चीनी राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा ब्यूरो के बौद्धिक संपदा विकास अनुसंधान केंद्र ने 12 जून को चीन के बौद्धिक संपदा विकास की स्थिति की मूल्यांकन रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट में कहा गया है कि पिछले वर्ष चीन का बौद्धिक संपदा विकास स्तर स्थिरता से बढ़ा है और अंतर्राष्ट्रीय रैंकिंग में बड़ी प्रगति दिखी है।चीनी राष्ट्रीय बौद्धिक संपदा ब्यूरो के बौद्धिक संपदा विकास अनुसंधान केंद्र के अध्यक्ष हान श्यू छेंग ने कहा कि इस रिपोर्ट में बौद्धिक संपदा का निर्माण, उपयोग, संरक्षण और पर्यावरण के जार पहलुओं से पिछले वर्ष चीन के बौद्धिक संपदा विकास की स्थिति का व्यापक मूल्यांकन और विश्लेषण किया गया और यह निष्कर्ष निकाला गया है कि चीन के बौद्धिक संपदा कार्य में उल्लेखनीय प्रगति मिली।इस मूल्यांकन रिपोर्ट में चीन के सरकारी आंकड़ों से कहा गया है कि पिछले वर्ष चीन के आविष्कार पेटेंट की आवेदन राशि 13 लाख 82 हजार थी, जो वर्ष 2016 से 14.2 प्रतिशत अधिक रही, लगातार 7 वर्षों तक विश्व के पहले स्थान पर है।रिपोर्ट में यह कहा गया है कि वर्तमान में चीन के विभिन्न क्षेत्रों पर बौद्धिक संपदा विकास असंतुलित है, जिससे यह ज़ाहिर है कि चीन के विभिन्न क्षेत्रों में आर्थिक विकास और बाज़ार के विकास की स्थिति भी असंतुलित है।

 

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें