बेंगलुरु। आयकर विभाग ने इस सप्ताह वालमार्ट के स्वामित्व वाले फ्लिपकार्ट (Flipkart) समूह की एक कंपनी और लोकल फूड डिलिवरी स्टार्टअप स्विगी (Swiggy) के दफ्तरों की तलाशी की। विभाग ने थर्ड पार्टी वेंडर्स के जरिए कथित तौर पर टैक्स चोरी को लेकर ये तलाशी ली। दो सूत्रों ने रायटर्स को ये जानकारी दी। एक सूत्र ने बताया कि विभाग ने स्विगी और फ्लिपकार्ट की लॉजिस्टिक अनुषंगी Instakart के बेंगलुरु स्थित कार्यालयों पर बुधवार को तलाशी शुरू की। एक अन्य सूत्र ने बताया कि Instakart के दफ्तर पर तलाशी गुरुवार को पूरी हो गई।सूत्र ने बताया कि आयकर विभाग के कम-से-कम 20 अधिकारियों ने Instakart के कार्यालय पहुंचकर कंपनी के वेंडर्स को जारी इनवॉयसेस की जांच की।फ्लिपकार्ट ने इस बारे में एक बयान जारी कर कहा है कि वह अधिकारी को सभी जरूरी जानकारी उपलब्ध करा रही है। इसके अलावा अपना पूरा सहयोग दे रही है। कंपनी ने साथ ही कहा है कि वह टैक्स एवं अन्य वैधानिक नियमों का पूरी तरह से अनुपालन करती है।दक्षिण अफ्रीका की इंटरनेट क्षेत्र की दिग्गज कंपनी Naspers समर्थित Swiggy ने भी कहा है कि वह टैक्स और अन्य कानूनी प्रावधानों का पूरी तरह से अनुपालन कर रही है। उसने कहा है, ''आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा लिया जा रहा सर्वे अभी जारी है और हमारी टीम इस मामले में पूरा सहयोग कर रही है।''हालांकि, आयकर विभाग ने इस मामले पर रायटर्स के सवालों का तत्काल कोई जवाब नहीं दिया है।उल्लेखनीय है कि फ्लिपकार्ट देश की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी है। दूसरी ओर लोग खाना ऑर्डर करने के लिए स्विगी की सेवाएं लेते हैं।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें