नई दिल्ली। आयकर रिटर्न भरने वालों को बड़ी राहत देते हुए केंद्र सरकार ने नेक्स्ट जेनरेशन इनकम टैक्स फाइलिंग सिस्टम को विकसित किए जाने की योजना को मंजूरी दे दी है। इसके बाद टैक्स रिटर्न प्रोसेसिंग में महज एक दिन का समय लगेाग और लोगों को उनका रिफंड भी जल्द ही मिलेगा। फिलहाल इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग का प्रोसेसिंग टाइम 63 दिनों का है।केंद्र सरकार के लिए यह सिस्टम आईटी क्षेत्र की दूसरी बड़ी कंपनी इन्फोसिस तैयार करेगी, जिसकी लागत कुल 4,241.97 करोड़ रुपये होगी। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट ने आयकर विभाग के इंटीग्रेटेड ई-फाइलिंग एंड सेंट्रलाइज्ड प्रॉसेसिंग सेंटर 2.0 प्रॉजेक्ट पर 4,241.97 करोड़ रुपये के खर्च को मंजूरी दे दी है।" इस फैसले के संबंध में उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में इनकम टैक्स रिटर्न का प्रोसेसिंग टाइम 63 दिनों का है और इस परियोजना के क्रियान्वयन के बाद यह समय घटकर 1 दिन पर आ जाएगा।गोयल ने कहा कि इस परियोजना के 18 महीनों के भीतर पूरा होने की उम्मीद है और इसे तीन महीने की टेस्टिंग के बाद लॉन्च कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बोली प्रक्रिया के बाद इस परियोजना के लिए इंफोसिस का चयन किया गया है। उन्होंने कहा कि मौजूदा प्रणाली सफल रही है और नई प्रणाली ज्यादा टैक्स फ्रैंडली होगी।इसके साथ ही कैबिनेट ने वर्ष 2018-19 तक मौजूदा सीपीसी-आईटीआर 1.0 प्रॉजेक्ट के लिए 1,482.44 करोड़ रुपये के बजट को भी मंजूरी दी है। वहीं गोयल ने यह भी बताया कि चालू वित्त वर्ष में अब तक 1.83 लाख करोड़ रुपये का टैक्स रिफंड किया जा चुका है।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें