवेट लिमिटेड, वनराज सप्लायर्स और छोटूलाल अजितसिंह एंड कंपनी के रजिस्ट्रेशन को रद्द कर दिया गया है। आरबीआई के इस फैसले के बाद ये कंपनियां अब किसी गैर-बैंकिंग वित्तीय संस्‍था का कारोबार नहीं कर सकती हैं।

नई दिल्ली। ब्लैक मनी पर गठित एसआईटी (विशेष जांच दल) ने केंद्र सरकार को दी गई अपनी सिफारिश में नकदी रखने की सीमा को बढ़ाकर एक करोड़ रुपये किए जाने का सुझाव दिया है। इससे पहले एसआईटी ने 20 लाख रुपये तक की नगदी रखने का सुझाव दिया था। एसआईटी ने एक करोड़ रुपये से अधिक की नगदी रखने की स्थिति में उसे जब्त कर सरकारी खजाने में जमा किए जाने की सिफारिश की है।2014 में सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिटायर्ड जस्टिस एम बी शाह की अध्यक्षता में एसआईटी का गठन किया था।एसआईटी की मौजूदा सिफारिश ने अपने पहले की दो सिफारिशों को खारिज कर दिया है। एसआईटी ने माना कि पहले की दोनों सिफारिशें उचित नहीं थी। विशेष जांच दल ने अपने पहले की दोनों सिफारिशों में 15 लाख रुपये और 20 लाख रुपये रखे जाने का सुझाव दिया था।जस्टिस शाह ने गुरुवार को कहा, 'हमने नकदी रखने की सीमा को एक करोड़ रुपया रखे जाने की सिफारिश की है। हमने यह भी कहा है इससे अधिक की रकम कोई कैश में रखता है तो उसे जब्त कर सरकारी खजाने में जमा कर देना चाहिए।'मौजूदा नियमों के मुताबिक कोई व्यक्ति तय सीमा से अधिक कैश रखने की स्थिति में उसका 40 फीसदी टैक्स और पेनाल्टी देकर जब्त रकम वापस हासिल कर सकता है। जस्टिस शाह ने गुरुवार को कहा, 'हमने नकदी रखने की सीमा को एक करोड़ रुपया रखे जाने की सिफारिश है। हमने यह भी कहा है इससे अधिक की रकम कोई कैश में रखता है तो उसे जब्त कर सरकारी खजाने में जमा कर देना चाहिए।'मौजूदा नियमों के मुताबिक कोई व्यक्ति तय सीमा से अधिक कैश रखने की स्थिति में उसका 40 फीसदी टैक्स और पेनाल्टी देकर जब्त रकम वापस हासिल कर सकता है।यह सिफारिश वैसे समय में सामने आई है जब देश भर में हालिया छापेमारी के दौरान आयकर विभाग ने बड़ी मात्रा में नकदी रकम जब्त की है।16 जुलाई को आयकर विभाग के अधिकारियों ने तमिलनाडु में हाईवे और कंस्ट्रक्शन के बिजनेस में शामिल एक कंपनी के ठिकानों पर छापा मारकर 1.6 अरब रुपये नकद जब्त किए थे। इसके साथ ही अधिकारियों ने छापे के दौरान 100 किलो सोना भी जब्त किया था।जस्टिस शाह ने कहा, 'आप देखें कि कितनी बड़ी मात्रा में नकद जब्त किया गया। 1.6 अरब रुपये.....1.77 अरब रुपये।'उन्होंने कहा, 'जिस मात्रा में रकम जब्त की गई है, वह इतनी अधिक है कि अब हमारा मानना है कि 20 लाख रुपये की लिमिट काम नहीं करेगी।'जस्टिस शाह ने सबसे पहले 15 लााख रुपये कैश रखने की सिफारिश की थी, जिसे बाद में उन्होंने बढ़ाकर 20 लाख कर दिया था और अब इसे बढ़ाकर एक करोड़ रुपये किया गया है।

नई दिल्ली। अब आपको हवाई यात्रा के लिए ज्यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं। केंद्र सरकार एयर टिकट पर सिक्योरिटी शुल्क को बढ़ाए जाने के बारे में विचार कर रही है। सेंट्रल इंडस्ट्रियल सिक्योरिटी फोर्स (सीआईएसएफ) ने बताया है कि एयरपोर्ट ऑपरेटर्स की ओर से बकाया राशि का भुगतान नहीं किया गया है।सीआईएसएफ (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) की तरफ से एयरपोर्ट ऑपरेटर्स से बकाया रकम के भुगतान की चेतावनी दिए जाने के बाद निजी एयरपोर्ट ऑपरेटर्स और सरकारी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) ने सरकार से पैसेंजर सर्विस फी को बढ़ाए जाने की मांग की है।सिविल एविएशन मिनिस्ट्री के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “एयरपोर्ट ऑपरेटर्स की जानकारी के अनुसार यात्रियों की संख्या में इजाफा में हुआ है। ऐसे में हम पैसेंजर सर्विस फीस में मामूली बढ़ोतरी करने का विचार कर रहे हैं। मौजूदा शुल्क एयरपोर्ट पर सिक्योरिटी मैनेजमेंट की लागत को वहन करने में समर्थ नहीं है। कीमतों में ज्यादा इजाफा नहीं किया जाएगा, हो सकता है कि यात्रियों को 50 रुपये का अतिरिक्त शुल्क देना पड़े।प्रति यात्री सिक्योरिटी चार्ज 130 रुपये का है। जानकारी के लिए बता दें कि इसमें बीते 10 वर्षों से संशोधन नहीं किया गया है। एयर टिकट पर लगने वाली पैसेंजर फीस के दो भाग होते है। इसमें एक फैसिलिटेशन चार्ज होता है जिसे बैगेज ट्रॉली, एस्केलेटर्स, ट्रैवेलेटर्स और टर्मिनल पर एसी जैसी सेवाओं केलिए चार्ज किया जाता है। वहीं दूसरा भार सिक्योरिटी चार्ज होता है। यह वह शुल्क होता है जिसका सीआईएसएफ एयरपोर्ट ऑपरेटर्स को भुगतान करता है। सीआईएसएफ की जिम्मेदारी भारतीय एयरपोर्ट्स पर सुरक्षा प्रदान करने की होती है।

नई दिल्ली। एमेजॉन के शेयर्स की मार्केट वैल्यू पहली बार 900 बिलियन डॉलर के स्तर पर आ गई है। बीते बुधवार को कंपनी ने अपने 21 वर्ष के सफर में यह कीर्तिमान रचा है। रॉयटर्स ने अनुमान लगाया है कि एमेजॉन जल्द ही वाल स्ट्रीट पर लिस्टेड कंपनी एपल से सबसे मूल्यवान कंपनी का तमगा छीन सकती है। दो दशक पहले बेजॉस ने एमेजॉन की स्थापना एक ऑनलाइन बुक रिटेलर के रूप में की थी और आज यह दुनिया की सबसे प्रतिष्ठित कंपनियों में से एक है।एमेजॉन की प्राइम डे सेल के बाद बुधवार को कंपनी ने बताया है कि दुनिया भर से ग्राहकों ने करीब 100 मिलियन से ज्यादा के प्रोडक्ट्स खरीदें हैं। कंपनी के शेयर्स ने 0.5 फीसद की बढ़ोतरी के साथ 1,858.88 डॉलर का रिकॉर्ड हाई छुआ है। हालांकि एमेजॉन का वर्तमान बाजार पूंजीकरण 880 अरब डॉलर को पार कर गया है, जो गूगल की पेरेंट कंपनी अल्फाबेट से ज्यादा, लेकिन एपल से कम है।गौरतलब है कि ब्लूमबर्ग बिलिनायर इंडेक्स के मुताबिक सोमवार को एमेजॉन के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जेफ बेजॉस की संपत्ति 150 अरब डॉलर के पार हो गई। संपत्ति में ताजा बढ़ोतरी ने उन्हें कई दशकों में दुनिया का सबसे धनवान व्यक्ति बना दिया है और उन्होंने दूसरे स्थान पर काबिज बिल गेट्स जैसे अरबपतियों को मीलों पीछे छोड़ दिया है।एमेजॉन के शेयर भाव में जबरदस्त बढ़ोतरी से बेजॉस की संपत्ति में इस वर्ष अब तक 50 अरब डॉलर की बढ़ोतरी हो चुकी है। एमेजॉन में बेजॉस की 16 फीसद हिस्सेदारी है।

 

नई दिल्ली। जल्द बाजार में 100 रुपये के नये नोट जारी किये जाएंगे। नोट के पिछले हिस्से में यूनेस्को की विश्वदाय सूची में शामिल गुजरात के पाटन स्थित 'रानी की बावड़ी' दिखाई देगी। आमतौर पर लोगों के बीच कम चर्चित इस ऐतिहासिक इमारत को यूनेस्को ने बावड़ियों की रानी की उपाधि दी है। इसका इस्तेमाल देश की सभ्यता को दर्शाने के लिए किया गया है। नोट का असल रंग लैवेंडर (गहरा बैंगनी) होगा। आरबीआई ने स्पष्ट किया है कि नये नोट के जारी होने के बाद भी मौजूदा 100 रुपये के नोट वैध रहेंगे। आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा है कि केंद्रीय बैंक न्यू महात्मा गांधी सीरीज वाले 100 रुपये के नये नोट को जारी करने वाला है। इस पर बैंक के गवर्नर डॉ उर्जित आर पटेल के हस्ताक्षर भी होंगे।
RBI जल्द जारी करेगा 100 रुपये का मेड इन इंडिया नोट:-एक सौ रुपये का नए रंग-रूप वाला जो नोट बाजार में जल्द ही आने वाला है, वह पूरी तरह भारतीय होगा। इसका न सिर्फ कागज व स्याही बल्कि तकनीक भी भारतीय होगी। मध्य प्रदेश के देवास स्थित बैंक नोट प्रेस में इनकी छपाई शुरू हो गई है। अभी तकरीबन 2000 करोड़ रुपये के 100-100 रुपये वाले नए नोट छापे जाएंगे। नए नोटों के आने से पुराने नोटों के प्रचलन पर असर नहीं पड़ेगा।यह पहला नोट होगा, जिसमें तकनीक से लेकर सामग्री तक सब कुछ भारतीय है। इस नोट में लगने वाला कागज भारत में तैयार किया गया है। प्रिंटिंग में लगने वाली स्याही भारतीय है और सिक्योरिटी फीचर भी पूरी तरह भारत में ही तैयार किए गए हैं।
ये होंगे सिक्योरिटी फीचर:नए नोट की सिक्योरिटी फीचर में सबसे प्रमुख गांधीजी का चित्र होगा। इस सिक्योरिटी फीचर को गुप्त रखा जाएगा, लेकिन यह नोट के रंग से कंट्रास्ट में होगा। नोट का रंग हल्का जामुनी होगा। आरबीआइ सूत्रों के अनुसार यही सबसे बड़ा सिक्योरिटी फीचर है। करीब दो दर्जन सूक्ष्म सिक्योरिटी फीचर बढ़ाए गए हैं, जो पुराने नोट में नहीं है।
आकार छोटा होगा नए नोट का:अन्य नए नोटों की तरह सौ रुपये का नया नोट भी पुराने नोट से छोटा होगा। एक गड्डी का वजन तकरीबन 83 ग्राम होगा। नोट की लंबाई-चौड़ाई में करीब 10 फीसद की कमी की गई है। नोट के आकार-प्रकार में बदलाव से एटीएम के कैश ट्रे भी बदले जाएंगे। हालांकि इस संबंध में आदेश नहीं जारी हुआ है, लेकिन आरबीआइ के एक सूत्र का कहना है कि अगस्त माह तक बैंकों को आदेश जारी कर दिए जाएंगे।

नई दिल्ली। तेल की ऊंची कीमतों और एक सख्त मौद्रिक नीति के कारण वित्त वर्ष 2018-19 के लिए भारत के ग्रोथ अनुमान को कम करने के बावजूद अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएममएफ) का कहना है कि भविष्य में भी भारत की ग्रोथ रेट मजबूत बनी रहेगी। हालांकि ग्रोथ अनुमान में गिरावट के बाद भी भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था बना रहेगा। गौरतलब है कि साल 2017 में देश की विकास दर 6.7 फीसद रही थी।आईएमएफ ने बीते दिन साल 2018 के लिए भारत के ग्रोथ अनुमान को घटाकर 7.3 फीसद और साल 2019 के लिए 7.5 फीसद कर दिया था जो कि इसके अप्रैल पूर्वानुमान से क्रमश: 0.1 फीसद और 0.3 फीसद कम है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के आर्थिक सलाहकार एवं अनुसंधान विभाग के निदेशक मौरिस ऑब्सफेल्ड ने बताया, “भविष्य में भी भारत की ग्रोथ मजबूत बनी रह सकती है। यह कम होगी लेकिन बहुत जल्द यह तेज हो जाएगी।”ऑब्सफेल्ड ने बताया, “भारत के लिए अहम कारक तेल की बढ़ती हुई कीमतें हैं और भारत एक तेल आयातक देश है। लेकिन वैश्विक वित्तीय स्थितियों में सख्ती भारत की ग्रोथ को प्रभावित करने में भूमिका निभा रही है। वहीं गिरावट के लिए अहम कारक हैं।”आईएमएफ रिसर्च डेवलपमेंट के डिप्टी डायरेक्टर गियान मारिया मिलेसी-फेरेटी के मुताबिक सख्त वैश्विक वित्तीय स्थितियों और तेल की बढ़ती कीमतें मुद्रास्फीति को दबाव में लाने के साथ मौद्रिक नीति भी और सख्त हो चुकी है।

नई दिल्ली। वैश्विक स्तर पर कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बावजूद बुधवार को लगातार दूसरे दिन पेट्रोल और डीजल की कीमतें अपरिवर्तित बनी रहीं। इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) की बेबसाइट के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज एक लीटर पेट्रोल की कीमत 74.84 रुपये रही। गौरतलब है कि पेट्रोल एवं डीजल की संशोधित कीमतें रोजाना सुबह 6 बजे आईओसी के पोर्टल पर संशोधित होती हैं। वहीं अगर अन्य…
नई दिल्ली। कंज्यूमर बिजनेस को ध्यान में रखते हुए रिलायंस इंडस्ट्रीज मौजूदा वित्त वर्ष में करीब 400 अरब रुपये जुटाने की योजना बना रही है। ब्लूमबर्ग के मुताबिक रिलायंस की योजना अपने कंज्यूमर बिजनेस को बढ़ाने की है।रिलायंस इंडस्ट्रीज बाजार पूंजीकरण के लिहाज से भारत की दूसरी बड़ी कंपनी है। ब्लूमबर्ग ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि मुकेश अंबानी की कंपनी यह रकम कर्ज और बॉन्ड के जरिए…
नई दिल्ली। विमानन कंपनी विस्तारा ने ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए मानसून फ्लैश सेल की घोषणा की है। इसके तहत टिकटों की कीमत 1299 रुपये से शुरू हो रही है। कंपनी ने ऑफर ऐसे समय में पेश किया है जब जेट एयरवेज और एयर एशिया ने भी घरेलू व अंतरराष्ट्रीय रूट्स के लिए स्कीम पेश की है। विस्तारा के ऑफर का लाभ उठान के लिए ग्राहकों को यात्रा से…
नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने वित्त वर्ष 2018 में न्यूनतम बैलेंस न रखने की पेनाल्टी के रूप में 151.66 करोड़ रुपये जमा किया हैं। यह राशि करीब 1.23 करोड़ बचत खातों से जमा की है। एक आरटीआई में यह जानकारी सामने आई है।पीएनबी ने आरटीआई एक्टिविस्ट चंद्र शेखर गौड़ की ओर से दायर सवाल के जवाब में बताया कि वित्त वर्ष 2017-18 के दौरान, 1,22,98,784 बचत खातों से…
Page 1 of 205

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें