नई दिल्‍ली। Covid 19 के कारण बहुत से लोगों का काम-धंधा छूट गया है। इसलिए केंद्र सरकार ने प्रवासी नागरिकों को Ration मुहैया कराने के लिए 'वन नेशन वन राशन कार्ड' (One Nation One Ration card) योजना शुरू की है। इसके तहत आर्थिक तंगी की मार झेल रहे या गरीब लोगों को सरकार बहुत ही कम कीमत में गेंहू, चावल जैसे जरूरी अनाज मुहैया कराती है। इस योजना का लाभ कोई भी राशन कार्ड धारक ले सकता है।सरकार ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अंतर्गत वन नेशन-वन राशन कार्ड योजना देशभर में लागू की थी। इसमें राशन कार्ड धारक देश में कहीं से भी राशन ले सकता है। इस नेटवर्क में देश की लगभग 5.25 लाख राशन दुकानें शामिल हैं।

 
क्‍या है व्‍यवस्‍था;-यह व्यवस्था हर स्थान पर राशन उपलब्ध कराती है, जो बायोमैट्रिक सिस्टम पर आधारित है। इससे राशन कार्ड धारक की पहचान उसकी आंख और हाथ के अंगूठे से होती है। National Food Security Act के अनुसार 65 साल से ज्‍यादा के लोग और दिव्यांगों को उनके घर पर राशन पहुंचाया जा रहा है।

Mera Ration app Download;-वन नेशन वन राशन कार्ड (one nation one ration card) देशभर में लागू करने से पहले सरकार ने मेरा राशन ऐप लांच (Mera Ration app Download) किया था, जिस पर चेक कर सकते हैं कितना राशन मिलेगा।

32 राज्‍य जुड़े:-राशन कार्ड योजना से देशभर के 32 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश जुड़ चुके हैं। राशन कार्ड धारक अगर दूसरे शहर जा रहा है तो वह मेरा राशन ऐप पर खुद रजिस्टर करके बता सकता है। इससे उससे उस राज्‍य में राशन मिल जाएगा। यही नहीं प्रवासी लाभार्थियों को इस ऐप के जरिए पता करना आसान होगा कि उनके आसपास PDS के तहत संचालित राशन की कितनी दुकानें हैं और कौन सी दुकान उनके सबसे ज्यादा करीब है।

Aadhaar-Ration Card Linking

uidai.gov.in पर जाएं।

'Start Now' के ऑप्शन पर क्लिक करें।

आपको यहां पर अपना एड्रेस भरना होगा।

यहां पर 'Ration Card Benefit' के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।

आधार कार्ड नंबर, राशन कार्ड नंबर, ई-मेल एड्रेस और मोबाइल नंबर आदि भरना होगा।

अब आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक OTP आएगा।

OTP भरते ही आपकी स्क्रीन पर प्रोसेस कम्पलीट होने का मैसेज दिखाई देने पड़ेगा।

आधार वेरीफाई होने के बाद आपके राशन कार्ड से लिंक हो जाएगा।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">