पहलगामः सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आज कहा कि जम्मू कश्मीर में सेना की ओर से रोके गए अभियान की अवधि बढ़ाई जा सकती है लेकिन आतंकवादियों की किसी भी हरकत पर तुरंत फिर से विचार करना होगा। रावत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान अगर शांति बनाये रखना चाहता है तो उसे राज्य में आतंकियों को भेजना बंद करना चाहिए। श्रीनगर से 95 किलोमीटर दूर पहलगाम में एक कार्यक्रम में जनरल रावत ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘अगर पाकिस्तान वाकई शांति चाहता है तो हम चाहते हैं कि वह सबसे पहले अपनी तरफ से आतंकवादियों की घुसपैठ कराना बंद करे। संघर्षविराम का उल्लंघन ज्यादातर घुसपैठ को मदद करने के लिए ही किया जाता है।’’ सेना प्रमुख ने कहा कि भारत सीमा पर शांति चाहता है लेकिन पाकिस्तान ने लगातार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है जिससे जान-माल का नुकसान हुआ है। उन्होंने कहा , ‘‘जब ऐसी हरकत होती है तो हमें भी जवाब देना पड़ता है। हम चुप नहीं बैठक सकते। अगर संघर्षविराम का उल्लंघन होगा तो हमारी तरफ से कार्रवाई की जाएगी।’’जनरल रावत ने कहा कि शांति के लिए जरुरी है कि सीमा पार से आतंकवाद का खात्मा हो। सेना प्रमुख ने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवाद रोधी अभियान रोकने की पहल का मकसद है कि लोगों को शांति का फायदा मिले। उन्होंने कहा, ‘‘अगर शांति का यह माहौल कायम रहा तो मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हम एनआईसीओ अभियान की शुरुआत को जारी रखने के बारे में विचार करेंगे। लेकिन, आतंकवादियों ने कोई हरकत की तो हमें इस संघर्षविराम या अभियान रोकने या एनआईसीओ पर फिर से सोचना होगा।’’

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें