बॉलीवुड एक ऐसी जगह है जहा रिश्ते कभी भी बनते हैं और कभी टूट जाते है। ऐसा ही कुछ अजय देवगन और रवीना टंडन की लव स्टोरी का हुआ था। अजय देवगन और रवीना टंडन किसी ज़माने में दो जिस्म एक जान हुआ करते थे लें अजय की ज़िन्दगी में करिश्मा कपूर के आ जाने के बाद उन्होंने रवीना से अपना रिश्ता तोड़ दिया। रवीना ने तो अपनी जान देने की भी कोशिश की थी। फिल्मफेयर को दिए गए इंटरव्यू में अजय ने इस बात से साफ़ इनकार कर दिया था की उनके और रवीना के बीच कुछ था। उन्होंने कहा की मैं कोई उनके प्यार व्यार में नहीं था। उन्होंने तो रवीना को झूठा ही बता दिया। उन्होंने कहा उनका इस तरह का बयान मेरे लिए कभी भी मायने नहीं रखता। लेकिन इस बार तो उन्होंने हद ही कर दी है। उन्होंने अपनी मर्यादा को क्रॉस कर लिया है। इस लड़की को एक मनोचिकित्सक की बेहद ज़रूरत है। अगर उन्हें इसके सेशन नहीं मिले तो वो पागल खाने में ज़रूर नज़र आएगी।जब उनसे रवीना के सुसाइड अटेम्प्ट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने इसे महज एक पब्लिसिटी स्टंट बताया। उन्होंने यह भी बताया था कि पिछले छह महीने से वो उनसे मिले भी नहीं थे।यह बात उन दिनों की हाँ जब रवीना और अजय की प्रेम कहानी ने खूब सुर्खियाँ बटोरी थी। डीएनए को दिए गए इंटरव्यू में अजय देवगन ने रवीना के साथ फिल्म करने की इच्छा भी जताई थी। जब उनसे पूछा गया था कि क्या वो रवीना के साथ एक बार फिर से काम करेंगे तो अजय ने कहा था क्यों नहीं ? रवीना भी अजय के साथ काम करने में काफी ओपन है। रवीना ने बताया जब कुछ सालों पहले में अजय से इसी का नाम ज़िन्दगी में मिली थी। काफी लम्बे समय के बाद हम दोनों ने काफी बातचीत की। मुझे अजय से कभी भी किसी तरह को कोई प्रॉब्लम नहीं थी। पता नहीं लोग क्यों मेरे और अजय के नाम को उछालते थे। बहरहाल, अजय और रवीना अपनी अपनी ज़िन्दगी में आगे बढ़ गए है। रवीना एक बार फिल्मों में अपनी फिल्म ‘मातृ’ से वापसी कर रही है। जो बॉक्स ऑफिस पर रिलीज़ को तैयार है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें