खेल

खेल (1965)


नई दिल्ली - भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के साथ राजस्व मॉडल पर सहमति के बाद आईसीसी से 40.5 करोड़ डॉलर मिलेंगे। बीसीसीआई को पिछले बिग थ्री मॉडल में आईसीसी से 57 करोड़ डॉलर मिलते थे। लेकिन नये राजस्व मॉडल में आईसीसी ने बीसीसीआई की हिस्सेदारी में काफी कमी कर दी थी जिस पर वैश्विक संस्था की दुबई में हुई पिछली बैठक में बीसीसीआई ने अपनी आपत्ति जताई थी और इसे स्वीकार करने से इंकार कर दिया था।
आईसीसी के लंदन में वार्षिक सम्मेलन में बीसीसीआई और विश्व संस्था के बीच राजस्व मामले पर सहमति बन गयी है और अब भारतीय बोर्ड को 40.5 करोड़ डॉलर मिलेंगे। इससे पहले आईसीसी ने बीसीसीआई को नये मॉडल में 29.3 करोड़ डॉलर देने की बात कही थी और भारत के विरोध पर आईसीसी के चेयरमैन शशांक मनोहर बीसीसीआई को अतिरिक्त 10 करोड़ डॉलर देने को तैयार हो गये थे। हालांकि तब भारत ने मनोहर के इस प्रस्ताव को मंजूर नहीं किया था।
आईसीसी सम्मेलन में जद्दोजहद के बाद आखिर इस बात पर फैसला हुआ कि बीसीसीआई को पिछली मंजूर राशि से 11.2 करोड़ डॉलर अतिरिक्त दिये जायें जिससे यह राशि 40.5 करोड़ डॉलर पहुंच गयी। भारत को पिछले मॉडल से 17.5 करोड़ डॉलर का नुकसान हुआ है। इसके बावजूद उसे इंग्लैंड से 26.6 करोड़ डॉलर ज्यादा मिलेंगे जिसके पास 13.9 करोड़ डॉलर आ रहे हैं। विश्व चैंपियन आस्ट्रेलिया, चैंपियंस ट्रॉफी विजेता पाकिस्तान, वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, श्रीलंका और बंग्लादेश को एक समान 12.8 करोड़ डॉलर मिलेंगे। जिम्बाब्वे के हिस्से में 9.4 करोड़ डॉलर आयेंगे।
बीसीसीआई को कुल 153.6 करोड़ डॉलर के राजस्व में 22.8 प्रतिशत की हिस्सेदारी मिल गयी है। इंग्लैंड की हिस्सेदारी 7.8 प्रतिशत, अन्य बोर्डों की 7.2 प्रतिशत और जिम्बाब्वे की 5.3 प्रतिशत है। राजस्व का 86 फीसदी हिस्सा पूर्ण सदस्यों के पास जाता है जबकि शेष हिस्सा आईसीसी के एसोसिएट सदस्यों में बंटता है।
आईसीसी की पिछली बैठक में राजस्व मॉडल पर 1-13 के बड़े अंतर से हार का सामना करना पड़ा। आईसीसी बैठक में बोर्ड का प्रतिनिधित्व करने वाले सचिव अमिताभ चौधरी ने अपना विरोध सामने रखा था और नये मॉडल को स्वीकार करने से इंकार कर दिया था। इस बार भी अमिताभ चौधरी आईसीसी सम्मेलन में बीसीसीआई का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं और वह भारतीय राजस्व को कुछ हद तक बढ़ाने में कामयाब रहे।
बीसीसीआई और आईसीसी के बीच पिछले कुछ समय में लगातार बातचीत चल रही थी और भारतीय बोर्ड की यही कोशिश थी कि राजस्व को जितना बढ़ाया जा सके बढ़ा लिया जाए। बीसीसीआई को आखिर कामयाबी मिली और उसने अपना राजस्व 4० करोड़ डॉलर के पार पहुंचा दिया।
बीसीसीआई ने अतिरिक्त 10 करोड़ डालर का ठुकराया था प्रस्ताव
नये राजस्व मॉडल के तहत बीसीसीआई को 29 करोड़ डॉलर की हिस्सेदारी की पेशकश की गयी थी लेकिन बीसीसीआई ने आईसीसी के पूर्ण सदस्यों को बताया कि वह अपनी 57 करोड़ डॉलर की हिस्सेदारी चाहता है जो पुराने राजस्व मॉडल में थी। आईसीसी के अध्यक्ष शशांक मनोहर ने बीसीसीआई द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) के साथ बातचीत में भारतीय बोर्ड को अतिरिक्त 10 करोड़ डॉलर देने की पेशकश दी थी जिससे बीसीसीआई की हिस्सेदारी 40 करोड़ डॉलर पहुंच जाती। लेकिन बीसीसीआई ने इस पेशकश को ठुकरा दिया।
यहां से शुरू हुई दिक्कत!
आईसीसी ने चैम्पियन्स ट्रॉफी के लिए इंग्लैंड को 135 मिलियन अमेरिकी डॉलर का बजट दिया है, जबकि इसी साल भारत में हुए टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारत को महज 45 मिलियन अमेरिकी डॉलर दिए गए थे। इसको लेकर बीसीसीआई और आईसीसी में ठनी हुई है। चैम्पियन्स ट्रॉफी 19 दिन का इवेंट है जिसमें 15 मैच खेले जाने हैं जबकि टी-20 वर्ल्ड कप 27 दिन चला था और इसमें कुल 58 मैच (35 मेंस और 23 महिला टीम के मैच) हुए थे।


नई दिल्ली - टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली इन दिनों कई लोगों के निशाने पर हैं। फैन्स ने उन्हें हटाकर महेंद्र सिंह धौनी को फिर से कप्तान बनाने की बात कही है तो वहीं कुछ दिग्गज खिलाड़ियों ने भी विराट को आड़े हाथों लिया है। दरअसल जब से अनिल कुंबले ने टीम इंडिया के कोच पद से इस्तीफा दिया है, तब से ही विराट कई लोगों की नजरों में विलेन बन गए हैं।
कुंबले ने सोशल मीडिया पर स्टेटमेंट जारी करते हुए कहा था कि विराट को उनके काम करने के तरीके से परेशानी थी। इस मामले में पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने भी विराट को खूब खरी-खोटी सुनाई है। उन्होंने कहा कि किसी भी क्रिकेट सलाहकार समिति की जरूरत ही क्या विराट खुद ही क्यों नहीं टीम इंडिया के लिए कोच का चुनाव कर लेते।
आपको बता दें कि क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) में सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल हैं। गावस्कर विराट से काफी नाराज हैं उन्होंने एक न्यूज चैनल पर कहा, 'टीम के खिलाड़ी और कप्तान की पसंद से ही कोच रखना है तो फिर सीएसी की जरूरत ही क्या है। वेस्टइंडीज में मौजूद टीम इंडिया के खिलाड़ियों और कप्तान से ही पूछकर कोच रख लिया जाए। इससे सबका समय भी बचेगा।'
दरअसल विराट और कुंबले के बीच पिछले कुछ समय से मनमुटाव चल रहा था। चैम्पियंस ट्रॉफी खत्म होने के साथ ही कुंबले का कोच पद के लिए कॉन्ट्रैक्ट भी खत्म हो गया था। पहले उन्हें वेस्टइंडीज दौरे तक ये जिम्मेदारी सौंपनी थी, लेकिन पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल मैच में मिली हार के बाद कोच और कप्तान के बीच दूरियां और बढ़ गईं। विराट ने बीसीसीआई के आला अधिकारियों से मुलाकात कर कहा कि टीम और वो कुंबले के साथ काम नहीं करना चाहते। जिसके बाद कुंबले ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। आपको बता दें कि कुंबले का चयन सीएसी ने ही किया था।


नई दिल्ली - चैम्पियंस ट्रॉफी 2017 के फाइनल मैच में गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की नो बॉल ने भारत को काफी नुकसान पहुंचाया। क्रिकेट फैन्स भी बुमराह की नो बॉल से काफी दुखी हुए थे, लेकिन यूपी पुलिस ने तो उनकी नो बॉल का अलग ही अपयोग कर दिया।
दरअसल, लखनऊ सेंट्रल जॉन के इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस(आईजीपी) ए सतीश गणेश ने बुमराह की एक तस्वीर शेयर की है। तस्वीर को शेयर करते हुए उन्होंने लिखा, 'कभी-कभी लाइन क्रॉस करने की बड़ी कीमत चुकानी पड़ जाती है। इसलिए ट्रैफिक क्रॉसिंग पर जेब्रा लाइन का सम्मान कीजिए।'
बता दें कि पुलिस ने ये सब इसलिए किया क्योंकि उन्हें लगा कि लोगों को जेब्रा क्रॉसिंग के बारे में समझाने का इससे बेहतर तरीका नहीं मिल सकता था।
बता दें कि भारत-पाकिस्तान के बीच फाइनल मैच के दौरान बुमराह ने फखर को शुरुआत में ही आउट कर दिया था। लेकिन पैर लाइन के बाहर होने की वजह से अंपायर ने नो बॉल करार कर दिया था। बुमराह की ये नो बॉल बाद में टीम इंडिया के लिए काफी घातक साबित हुई क्योंकि बुमराह द्वारा जीवन दान दिए जाने पर पाक बल्लेबाज फखर जमान ने 114 रन बना दिए थे। लेकिन अगर फखर उस गेंद पर आउट हो जाते तो पाक टीम इतना शानदार नहीं खेल पाती।


क्राइस्टचर्च - न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के विकेटकीपर और बल्लेबाज ल्यूक रौंची ने अंतरार्ष्ट्रीय क्रिकेट जगत से संन्यास ले लिया है। न्यूजीलैंड क्रिकेट बोर्ड ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी। रौंची ने 2008 से 2009 के बीच आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के लिए चार वनडे और तीन टी-20 मैच खेले थे, लेकिन 2013 में वह अपने गृहनगर न्यूजीलैंड लौट आए।
अपने एक बयान में रौंची ने कहा कि मेरे लिए यह सपने के सच होने जैसा था। मैं न्यूजीलैंड क्रिकेट में शामिल होने के लिए इससे बेहतर समय के बारे में नहीं सोच सकता था। मेरे लिए 2015 विश्व कप और उस समय टीम के साथ किए गए दौरे जीवन के सबसे यादगार पल हैं। अपने अब तक के करियर में 36 वषीर्य रौंची ने न्यूजीलैंड के लिए चार टेस्ट मैच, 85 वनडे और 32 टी-2० मैच खेले।
रौंची 2०15 विश्व कप में न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम का अहम हिस्सा थे। इस टूनार्मेंट में न्यूजीलैंड ने फाइनल तक का सफर तय किया था। हालांकि, उसे आस्ट्रेलिया टीम से सात विकेट से हार का सामना करना पड़ा। रौंची ने भले ही अंतरार्ष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया हो, लेकिन वह वेलिंग्टन ने लिए घरेलू टूनार्मेंटों में खेलना जारी रखेंगे।

 

लंदन - भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को लंदन के द ओवल ग्राउंड पर चैम्पियंस ट्रॉफी का फाइनल मैच खेला गया था। पाकिस्तान ने 180 रनों से जीत दर्ज कर चैम्पियंस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया। इस मैच के बाद भारतीय क्रिकेटरों को पाकिस्तानी क्रिकेटरों के साथ हंसी-मजाक करते हुए भी देखा गया। इन सब के बीच पाकिस्तानी टीम के ओपनर अजहर अली ने कप्तान विराट कोहली, महेंद्र सिंह धौनी और युवराज सिंह को लेकर ऐसा ट्वीट किया है, जो आपका दिल जीत लेगा।
इन तीनों क्रिकेटरों ने अजहर अली के दोनों बेटों के साथ कुछ समय बिताया। दोनों बच्चे विराट, धौनी और युवी से मिलकर बहुत खुश नजर आए। फोटो देखकर ऐसा लग रहा है कि अजहर के बेटे भारतीय ड्रेसिंग रूम में इन तीनों से मिले।
अजहर ने ये तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा, 'मेरे बच्चों के लिए समय निकालने के लिए इन महान क्रिकेटरों को शुक्रिया। दोनों बच्चे इनसे मिलकर बहुत खुश हुए...'

 

इलक्ले (ग्रेट ब्रिटेन) - टॉप वरीय लिएंडर पेस और आदिल शमसदीन की जोड़ी ने पिछड़ने के वापसी करते हुए एगोन एटीपी चैलेंजर टेनिस टूर्नामेंट के क्वॉर्टर फाइनल में जगह बनाई जबकि पूरव राजा और दिविज शरण की जोड़ी भी आसान जीत के साथ अंतिम आठ में प्रवेश करने में सफल रही।
पेस और कनाडा के उनके जोड़ीदार ने मैट रीड और जान पैट्रिक स्मिथ की ऑस्ट्रेलियाई जोड़ी को 1,27,000 यूरो ईनामी ग्रास कोर्ट प्रतियोगिता के पहले दौर में 4-6, 6-3, 12-10 से हराया। पेस और आदिल अगले दौर में बेलारूस के आंद्रेई वोसिलेवस्की और चिली के हेन्स पाडलीपिक कास्टिलो की जोड़ी से भिड़ेंगे। पूरव और दिविज की दूसरी वरीय जोड़ी ने भी विक्टर एस्ट्रेला बुर्गेस और दारियां किंग की जोड़ी को पहले दौर में 6-2, 6-4 से हराया।
ये जोड़ी अगले दौर में संचाई और सोंचत रतीवताना की थाईलैंड की जोड़ी से भिड़ेगी। इस बीच लंदन में एटीपी 500 एगोन चैम्पियनशिप में रोहन बोपन्ना और इवान डोडिग ने पहले दौर में काइल एडमंड और थनासी कोकिनाकिस की जोड़ी को 6-3, 6-7, 10-7 से हराया। वे अब हेनरी कोंटिनेन और जान पीयर्स की टॉप वरीय जोड़ी से भिड़ेंगे जिन्होंने जॉन इसनर और स्टीव जानसन की अमेरिकी जोड़ी को 7-6, 7-6 से हराया।

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नई दिल्ली - टीम इंडिया ने चैम्पियंस ट्रॉफी का ताज गंवाया और इसके दो दिन बाद हेड कोच अनिल कुंबले ने कप्तान विराट कोहली के साथ चल रहे मतभेद के बाद अपने पद से इस्तीफा दे दिया। भारतीय क्रिकेट टीम ने पिछले एक साल में जिन बुलंदियों को छुआ, उसमें कोच कुंबले के योगदान को नकारा नहीं जा सकता है, ऐसे में उनके और विराट…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); लंदन - भारत को कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद हॉकी विश्व लीग सेमीफाइनल में मंगलवार को अधिक रैंकिंग की टीम नीदरलैंड के हाथों 1-3 से हार का सामना करना पड़ा जो उसकी टूर्नामेंट में पहली हार है। सभी गोल पहले दो क्वार्टर में किए गए। नीरदलैंड कीर तरफ से थियरे ब्रिंकमैन (दूसरे मिनट), सैंडर बार्ट (12वें मिनट) और माइक्रो प्रूइसर (24वें मिनट) ने गोल…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नई दिल्ली - टीम इंडिया के पूर्व टेस्ट कप्तान और कोच अनिल कुंबले ने मंगलवार को कोच के पद से इस्तीफा दे दिया। कुंबले के कार्यकाल में टीम इंडिया ने वेस्टइंडीज, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीती और न्यूजीलैंड और इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज भी जीती। इसके अलावा कुंबले के कार्यकाल में ही टीम इंडिया 2016 टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल…
(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({}); नई दिल्ली - भारत के महान लेग स्पिनर और पूर्व कप्तान अनिल कुंबले ने कोच पद से इस्तीफा देने के बाद टि्वटर पर एक लेटर जारी किया है। इस लेटर में जंबो ने किसी का नाम नहीं लेते हुए विराट कोहली पर निशाना साधा हैं। उन्होंने लिखा है कि टीम के फायदे के लिए आइना दिखाना जरूरी है। इससे पहले कप्तान विराट कोहली के साथ…
Page 1 of 141

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें