खेल

खेल (3289)


नई दिल्ली - दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में 5-1 से जीत का भारत को आईसीसी रैकिंग में फायदा मिला है। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली वनडे में दुनिया के नंबर वन बल्लेबाज बन गए हैं। वहीं, तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह वनडे में दुनिया के नंबर वन गेंदबाज बन गए हैं। विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में छह मैचों में 186 की औसत और 99.46 के स्ट्राइक रेट से 558 रन बनाए। विराट कोहली ने तीन शतक जड़े। इसके अलावा उन्होंने 75, 46* और 36 रन की पारियां खेलीं। यह द्विपक्षीय वनडे सीरीज में किसी बल्लेबाज द्वारा बनाए गए सर्वाधिक रन हैं। विराट कोहली के पास आईसीसी रैंकिंग में 909 पॉइंट्स हैं जो किसी भी भारतीय खिलाड़ी द्वारा हासिल किए गए सर्वोच्च अंक हैं।
जसप्रीत बुमराह वनडे में नंबर वन गेंदबाज
वहीं गेंदबाजी रैंकिंग में जसप्रीत बुमराह पहले स्थान पर पहुंच गए हैं। उनके कुल 787 अंक हैं। उनके साथ अफगानिस्तान के राशिद खान भी पहले स्थान पर हैं। इसके अलावा युजवेंद्र चहल की वनडे रैंकिंग में भी काफी सुधार हुआ है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में 16 विकेट लेकर वह टॉप 10 गेंदबाजों में पहुंच गए हैं। वह फिलहाल 8वें पायदान पर हैं। कुलदीप यादव, जिन्होंने सीरीज में 17 विकेट लिए वह 15वें पायदान पर पहुंच गए हैं।
भारत वनडे में नबंर वन
भारत की सीरीज जीत ने उसे वनडे रैंकिंग में नंबर एक पर पहुंचा दिया है। टीम इंडिया टेस्ट में भी पहले स्थान पर है और टी20 इंटरनेशनल में वह तीसरे स्थान पर है। एबी डि विलियर्स वनडे में नंबर 2 पर पहुंच गए हैं। उनके कुल 844 अंक हैं। इसके बाद तीसरे स्थान पर 823 अंकों के साथ डेविड वॉर्नर हैं। अन्य भारतीय बल्लेबाजों में रोहित शर्मा छठे और शिखर धवन 10वें स्थान पर हैं।


नई दिल्ली - दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर मेजबान टीम के लिए अकेले भारतीय कप्तान विराट कोहली ही भारी पड़ रहे हैं। इस सीरीज में विराट कोहली ने क्रिकेट के तीनो फॉर्मेट में बेहतरीन बल्लेबाजी का नजारा पेश किया है। टेस्ट सीरीज में टीम इंडिया 1-2 से पीछे रह गई, लेकिन आखिरी टेस्ट मैच से टीम इंडिया ने वापसी की तो फिर दक्षिण अफ्रीका को संभलने का मौका नहीं दिया। पहले 6 वनडे मैचों की सीरीज में दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराया फिर तीन टी20 मैचों की सीरीज के पहले मुकाबले में जीत दर्ज कर बढ़त बना ली।
दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर विराट ने अब तक खेले गये टेस्ट, वनडे और टी 20 सीरीज के मैचों में 870 रन बना लिये हैं। अगर विराट शेष बचे 2 टी 20 मैचों में 130 रन और बना लें तो वो एक ही विदेशी दौरे पर 1000 रन पूरे कर लेंगे। यदि विराट ने यह कर दिखाया तो वो भारत के पहले और दुनिया के दूसरे ऐसे बल्लेबाज हो जाएंगे जिसने एक ही दौरे पर 1000 रन पूरे किये हों। अभी तक यह रिकॉर्ड वेस्टइंडीज के महान बल्लेबाज सर विवियन रिचर्ड्स के पास है जिन्होंने साल 1976 में इंग्लैंड के दौरे पर यह कारनामा कर दिखाया था। उन्होंने वनडे मैचों में 216 और चार टेस्ट मैचों की सीरीज में 829 रन सहित कुल 1045 बनाए थे।
डॉन ब्रेडमैन भी नहीं कर पाए हैं ये कारनामा
इस दौरे पर अब तक विराट कोहली ने तीन टेस्ट मैच खेलकर 286 रन, 6 वनडे मैच खेलकर 558 रन और एक टी 20 मैच में 25 रन बनाए हैं। कुल मिलाकर उन्होंने इस दौरे पर अब तक कुल 870 रन बनाए हैं। बुधवार को सीरीज का दूसरा टी 20 मैच और तीसरा टी 20 मैच 24 फरवरी यानि शनिवार को खेला जाना है। क्रिकेट के महानतम बल्लेजबाज सर डॉन ब्रेडमैन भी कभी एक दौरे पर एक हजार रनों का जादुई आंकड़ा नहीं छू पाए थे। उन्होंने इंग्लैंड के दौरे पर पांच टेस्ट मैचों में 974 रन बनाए थे। लेकिन तब वनडे मैच नहीं खेले जाते थे।

 


नई दिल्ली - भारत ने अनुभवी मिडफील्डर सरदार सिंह की अगुवाई में तीन मार्च से मलेशिया के इपोह में होने वाले प्रतिष्ठित 27वें सुल्तान अजलन शाह कप के लिये आज यहां 18 सदस्यीय हाकी टीम का चयन किया जिसमें तीन नये चेहरे शामिल किये गए हैं। अजलन शाह कप तीन से दस मार्च तक खेला जाएगा जिसमें भारत के अलावा विश्व में नंबर एक आस्ट्रेलिया, नंबर दो अर्जेंटीना, इंग्लैंड, आयरलैंड और मेजबान मलेशिया की टीमें भाग लेंगी।
स्टार मिडफील्डर सरदार को टीम की कमान सौंपी गयी जबकि फारवर्ड रमनदीप सिंह टीम के उप कप्तान होंगे जिसमें मनदीप मोर, सुमित कुमार और शैलानंद लाकड़ा के रूप में तीन नये खिलाड़ी शामिल किये गये हैं। हाकी इंडिया ने आज यहां टीम घोषित की।
भारत के मुख्य कोच शूअर्ड मारिन ने कहा, ''न्यूजीलैंड दौरे की तरह, जिसमें चार खिलाड़ियों ने अंतरराष्ट्रीय हाकी में पदार्पण किया, अजलन शाह कप भी इन नये खिलाड़ियों के लिये शीर्ष टीमों के खिलाफ अपना कौशल दिखाने का शानदार मौका होगा।
मारिन की अगुवाई में ही भारत ने पुरूषों का एशिया कप जीता और भुवनेश्वर में हाकी विश्व ली फाइनल्स में कांस्य पदक हासिल किया था। सुमित कुमार (जूनियर) अभी सीनियर पुरूष राष्ट्रीय शिविर का हिस्सा हैं वहीं मनदीप मोर और शैलानंद लाकड़ा को जूनियर पुरूष कोर ग्रुप से टीम में लिया गया है। वे पिछले साल सुल्तान जोहोर कप में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय जूनियर टीम का भी हिस्सा थे।
कोच मारिन का मानना है कि तोक्यो ओलंपिक 2020 की तैयारियों को ध्यान में रखकर इन युवा खिलाड़ियों का मौका देना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा, ''न्यूजीलैंड में अच्छा प्रदर्शन करने वाले युवा खिलाड़ियों और कुछ अन्य को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने का मौका मिलने से हमें बड़ा समूह तैयार करने में मदद मिलेगी। अपने पहले टूर्नामेंट में खेलना उनके लिये चुनौतीपूर्ण होगा लेकिन इससे सीनियर खिलाड़ियों को भी युवाओं की मदद करने का अवसर मिलेगा।
सरदार को कप्तान नियुक्त करने के फैसले के बारे में मारिन ने कहा, ''सरदार कोर ग्रुप में शामिल प्रमुख खिलाड़ियों में से एक है तथा मनप्रीत सिंह की अनुपस्थिति में उन्हें इस काम के लिये चुना गया है। वह अनुभवी खिलाड़ी है तथा पिछले दो टूर्नामेंट में नहीं खेल पाया। यह उनके पास अपना कौशल दिखाने का मौका होगा।
सरदार सिंह के साथ मध्यपंक्ति में एसके उथप्पा, सुमित, नीलकांत शर्मा और सिमरनजीत सिंह के साथ अपनी भूमिका निभाएंगे। भारतीय रक्षापंक्ति की जिम्मेदारी वरुण कुमार, अमित रोहिदास, दिपसान टिर्की, सुरेंदर कुमार, मनदीप मोर और नीलम संजीव पर होंगी। सूरज करकेरा और कृष्ण पाठक गोलकीपर होंगे।
अग्रिम पंक्ति में गुरजंत सिंह, रमनदीप सिंह, तलविंदर सिंह, सुमित कुमार (जूनियर) और शैलानंद लाकड़ा शामिल हैं। मारिन ने कहा, ''यह इस दौरे पर जाने वाले खिलाड़ियों के लिये बेहद महत्वपूर्ण टूर्नामेंट क्योंकि इससे उन्हें आस्ट्रेलिया और अर्जेंटीना जैसी टीमों के खिलाफ उच्चस्तर की प्रतिस्पर्धा का अनुभव हासिल करने का एक मौका मिलेगा। इससे उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना कौशल दिखाने और भविष्य के टूर्नामेंट के लिये टीम में अपनी जगह सुनिश्चित करने का एक और अवसर मिलेगा।

 


दक्षिण अफ्रीका - पिछले मैच में मिली हार से सतर्क भारतीय महिला टीम पुरानी गलतियों से सबक लेकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 21 फरवरी को होने वाले चौथे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में जीत दर्ज करके पांच मैचों की श्रृंखला में अजेय बढ़त हासिल करने की कोशिश करेगी। पहले दो टी20 मैचों में क्रमश: सात और नौ विकेट से जीत दर्ज करने के बाद भारतीय टीम ने जोहान्सबर्ग में तीसरे मैच में दक्षिण अफ्रीका को वापसी का मौका दे दिया। दक्षिण अफ्रीका ने यह मैच पांच विकेट से जीतकर श्रृंखला को जीवंत बनाए रखा।
दोहरी जीत पर होगी नजर...
इससे पहले एकदिवसीय श्रृंखला 2-1 से जीतने वाली भारतीय टीम अब किसी तरह की ढिलायी बरतने से बचेगी और उसका लक्ष्य अब टी20 श्रृंखला में अजेय बढ़त हासिल करने की होगी। भारत अगर कल जीत दर्ज कर लेता है तो वह दक्षिण अफ्रीका में एक दौरे में दो श्रृंखलाएं जीतने वाली पहली टीम भी बन जाएगी। हालांकि, हरमनप्रीत कौर की अगुवाई वाली टीम के लिए यह आसान नहीं होगा।
पहले दो मैचों में उम्दा प्रदर्शन के बाद भारत ने तीसरे मैच में लचर खेल दिखाकर दक्षिण अफ्रीका को वापसी का मौका दिया। पिछले मैच में भारतीय मध्यक्रम लड़खड़ा गया और उसकी टीम 17.5 ओवर में 133 रन पर आउट हो गयी। ऐसा तब हुआ जबकि 12वें ओवर में उसका स्कोर दो विकेट पर 93 रन था। कप्तान हरमनप्रीत ने 30 गेंदों पर 48 रन बनाये और स्मृति मंदाना (37) के साथ दूसरे विकेट के लिये 55 रन जोड़े लेकिन इनके आउट होने के बाद भारतीय मध्यक्रम लड़खड़ा गया।
बड़ी पारी खेलना चाहेंगी मिताली...
अनुभवी मिताली राज भी फिर से बड़ी पारी खेलने की कोशिश करेगी। वह पिछले मैच में खाता नहीं खोल पायी थी। भारतीय गेंदबाजी में भी पिछले मैच में धार नहीं दिखी थी। अनुभवी झूलन गोस्वामी की अनुपस्थिति में युवा तेज गेंदबाज पूजा वस्त्राकर ने आक्रमण की अगुवाई की तथा चार ओवर में 21 रन देकर दो विकेट लिए, लेकिन उन्हें अन्य गेंदबाजों का सहयोग नहीं मिला।
इस मैदान में होगा भारतीय पुरूष टीम का मैच...
भारतीय पुरूष टीम को इसी मैदान पर इस मैच के बाद दूसरा टी20 मैच खेलना है और ऐसे में महिला टीम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश करेगी। दक्षिण अफ्रीकी टीम का पिछले मैच में जीत से मनोबल बढ़ा है। तेज गेंदबाज शबनीम इस्माइल ने पिछले मैच में 30 रन देकर पांच विकेट लिये थे जो कि इस प्रारूप में किसी दक्षिण अफ्रीकी का दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इसके अलावा वह चोले ट्रायन से भी पिछले मैच की तरह धमाकेदार पारी की उम्मीद करेगा। ट्रायन ने पिछले मैच में 15 गेंद पर 34 रन की धांसू पारी खेली थी।


जोहांसबर्ग - दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान ग्रीम स्मिथ ने सोमवार को कहा कि भारत के साथ हुए वनडे सीरीज के लिए एडेन मार्कराम को कप्तान चुनना सही फैसला नहीं था। स्मिथ के मुताबिक मार्करम को एक खिलाड़ी के तौर पर विकसित होने के लिए समय दिया जाना चाहिए था जबकि उन्हें सीधे कप्तान बना दिया गया। छह मैचों की वनडे सीरीज में भारत ने मेजबान टीम को 5-1 से हराया। स्मिथ ने कहा कि खिलाड़ियों के चोटिल होने से परेशान दक्षिण अफ्रीकी टीम को मार्कराम के कप्तान बनाए जाने से आत्मबल नहीं मिला और यही कारण है कि टीम वनडे सीरीज में अच्छा नहीं खेल सकी।
स्मिथ को खुद 22 साल की उम्र में कप्तानी मिल गई थी। मार्करम 23 साल के हैं और दो मैच खेलने के बाद ही उन्हें टीम को सम्भालने की जिम्मेदारी मिल गई। स्मिथ को 2003 विश्व कप में टीम के खराब प्रदर्शन के बाद एकाएक कप्तान बना दिया गया था लेकिन स्मिथ ने न सिर्फ एक खिलाड़ी के तौर पर खुद को साबित किया बल्कि दक्षिण अफ्रीका के सबसे सफल कप्तान बनकर उभरे।
दूसरी ओर, मार्करम ने कप्तान के तौर पर छह मैचों की सीरीज में 21 के औसत से कुल 127 रन बनाए। 32 उनका सबसे बड़ा योग था। स्मिथ ने मार्करम को कप्तान चुने जाने के फैसले पर सवाल खड़ा करते हुए कहा, 'मार्करम को कप्तान चुने जाने का फैसला सही नहीं था। उन्हें अचानक इस जिम्मेदारी के आगे नहीं धकेलना चाहिए था। उन्हें एक खिलाड़ी के तौर पर विकसित होने का मौका मिलना चाहिए था और जब वह एक शक्तिशाली खिलाड़ी बन जाते तब, यह जिम्मेदारी उन्हें दी जा सकती थी।'
स्मिथ के मुताबिक कप्तान के तौर पर अब्राहम डिविलियर्स, हाशिम अमला और ज्यां पॉल ड्यूमिनी का चयन सही होता क्योंकि इससे मार्करम जैसे होनहार खिलाड़ी को पैर जमाने का मौका मिल जाता। स्मिथ ने कहा, 'लोग मेरी बात करते हैं। मुझे को काफी कम उम्र में यह जिम्मेदारी मिली थी। मैंने शुरुआत में सोचा था कि यह अल्पकालिक है लेकिन यह पूर्णकालिक बन गया। मैंने इसके बावजूद दबाव नहीं लिया और खुद को साबित किया। मार्करम के साथ उलटा हुआ। एक अहम सीरीज में अचानक कप्तान बनाए जाने पर न तो उनका खुद का खेल सुधरा और न ही वह टीम को प्रेरित कर पाए। इससे उनका आत्मबल गिरा है।'

 


नई दिल्ली - जोहानसबर्ग के वांडर्स मैदान पर खेला गए पहले टी 20 मैच में भारत ने साउथ अफ्रीका 28 रनों से हरा दिया। इसी जीत के साथ भारत तीन T20 मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे हो गई है। 204 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी साउथ अफ्रीका की टीम निर्धारित ओवरों ने 9 विकेट खोकर केवल 175 रन ही बना सकी। बता दें कि कोहली भारत की जीत से पहले ही मैदान छोड़कर चले गए थे। जिसकी वजह बाद में कोहली ने खुद बताई।
दरअसल, विराट कूल्हे में चोट के कारण मैदान छोड़कर चले गये थे। अपनी चोट के बारे में कोहली ने मैच के बाद कहा, 'यह चोट पारी के शुरू में लगी थी। यह एक रन लेते हुए कूल्हे में लगी थी। शुक्र है कि यह हैमस्ट्रिंग नहीं थी। इसलिए मैं मांसपेशियों में खिंचाव से बचने के लिये मैदान से चला गया था।'
मैच में प्रदर्शन के बारे में कोहली ने कहा, 'यह बल्लेबाजी के लिए अच्छा विकेट था। रोहित (शर्मा) और शिखर (धवन) ने शीर्ष क्रम में शानदार थे। यह पूरी तरह से टीम का शानदार बल्लेबाजी प्रदर्शन था और अंत में भुवी (भुवनेश्वर कुमार) ने (पांच विकेट झटककर) अपना अनुभव दिखा दिया। यह पूरी तरह से टीम प्रयास था। हम लंबे समय से टी20 में ऐसा करने की कोशिश में थे। यह हमारा सबसे संतुलित प्रदर्शन था।'
दक्षिण अफ्रीका ने अंतिम ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की, इस बारे में कोहली ने कहा, टआपको अंतिम ओवरों में गेंदबाजी के लिये दक्षिण अफ्रीका को श्रेय देना होगा। हमें 16वें ओवर में 220 रन का स्कोर बनाने के बारे में सोच रहे थे लेकिन धौनी के आउट होने के बाद रफ्तार धीमी हो गयी। लेकिन अंत में यह जीत दिलाने वाला स्कोर था।'
रविवार को मैच के दौरान कुछ ऐसा हुआ की धौनी ने पांड्या को दिमाग शांत रखने के लिए कहा। दरअसल, 7वें ओवर में हार्दिक पांड्या जब गेंदबाजी कर रहे थे, तब डेविड मिलर ने शॉट खेला और बांउड्री लाइन पर खड़े बुमराह ने शानदार फील्डिंग कर 6 रन बचाए। हालांकि बाद में टीवी अंपायर ने 6 रन दे दिए।
अंपायर के फैसले से ना खुश पांड्या ने जब अगली बॉल मिलर को बाउंसर मार दी, जिसे अंपायर ने वाइड करार दे दिया। जिसके बाद धौनी ने पांड्या को इशारा किया कि दिमाग शांत रखें।

नई दिल्ली - पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के प्रमुख एवं पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने अपनी आध्यात्मिक गुरू 'पीर बुशरा मानेका के साथ तीसरा निकाह किया है। 'पिंकी पीर के नाम से मशहूर बुशरा 47-48 साल की हैं और बुशरा की पहली शादी से उनके पांच बच्चे हैं। उनकी शादी एक वरिष्ठ कस्टम अधिकारी से हुई थी। हाल ही में दोनों अलग हुए हैं। आपको बता दें कि इमरान की…
नई दिल्ली - 20 बार के ग्रैंड स्लेम चैंपियन स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए दुनिया के पांचवें नंबर के खिलाड़ी बुल्गारिया के ग्रिगोव दीमित्रोव को हराकर रोटरडम टेनिस टूनार्मेंट में तीसरा खिताब जीत लिया। यह उनके करियर का 97वां खिताब था। विश्व रैंकिंग में फिर से शीर्ष स्थान पर पहुंचे फेडरर ने रविवार को खेले गए फाइनल में दीमित्रोव को 55 मिनट में 6-2, 6-2…
जोहान्सबर्ग - भारतीय तेज गेंदबाजी के अगुआ भुवनेश्वर कुमार का मानना है कि दक्षिण अफ्रीका के वर्तमान दौरे में भारतीय बल्लेबाजों ने शार्ट पिच गेंदों का अच्छी तरह से सामना किया जो कि टीम की सफलता का एक प्रमुख कारण है। भुवनेश्वर ने भारत की पहले टी20 में जीत के बाद कहा कि दक्षिण अफ्रीका ने इस मैच में शार्ट पिच गेंदों से भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करने की कोशिश…
नई दिल्ली - हरमनप्रीत कौर के विश्व कप में बेजोड़ प्रदर्शन के लिये ईएसपीएनक्रिकइन्फो वार्षिक पुरस्कारों में महिला क्रिकेट में वर्ष का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन आंका गया। वहीं कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल भी पुरस्कार हासिल करने वालों में शामिल रहे। कुल 12 पुरस्कारों में से तीन पुरस्कार भारतीय खिलाड़ियों को मिले जो किसी एक देश के खिलाड़ियों को मिले सर्वाधिक पुरस्कार हैं। हरमनप्रीत ने विश्व कप के…
Page 2 of 235

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें