कारोबार

कारोबार (494)


नई दिल्ली - मारुति सुजुकी इंडिया ने डीलरों और उपभोक्ताओं को कर्ज उपलब्ध कराने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा से करार किया है। कंपनी ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि उसने बैंक ऑफ बड़ौदा के साथ हाथ मिलाया है जिसके तहत बैंक उसका तरजीही वित्तपोषक बन जाएगा।
कंपनी ने कहा कि इस भगीदारी से डीलरों के साथ ही उपभोक्ताओं को अधिक अनुकूल वित्तीय विकल्प मुहैया कराने की सहूलियत मिलेगी। बयान के अनुसार, डीलरों को बैंक ऑफ बड़ौदा के श्रृंखला वित्तपोषण के मौजूदा कार्यक्रम के तहत कर्ज दिया जाएगा। कंपनी के कार्यकारी निदेशक (मार्केटिंग एवं बिक्री) शशांक श्रीवास्तव ने कहा, 'हमें इस बात का भरोसा है कि देश के सबसे बड़े सरकारी बैंकों में से एक के साथ इस भागीदारी से हमारे उपभोक्ताओं और डीलरों को आधुनिक बैंकिंग एवं वित्तीय समाधान उपलब्ध होगा।'
बैंक ऑफ बड़ौदा के एमडी और सीईओ पी एस जयकुमार ने कहा, 'ऑटो लोन/कमर्शियल फाइनेंस सेगमेंट में उपलब्ध बड़ी संभावनाओं को देखते हुए, हमें उम्मीद है कि यह समझौता इन सेगमेंट में हमारी उपस्थिति को मजबूत करेगा और भारत में मारुति सुजुकी के लिए बाजार में ज्यादा संभावना होगी।'


नई दिल्ली - अमेरिकन करियर यूनाइटेड एयरलाइंस ने मुंबई से न्यूयॉर्क / नेवार्क के लिए अपनी फ्लाइट सर्विस को सस्‍पेंड किया है और यह कदम अमेरिका के साथ ईरान की तनातनी के कारण उठाया गया है। इस बात की जानकारी एयरलाइंस के अधिकारियों ने शुक्रवार को दी। उन्होंने कहा कि ईरान के एयर स्पेस का उपयोग करने वाली फ्लाइट को सेफ्टी और सिक्योरिटी के कारण शुक्रवार से सस्पेंड किया जा रहा है।
शुक्रवार को एयरलाइन ने एक बयान में कहा कि ईरान में वर्तमान घटनाओं को देखते हुए यूनाइटेड ने ईरान के एयर स्पेस के जरिए हमारी भारत सर्विस की सेफ्टी और सिक्योरिटी को रिव्यू किया है और आज शाम को न्यूयॉर्क और भारत (मुंबई) के बीच हमारी सर्विस को सस्पेंड करने का फैसला किया है। यह स्टेटमेंट उसके कुछ घंटे बाद आया जब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने वेस्ट एशिया के देश द्वारा गुरुवार को एक अमेरिकी ड्रोन को मार गिराने के बाद ईरान पर हमले शुरू करने के लिए सेना को शुरुआती मंजूरी दी।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, ट्रंप ने बाद में ईरान के खिलाफ हमला बोला। यूनाइटेड स्टेटमेंट में कहा गया है कि इन फ्लाइट को बुक करने वाले यात्रियों को यूनाइटेड एयरलाइंस की अन्य सर्विस में फिर से बुक करना होगा। यूएस कैरियर ने कहा कि न्यूयॉर्क/नेवार्क मुंबई की फ्लाइट यूए48 को कैंसल कर दिया गया है, जबकि यूए9239 (मुम्बई-न्यूयॉर्क/नेवार्क) पर फ्लाइट में जाने वाले ग्राहकों को यूएस के लिए अन्य फ्लाइट से वापस भेजा जाएगा।
स्टेटमेंट में आगे कहा गया है कि हम इस अपडेट को ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए उनसे संपर्क कर रहे हैं और उन लोगों की मदद कर रहे हैं, जिन्हें दोबारा बुकिंग की जरूरत हो सकती है। स्टेटमेंट में आगे कहा गया कि इन फ्लाइट में यात्रा करने वाले ग्राहकों को हमारे सामान्य फ्लाइट रूट में बदलाव के कारण लंबे समय की फ्लाइट से थोड़ी दिक्कत हो सकती है। एयरलाइन ने कहा कि हम अपने सभी ऑप्शन का पता लगा रहे हैं और इससे जुड़े सरकारी अधिकारियों के साथ संपर्क में हैं।


नई दिल्ली - हर वित्त वर्ष में पेश होने वाला बजट से लोगों को खासा उम्मीदें रहती हैं। बजट सिर्फ योजनाओं की सौगात और लोगों को राहत देने के लिए ही नहीं बल्कि यह पेश करने वाले वित्त मंत्रियों के कारण भी चर्चा में आता है। मोरारजी देसाई एक ऐसा ही नाम है जिन्होंने वित्त मंत्री रहते हुए सबसे ज्यादा बार बजट पेश किए, इसके अलावा भी उनके नाम बजट से जुड़े कई दिलचस्प रिकॉर्ड दर्ज हैं। उल्लेखनीय है कि 5 जुलाई 2019 को पूर्ण बजट पेश किया जाना है जिसे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण पेश करेंगी। हाल ही में इन्हें वित्त मंत्री बनाया गया है।
मोरारजी देसाई के नाम ये दो रिकॉर्ड: मोरारजी देसाई एकलौते ऐसे पूर्व प्रधानमंत्री थे जिन्होंने सबसे ज्यादा बार बजट पेश किया, साथ ही उन्हें दो बार अपने जन्मदिन पर बजट पेश करने का मौका मिला। आपको बता दें कि मोरारजी का जन्म 29 फरवरी को हुआ था।
पहला बजट नहीं था पूर्ण बजट: देश ने स्वतंत्रता मिलने के बाद तीन महीनों के भीतर बजट पेश कर दिया था, लेकिन यह देश का पहला पूर्ण बजट नहीं था। असल में यह अर्थव्यवस्था की समीक्षा थी। इस बजट में किसी कर का प्रस्ताव पेश नहीं किया गया था क्योंकि 1948-49 का बजट सिर्फ 95 दिन दूर था। पहले बजट के कुछ दिन बाद प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के साथ मनमुटाव के कारण शेट्टी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। शेट्टी के जाने के बाद के सी नियोगी ने 35 दिनों के लिए वित्त मंत्रालय की कमान संभाली।

 


नई दिल्ली - सेबी के पूर्व अध्यक्ष यूके सिन्हा की अध्यक्षता में जनवरी में बनाई गई एमएसएमई क्षेत्र की विशेषज्ञ समिति ने अपनी रिपोर्ट आरबीआइ के गवर्नर शक्तिकांत दास को सौंप दी है। आरतीय रिज़र्व बैंक ने यह जानकारी दी है। इस आठ सदस्यीय समिति की स्थापना सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के लिए फ्रेमवर्क की समीक्षा करने के लिए की गई थी।
समिति को इस क्षेत्र पर हाल के आर्थिक सुधारों के प्रभावों का अध्ययन करने और इस क्षेत्र की आर्थिक और वित्तीय स्थिरता के लिए दीर्घकालिक समाधान ढूंढने का सुझाव भी दिया गया था। साथ ही इस समिति को इस क्षेत्र की वृद्धि को प्रभावित करने वाली संरचनात्मक समस्याओं की पहचान करने के लिए भी कहा गया था।
रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया ने मंगलवार को दिये अपने एक बयान में कहा कि समिति ने विभिन्न हितधारकों के साथ विचार-विमर्श करके अपनी रिपोर्ट राज्यपाल को सौंप दी है। इस पैनल का एक उद्धेश्य एमएसएमई को मिलने वाले वित्त की पर्याप्त उपलब्धता और टाइमिंग को प्रभावित करने वाले कारकों की जांच करना भी था।
इस समिति के सद्स्यों में एमएसएमई के विकास आयुक्त राम मोहन मिश्रा, वित्तीय सेवाओं के विभाग में संयुक्त सचिव पंकज जैन, एसबीआई के प्रबंध निदेशक पीके गुप्ता, आईसीआईसीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक अनूप बागची, आईआईएम अहमदाबाद के प्रोफेसर अभिमान दास, इस्पिरिट फाउंडेशन के संस्थापक शरद शर्मा और द्वारा ट्रस्ट के चेयरपर्सन बिंदू अनंत शामिल हैं।

नई दिल्ली। सरकार के स्वामित्व वाले कर्जदाता यूको बैंक ने यशोवर्धन बिरला को बिरला सूर्या लिमिटेड को दिए गए 67.55 करोड़ रुपये के कर्ज को वापस न करने पर विलफुल डिफॉल्टर घोषित किया है। यूको बैंक की तरफ से भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया समेत कंसोर्टियम के हिस्से के रूप में कर्ज दिया गया था। बैंक की तरफ से अपनी वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार, डिफॉल्टर से राशि वसूलने के लिए बैंक ने मुकदमा दायर किया है।मुंबई के नरीमन पॉइंट की यूको बैंक की कॉर्पोरेट ब्रांच से एक सार्वजनिक सूचना के अनुसार, मल्टी-क्रिस्टलीय सौर फोटोवोल्टिक सेल्स बनाने के लिए बिरला सूर्या लिमिटेड को फंड-बेस्ड सुविधाओं के लिए 100 करोड़ रुपये की क्रेडिट लिमिट सेंक्शन की गई थी। बैंक को पैसा नहीं चुकाने के कारण 3 जून, 2013 को अकाउंट को नॉन-परफार्मिंग एसेट (NPA) घोषित किया गया था। कर्ज लेने वाले ने कई नोटिसों के बावजूद बैंक को पैसा नहीं चुकाया।नोटिस के अनुसार, बैंक की तरफ से कर्ज लेने वाली कंपनी और उसके डायरेक्टर्स, प्रमोटर्स, गारंटर्स को विलफुल डिफॉल्टर्स घोषित किया गया है और सार्वजनिक सूचना के लिए उनके नाम की जानकारी क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनियों को दे दी गई है। आरबीआई की गाइडलाइन्स के अनुसार, एक बार विलफुल डिफॉल्टर घोषित किए जाने के बाद कर्ज लेने वाले को बैंकों या वित्तीय संस्थानों की तरफ से कोई भी अन्य सुविधा नहीं मिलती है और उसको 5 साल के लिए नए वेंचर्स को शुरू करने से रोक दिया जाता है। इसी के साथ कर्जदाता कर्ज लेने वाली कंपनी और उसके डायरेक्टर्स के खिलाफ क्रिमिनल कार्यवाही शुरू कर सकते हैं।कोलकाता बेस्ड कर्जदाता ने 665 विलफुल डिफॉल्टरों की एक लिस्ट जारी की है, जिसमें यह बताया है कि उन्हें कितना बकाया चुकाना है। बैंक की तरफ से जारी अन्य मुख्य विलफुल डिफॉल्टर्स में जूम डेवलपर्स 309.50 करोड़ रुपये के बकाया कर्ज के साथ, फर्स्ट लीजिंग कंपनी 142.94 करोड़ रुपये के बकाया कर्ज के साथ, मोजर बेयर इंडिया 22.15 करोड़ रुपये के बकाया कर्ज के साथ और सूर्या विनायक इंडस्ट्रीज एनपीए के साथ 107.81 करोड़ रुपये के एनपीए के साथ शामिल हैं।

नई दिल्ली। रिलायंस कैपिटल ने रिलायंस निप्पॉन लाइफ एसेट मैनेजमेंट लिमिटेड (RNAM) की 10.75 फीसदी हिस्सेदारी को बेच दिया है। कंपनी ने RNAM की इस 10.75 फीसदी हिस्सेदारी को 1,450 करोड़ रुपयों में बेचा है। रिलायंस कैपिटल द्वारा आज सोमवार को यह जानकारी दी गई है।कंपनी ने अपने बयान में कहा कि दो सफल प्रस्तावों में, रिलायंस कैपिटल ने अपनी आरएनएएम में 10.75 फीसदी हिस्सेदारी को बेच दिया, जो 1,450 करोड़ रुपये से अधिक की है और अभी आरएनएम में न्यूनतम सार्वजनिक हिस्सेदारी 25 फीसदी है।बताया गया है कि पूरे आरएनएएम की हिस्सेदारी का विमुद्रीकरण 6000 करोड़ रुपये का है जिसे बिक्री के लिए प्रस्तावित करने और जापान की निप्पॉन लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के साथ पहले से घोषित लेनदेन से प्राप्त किया जाएगा। इसका उपयोग रिलायंस कैपिटल के कर्ज को कम करने के लिए किया जाएगा।इस तरह रिलायंस कैपिटल को उपरोक्त तरीके से व वर्तमान में चल रही अन्य परिसंप्त्तियों के विमुद्रीकरण सौदों के आधार पर, चालू वित्त वर्ष में अपने कर्जे को कम से कम 12,000 करोड़ या 70 फीसदी तक कम करने की उम्मीद है।

नई दिल्ली। सोमवार 17 जून को देश में पेट्रोल-डीजल के दाम काफी कम हैं। देश की राजधानी समेत सभी महानगरों में पेट्रोल लगातार कई दिनों से काफी सस्ता हुआ है, जिसके चलते लोगों को बहुत राहत मिली है। आज हम आपको यह बता रहे हैं कि आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम क्या हैं।देश में सरकारी तेल विपणन कंपनियां लगातार कई दिनों से पेट्रोल-डीजल के दामों को घटा रही हैं,…
नई दिल्ली। क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने वाले ग्राहक सिबिल स्कोर से परिचित हैं। चाहें क्रेडिट कार्ड के इस्तेमाल की बात हो या बैंक से लोन लेने की बात आए सिबिल स्कोर का बड़ा महत्व है। इसी के जरिए आपके लोन मिलने का रास्ता साफ होता है, साथ ही आपको कितना लोन मिलेगा यह भी तय होता है। कई बार लोग सिबिल स्कोर और सिबिल रिपोर्ट में कंफ्यूज रहते हैं। हालांकि…
नई दिल्ली। वित्त वर्ष में टैक्स भरने के समय कई सारे वेतनभोगी कर्मचारी इस बात को लेकर दुविधा में रहते हैं कि टैक्स बचाने के लिए किन विकल्पों में निवेश किया जाए। टैक्स बचाने के लिए सोचने से पहले यह जानना जरूरी है कि आपको टैक्स स्लैब की जानकारी हो। हम ऐसी ही कुछ विकल्पों के बारे में बता रहे हैं जहां निवेश करके आप टैक्स की बचत कर सकते…
मौसम का प्रभाव सीधे आपकी त्वचा और बालों पर पड़ता है। अगर मौसम गर्मी का हो तो देखभाल और भी ज्यादा खास करनी होती है, क्योंकि पसीने, घमौरियों, चिपचिपाहट और लू की वजह से त्वचा की चमक खत्म होने लगती है। ऐसे में थोड़ी सी सावधानी और मेहनत आपके सौंदर्य की कमनीयता बनाए रख सकती है।सूर्य की अल्ट्रावॉयलेट किरणों के दुष्प्रभाव से उम्र से पूर्व ही चेहरे, गले तथा खुली…
Page 1 of 36

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें