दुर्गापुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के बर्द्धमान में रोड शो किया। नड्डा के बर्द्धमान शहर में वीरहाटा घड़ी टावर से कर्जन गेट तक रोड शो के दौरान लोगों की काफी भीड़ उमड़ी। तकरीबन 750 मीटर दूरी का रोड शो चार बजे शुरू हुआ। रोड के किनारे काफी संख्या में समर्थक तैनात थे व पूरा इलाका भाजपा के झंडा से पटा हुआ था। इस दौरान उनके साथ बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय भी मौजूद रहे। इससे पहले नड्डा ने बर्द्धमान के कटवा राधा गोविंद मंदिर में पूजा अर्चना की। जिसके बाद जगदानंदपुर गांव में सभा को संबोधित किया। यहां उन्होंने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो व मुख्यमंत्री पर हमला बोला। उन्होंने भारत माता की जय ध्वनि से सभा का संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि मुझे आज यहां आकर अत्यंत खुशी हो रही है। इस ऐतिहासिक भूमि पर जहां स्वामी विवेकानंद का कर्म भूमि के रूप में उनका लालन पालन हुआ। जहां गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर, सुभाष चंद्र बोस, अरविंद ने अपने कार्य से दिशा दी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी, जिन्होंने देश में नई चिंगारी के साथ एक देश, एक निशान, एक विधान के लिए बलिदान दिया। ऐसे कर्म भूमि को नमन करता हूंं।हेलीपैड से लेकर सभा स्थल तक लोगों ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया, जिस पर जेपी नड्डा ने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति बताती है कि ममता का जाना निश्चित है एवं भाजपा का आना तय है। पश्चिम बंगाल की जनता ने अपना मन बना लिया है, जनता भाजपा के स्वागत के लिए आतुर है। हमारा दायित्व है कि हम आगे बढ़कर सरकार बनाएं। ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि ममता दी किछु कोरे ना, वे कुछ करेंगी नहीं, यह बात हमें समझना चाहिए। यहां भाजपा की सरकार बने, इसके लिए हमें काम करना है। यहां कटमनी की संस्कृति चल रही है, चावल चोर, तिरपाल चोर, सिंडिकेट, कोयला का भ्रष्टाचार, बालू चोर का दबदबा है, दीदी ने क्या सरकार बना दिए। कोविड में हमलोगों ने राशन बांटा, यहां राशन चोरी हुआ, तृकां नेताओं के घर में अनाज का गोदाम मिला। उन्होंने तृकां (टीएमसी) का मतलब कटमनी, चावल चोर, तिरपाल चोर बताया। हाई कोर्ट ने सरकार को सीएजी से आडिट करवाने एवं रिपोर्ट देने को कहा तब वह चावल चोर, तिरपाल चोर को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट चली गईं। ममता जी ऐतो भय केनो, कि होये छे, हर बात में बोलती है होबे ना होबे ना, मई महीने में होबे, भजपा की सरकार आवे-आवे-आवे। बंगाल में ऐसा भ्रष्टाचार चल रहा है। चावल-तिरपाल चोरी के साथ-साथ ममता जी मोदी जी के योजनाओं के नाम की भी चोरी करती है।

मोहर बदलने से कुछ नहीं होगा, मोदी जी लोगों के दिल में:-भाजपा अध्यक्ष बर्द्धमान के कटवा की सभा में काफी आक्रामक दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि दीदी, केंद्र की योजनाओं का नाम बदल देती हैं। स्वच्छत भारत मिशन को निर्मल बांग्ला कर दिया, प्रधानमंत्री आवास योजना को बांग्ला बाड़ी योजना बना दी। मोहर बदलने से कुछ नहीं होता। मोदी जी का नाम कहां-कहां से हटाओगी, वे लोगों के दिलों में बसे है। मोदी जी ने बंगाल के विकास के लिए दिन रात एक किया। कोविड में ट्रेन भेजी, उसे दीदी ने कोविड केरियर की संज्ञा दी। उनका यह शब्द बंगाल के लोगों के प्रति प्रेम समर्पण को दिखाता है।

जल्द दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा ;-उन्होंने कहा कि तृकां सरकार ने केवल तोलाबाजी, तुष्टीकरण तानाशाही के लिए काम किया। भ्रष्टाचार ऐसा हुआ कि अंतिम संस्कार के लिए भी यहां कटमनी देना होता है। यहां सारदा से लेकर कई चिटफंड उदाहरण है। राजकुमार ने कैसे धन का उजार्जन किया है, यह ज्यादा चलने वाला नहीं है। जल्द ही दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा। बंगाल की जनता इस भ्रष्टाचार का जवाब देगी।

सौगंध लेते हैं, हमारी सरकार आएगी व किसानों को न्याय दिलाएंगे;-उन्होंने कहा कि आज मैंने कृषक सुरक्षा अभियान की शुरूआत की है। एक मुट्ठी चावल किसानों से दान लिया हूं, गांव में जाकर दान लेने वाला हूं। आज से लेकर 24 जनवरी तक 40 हजार ग्राम सभाओं में जाकर किसानों से हमलोग अन्न लेंगे व सौगंध खाएंगे कि हमारी सरकार आएगी तो किसानों को न्याय दिलाने का काम करेंगे। 24 से 31 जनवरी तक कृषक भोज का आयोजन होगा, जहां किसान के साथ बैठकर किसान पर अन्याय व अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाएंगे। 40 हजार ग्राम सभा में अपनी बात रखकर किसानों के साथ अगली सरकार बनाने का निश्चित करेंगे। जब से मोदी जी प्रधानमंत्री बने है, किसानों के लिए एवं कृषि के लिए 6 गुना बजट बढ़ा दिया है। यहां ममता एवं यूपीए सरकार का बजट वर्ष 2013-14 में 22 हजार करोड़ था, आज 1.34 हजार करोड़ का बजट मोदी जी ने दिया है। उसी तरह से एमएसपी की बात कहते थे, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश को मोदी जी ने लागू किया, एमएसपी को 50 फीसद बढ़ाया गया।बंगाल के बारे में बात करने पर दुख होता है, आज ममता जी ने पीएम को चिट्टी लिखी है कि हम किसान निधि में जुड़ना चाहते है। ममता जी हम किसान सुरक्षा अभियान शुरू कर चुके है तो आपकी चिट्ठी की जरूरत नहीं है। दो साल से हमलोग बोल रहे थे, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ किसानों को दे दें, बंगाल के 70 लाख परिवार इसे वंचित है, जिसमें 23 लाख लोगों ने केंद्र सरकार को अर्जी लगाकर बताया था, हम किसान सम्मान निधि से पंजीकृत होना चाहते है। अब ममता जी की जमीन खिसक गई तो उनको किसानों को याद आयी है। उन्होंने दोहा भी सुनवाया, अब पछतावत होत क्या, जब चिड़िया चुग गई खेत। दीदी, बंगाल के लोगों ने तय कर लिया है एवं भाजपा को लाना और आपका जाना है। उन्होंने कहा कि जो किसान बिल आया है, वह किसानों को आजादी देता है। किसान अपनी जमीन पर उपजने वाली चीज का खुद कांट्रेक्टर कर सकता है। देश के 22 राज्यों के किसान उसके साथ है, केवल पंजाब व हरियाणा के किसान भ्रम में आकर आंदोलन कर रहें है। लोगों से सवाल करते हुए उन्होंने कहा कि अगर बंगाल को बदलना है तो कृषक सुरक्षा अभियान ठीक से चलाना होगा, लोगों को जोड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बंगाल के लोग आयुष्मान योजना से भी वंचित हुए। ममता जी ने 4.67 लोगों को वंचित रखा है। भाजपा की सरकार बनेगी एवं 4.67 लाख लोगों को आयुष्मान भारत पहुंचाया जाएगा।

लोगों से करवाई नारेबाजी:-भाजपा अध्यक्ष ने कटवा की सभा में लोगों से नारेबाजी भी करवाई। उन्होंने एक नया नारा दिया मां दुर्गा, जय मां काली, शेष करो यह अत्याचारी। वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कृषक सुरक्षा अभियान का शपथ पाठ भी करवाया। केंद्र सरकर की ओर से शुरू हुई किसान रेलगाड़ी का भी जिक्र उन्होंने किया।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें