Editor

Editor

जम्मू।दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग जिला के रानीपोरा इलाके के क्वारीगाम में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई है। सुरक्षाबलों को दो आतंकियों को ढेर करने में सफलता मिली है। दोनों ओर से अभी भी फायरिंग जारी है। अन्य विवरण प्रतीक्षारत हैं।जानकारी के अनुसार, आज यानि शनिवार को अनंतनाग जिला के क्वारीगाम इलाके में सुरक्षाबलों को आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली। इसके उपरांत सुरक्षाबलों ने पुलिस, सेना की 19 राट्रीय राइफल और सीआरपीएफ के साथ एक संयुक्त तलाशी अभियान चलाया। इसी दौरान एक जगह पर छिपे आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग करना शुरू कर दी। ऐसे में सुरक्षाबलों ने सबसे पहले आतंकियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा लेकिन आतंकियों ने इसे अनसुना कर फायरिंग जारी रखी। इसके उपरांत सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की और इसमें दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया। फिलहाल अभी भी क्षेत्र में तलाशी अभियान जारी है।

देहरादून: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने नई दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से शिष्टाचार भेंट की। उन्‍होंने उत्‍तराखंड से संबंधित विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा भी की। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से अनुरोध किया कि राज्य में समय-समय पर आयोजित होने वाले विश्व प्रसिद्ध मेलों, पर्वों पर तैनात होने वाले केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती, व्यवस्थापन पर होने वाले व्यय को पूर्वोत्तर राज्यों / विशेष श्रेणी के राज्य की भांति (केंद्रांश : राज्यांश ) 90 : 10 के अनुपात में भुगतान की व्यवस्था निर्धारित की जाए।मुख्यमंत्री ने राज्य के सीमित आर्थिक संसाधनों को देखते हुए समय-समय पर तैनात केंद्रीय सुरक्षा बलों की तैनाती के फलस्वरूप लंबित देय धनराशि 47.29 करोड़ रुपये को अद्यतन विलंब शुल्क सहित छूट प्रदान करने का भी अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड से नेपाल व चीन की सीमा लगी है, जहां स्थित गांव दुर्गम भौगोलिक परिस्थिति, आर्थिक अवसरों की कमी के कारण वीरान हो रहे हैं। इन क्षेत्रों में इनर लाइन प्रतिबंध हटाए जाने से पर्यटन के अपार अवसर खुलेंगे तथा क्षेत्र में आर्थिक गतिविधियां बढ़ने से वहां से पलायन रुकेगा। इससे संवेदनशील क्षेत्रों में बेहतर सीमा प्रबंधन में भी सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से चमोली जिले के नीति घाटी और उत्तरकाशी के नेलोंग घाटी ( जाडूंग गांव) को इनर लाइन प्रतिबन्ध से हटाए जाने के प्रस्ताव पर विचार करने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत राज्य सरकार की तैयारियों, चार धाम यात्रा, कांवड़ यात्रा पर भी विचार विमर्श किया।मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड के प्राकृतिक आपदा की अत्यधिक संवेदनशीलता के दृष्टिगत विभिन्न महत्वपूर्ण बिन्दु राज्य सरकार द्वारा केंद्र सरकार को संदर्भित किए गए हैं। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृह मंत्री से राज्य के लिए दो एयर एंबुलेंस,  ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण में आपदा प्रबंधन शोध संस्थान की स्थापना, आपदा प्रभावित गांवों का विस्थापन एसडीआरएफ निधि के तहत अनुमन्य किए जाने के साथ ही आपदा में लापता व्यक्तियों को मृत घोषित किए जाने के लिए स्थायी व्यवस्था स्थापित करने का भी अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने राज्य आपदा जोखिम प्रबन्धन कोष घटकों के लिए दिशा-निर्देश तैयार करते समय विशेष रूप से पर्वतीय राज्यों की वस्तुस्थिति पर ध्यान दिए जाने का भी आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में राज्य आपदा मोचन निधि के अन्तर्गत केन्द्रांश की द्वितीय किस्त अवमुक्त किए जाने का भी अनुरोध किया। इस मौके पर मुख्य सचिव डॉ एसएस संधु, अपर मुख्य सचिव आनंद बर्द्धन, सचिव शैलेश बगोली आदि मौजूद रहे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गांव तथा जिला की सरकार के बाद अब ब्लाक की सरकार का भी गठन हो रहा है। सत्तारूढ भारतीय जनता पार्टी को ब्लाक प्रमुख चुनाव में बम्पर जीत मिली है। शहर की पार्टी मानी जाने वाली भारतीय जनता पार्टी ने अब गांवों में भी अपना दबदबा कायम कर लिया है। भाजपा ने 476 ब्लाक के लिए आज सम्पन्न मतदान मे जोरदार प्रदर्शन किया है। पश्चिमी से लेकर पूर्वी तथा मध्य उत्तर प्रदेश के साथ बृज क्षेत्र और बुंदेलखंड में भी भाजपा ने ब्लाक प्रमुख चुनाव में अपना परचम लहरा दिया। भाजपा ने ब्लाक प्रमुख के कुल 825 पद में से निर्विरोध निर्वाचित 349 में 334 पद पर पहले ही कब्जा किया है और आज मतदान के बाद भी बाजी अपने हाथ में कर ली है।

लखनऊ की आठ में से सात सीट पर भाजपा जीती, समाजवादी पार्टी साफ:-भारतीय जनता पार्टी में लखनऊ की आठ ब्लाक प्रमुख सीट पर आज हुए मतदान में सात पर जीत दर्ज की है। लखनऊ में भाजपा ने चिनहट को छोड़कर अन्य सात ब्लाक प्रमुख सीट पर जीत दर्ज की है। चिनहट में निर्दलीय उम्मीदवार ऊषा यादव ने बाजी मारी। बाकी सात सीट पर भाजपा का परचम लहराया है। लखनऊ मे पहली बार समाजवादी पार्टी का खाता नहीं खुला है। समाजवादी पार्टी के पास आठ में से छह सीट थी। समाजवादी पार्टी पहली बार आठ में से एक भी सीट नही जीत सकी।

जौनपुर में 15 पर भाजपा, चार पर निर्दलीय व दो पर सपा प्रत्याशी जीते;-जौनपुर में 21 ब्लाकों के प्रमुख पद के चुनाव का परिणाम घोषित कर दिया गया। इसमें 15 ब्लाकों में भाजपा समर्थित प्रत्याशियों ने कब्जा जमाया तो दो पर सपा समर्थित ने जीत दर्ज की। वहीं चार ब्लाकों पर निर्दल का कब्जा हुआ। कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न हुआ।

हरदोई में नौ में से पांच पर भाजपा, तीन निर्दलीय तथा एक सपा ने जीती:-हरदोई में शनिवार को ब्लाक प्रमुख पद के लिए मतदान और मतगणना के बाद आए परिणाम में नौ ब्लाकों में से पांच पर भाजपा, तीन पर निर्दलीय तथा एक पर सपा ने जीत दर्ज की। एक निर्दलीय को पूर्व मंत्री अब्दुल मन्नान जीत दिलाई। सुरसा में सपा और हरपालपुर में भाजपा जमानत नहीं बचा पाई। संडीला में भाजपा की आरती जीतीं। बेहंदर में पूर्व मंत्री अब्दुल मन्नान समॢथत लक्ष्मी देवी ने जीत दर्ज की। बिलग्राम में भाजपा प्रत्याशी सतेंद्र कुमार सिंह उर्फ मुन्ना सिंह जीते। सुरसा में भाजपा के विजय पाल जीते। भरावन में निर्दलीय विनोद सिंह तोमर ने जीत दर्ज की। पिहानी में निर्दलीय कुशी बाजपेई ने जीत दर्ज की। माधौगंज में भाजपा की लौंग श्री जीती। सांडी में भाजपा के अनिल कुमार सिंह जीते। हरपालपुर में सपा के अनोखेलाल ने जीत दर्ज की।

गोंडा में 15 में से 14 पर भाजपा जीती, एक पर सपा ने बाजी मारी;-गोंडा जिले में ब्लाक प्रमुख की 16 सीट में से 15 पर मतदान हुआ। जिसमें भाजपा ने 14 में जीत दर्ज की, जबकि समाजवादी पार्टी भी एक सीट के साथ खाता खोलने में सफल रही।गोंडा के झंझरी से भाजपा की रेखा मिश्रा, पंडरीकृपाल से प्रियंका गौतम, इटियाथोक से पूनम द्विवेदी, कर्नलगंज से तिलका देवी, परसपुर से प्रियंका सिंह, हलधरमऊ से रिचा सिंह, कटराबाजार से जुगरानी शुक्ला, मनकापुर से जगदेव चौधरी, छपिया से अनिल कुमार पासवान, बभनजोत से मधुलिका पटेल, तरबगंज से मनोज कुमार पांडेय, बेलसर से राजेंद्र प्रताप सिंह, नवाबगंज से अरुंधति सिंह तथा वजीरगंज से अनीता यादव ने जीत दर्ज की। यहां से समाजवादी पार्टी की बबिता सिंह ने रुपईडीह से बाजी मारी।

बागपत में फर्जी महिला वोटर गिरफ्तार, भेजी गई लॉकअप:-बागपत में शनिवार को ब्लाक प्रमुख के चुनाव के लिए फर्जी वोटर बनी महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है। यहां के पिलाना ब्लॉक में फर्जी अफसाना बनकर वोट डालने गई महिला को पुलिस ने अपनी हिरासत में लेकर लॉकअप मे भेज दिया है।लोनी निवासी नगमा खातून यहां पर अफसाना बनकर वोट डालने जा रही थी। अफसाना पहले ही वोट डाल चुकीं थी, इसी कारण नगमा खातून चुनाव अधिकारी की गिरफ्त में आ गई।

इटावा के बढ़पुरा ब्लाक में मतदान केंद्र के बाहर अफसरों के सामने फायरिंग:-इटावा में ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान बढ़पुरा ब्लाक परिसर के बाहर हवाई फायरिंग की गई। यहां पर भाजपा समर्थकों ने सपा समर्थकों पर बीडीसी को धमकाने के आरोप लगाए हैं। मौके पर पहुंचे एएसपी सिटी प्रशांत कुमार ने भाजपा समर्थकों को समझाने का प्रयास किया तो उनके साथ भी धक्का-मुक्की व खींचा तानी की गई। उनके एक व्यक्ति ने थप्पड़ मार दिया। जिससे जमीन पर गिर पड़े। बाद में अतिरिक्त पुलिस बल के आ जाने के बाद सभी को पीछे खदेड़ दिया गया। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े।इस ब्लाक में सपा प्रत्याशी आनंद यादव टंटी व भाजपा प्रत्याशी गणेश राजपूत के बीच मुकाबला है। यह मुकाबला दोनों ही दलों के लिए शुरू से ही प्रतिष्ठापूर्ण बना हुआ है। दोपहर एक बजे तक वोटिंग ठीक चल रही थी। उसके बाद मतदान केंद्र से 200 मीटर की दूरी के बाद खड़े भाजपा समर्थकों ने सपा समर्थकों पर उनके वोटर को धमकाने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। जब उन्हें समझाने एएसपी सिटी पहुंचे तो पीछे से कुछ समर्थकों ने फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस बल की मौजूदगी में एएसपी सिटी उन लोगों को पीछे खदेड़ने में कामयाब हो गए। सूचना मिलने पर जिलाधिकारी श्रुति सिंह व एसएसपी डा. बृजेश कुमार सिंह मौके पर पहुंचे तो उनके सामने ही भीड़ में पीछे से किसी से फिर दो-तीन राउंड फायर किए। डीएम, एसएसपी द्वारा बड़ी संख्या में पुलिसबल को लेकर भीड़ को पीछे खदेड़ा गया है। यहां पर पुलिसजनों की सदर विधायक सरिता भदौरिया व भाजपा जिलाध्यक्ष अजय प्रताप धाकरे से बहस भी हुई। सरिता भदौरिया का आरोप था कि सपा के लोगों ने उनके सदस्यों को धमकाया है। 

कानपुर देहात में दो प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच फायरिंग, वाहनों में तोड़फोड़:-कानपुर देहात के सरवनखेड़ा ब्लाक में निर्दलीय प्रत्याशियों के समर्थक आमने-सामने आ गए। कई राउंड फायरिंग के बाद वाहनों में तोड़फोड़ की गई। पुलिस बल जुटा तो सभी भाग निकले। एक प्रत्याशी कानपुर के भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी की भाभी हैं। सरवनखेड़ा ब्लाक में उर्वशी चंदेल व भाजपा विधायक महेश त्रिवेदी की भाभी निर्दलीय प्रत्याशी उपमा त्रिवेदी आमने सामने हैं। मतदान के समय दोपहर में उर्वशी पक्ष के लोगों ने उपमा के समर्थकों पर मतदान केंद्र तक जाने के दौरान धमकाने व रूकावट का आरोप लगाया। काफी देर गहमागहमी के बाद दोनों तरफ से लोग एकजुट हो गए और फायरिंग शुरू हो गई। एक दूसरे के वाहनों को भी डंडा व ईंट मारकर तोड़ दिया गया। पुलिस बल ने लाठी लेकर खदेड़ा तो सभी भाग निकले। किसी के अभी तक घायल होने की जानकारी नहीं है। डीएम जेपी सिंह व एसपी केशव कुमार चौधरी भी पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया।

प्रतापगढ़ में पुलिस को करनी पड़ी हवाई फायरिंग:-प्रतापगढ़ के आसपुर देवसरा ब्लाक में पुलिस को बवाल करने वालों को काबू में लेने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। यहां के आसपुर देवसरा ब्लॉक में चल रहे मतदान के दौरान लगभग एक बजे पुलिस ने एक पक्ष से जुटी भीड़ को तितर-बितर करने के लिए दौड़ाया तो लोग ईट पत्थर चलाने लगे। पुलिस ने जवाब देने के लिए हवा में गोलियां चलाई। इससे सनसनी फैल गई। कुछ देर तक मामला शांत रहा उसके बाद पुन: मतदान शुरू हो गया। यहां एडीएम शत्रुघ्न वैश्य के साथ पुलिस व पीएसी के जवान मौके पर हैं। प्रयागराज में 21, प्रतापगढ़ में 11 और कौशांबी में सात ब्लाक प्रमुख चुनने के लिए बीडीसी सदस्य वोट डाल रहे हैं।

मुजफ्फरनगर और सहारनपुर में हंगामा, पुलिस से नोकझोंक:-ब्लाक प्रमुख चुनाव के लिए ब्लाक मुख्यालयों पर मतदान जारी है। मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना ब्लाक में मतदान के दौरान भाजपा विधायक के आने पर विपक्षियों ने हंगामा करते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। दोनों तरफ से समर्थक आमने-सामने आ गए। भारतीय किसान यूनियन के अध्यक्ष नरेश टिकैत भी पहुंच गए। पुलिस ने समझाकर स्थिति संभाली। नरेश टिकैत ने आरोप लगाया कि प्रशासन भाजपा के दबाव में काम कर रहा है। सहारनपुर में भाजपा प्रत्याशी के समर्थक बीडीसी सदस्यों को हेल्पर दिए जाने और विपक्ष के प्रत्याशी के सदस्यों को हेल्पर न दिए जाने को लेकर हंगामा हुआ। बागपत में रालोद कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोकझोंक हुई। मेरठ, बिजनौर, बुलंदशहर और शामली में शांतिपूर्ण मतदान चल रहा है।

हमीरपुर में मतदान को लेकर सपा-भाजपा कार्यकर्ताओं में मारपीट, पत्थर चले;-हमीरपुर के सुमेरपुर विकासखंड में ब्लाक प्रमुख पद के लिए हो रहे मतदान के दौरान सपा व भाजपा कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए। दोनों पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले। जिसमें दो वाहन क्षतिग्रस्त होने के साथ सपा प्रत्याशी समेत उनका बीडीसी भाई घायल हो गया। हालांकि मामले को शांत करा पुलिस ने प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान स्थल में प्रवेश कराया। जिले में ब्लाक प्रमुख पद को लेकर सुमेरपुर का चुनाव सबसे अधिक संवेदनशील है। यहां चुनाव को लेकर शुक्रवार रात से सरगर्मियां तेज हैं। जहां जालौन के एट थानाक्षेत्र स्थित एक महाविद्यालय में रुके सपा प्रत्याशी जयनारायन सिंह यादव के समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मारपीट की गई। साथ ही चार सदस्यों को भी मौके से उठा लिया गया।इसके बाद शेष सदस्यों व प्रत्याशी को थाने में बैठाए रखा गया। शनिवार सुबह सभी को वहां से छोड़ दिया गया। वहीं सुमेरपुर विकासखंड परिसर में मतदान शुरू होते ही सबसे पहले भाजपा समर्थित प्रत्याशी पूजा सिंह 11 बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को पहुंची। वहीं बाद में सपा समर्थित प्रत्याशी जयनरायन सिंह यादव अपने समर्थक बीडीसी सदस्यों के साथ मतदान को जा रहे थे। तभी हाईवे में श्री गायत्री विद्यामंदिर इंटर कॉलेज के पास मौजूद भाजपा समर्थकों से सपा समर्थकों की झड़प होने लगी। कुछ ही देर में दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चलने लगे। जिसमें सपा प्रत्याशी की स्कॉर्पियो व भाजपा समर्थक की कार क्षतिग्रस्त हो गई। इसके अलावा सपा प्रत्याशी जयनरायन व उनके बीडीसी भाई राजनारायन के भी चोटें आई। वहीं पुलिस मामले को शांत कराने में जुटी रही। बाद में समझाने के बाद दोनों पक्ष शांत हो गए। सपा समर्थकों को जहां तपोभूमि के पास रोक दिया गया। वहीं भाजपा समर्थक गायत्री विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के सामने डटे रहे। इसके साथ ही सपा प्रत्याशी व उनके भाई को मतदान परिसर में प्रवेश कराया गया। हालांकि अभी भी माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है।ब्लाक प्रमुखों के चुनाव के मतदान के दौरान प्रदेश में अतिरिक्त सतर्कता के निर्देश दिए गए हैं। नामांकन के दौरान हुई हिंसा के बाद अब हर जगह पुलिस प्रशासन चौकन्ना है। जिलों में वरिष्ठ अधिकारियों को भी फील्ड में मुस्तैद रहने के निर्देश है। अतरिक्त पीएसी भी तैनात की गई है। आज मतगणना पूरी होने तक पुलिस के लिए शांति व्यवस्था बनाये रखने की अग्निपरीक्षा होगी। ब्लाक प्रमुख के चुनाव की नामांकन तथा नाम पवासी प्रक्रिया के दौरान उत्तर प्रदेश में हिंसा, फायरिंग और पथराव के बीच में अब मतदान की बारी है। सूबे के हर ब्लाक में शनिवार को भारी सुरक्षा के बीच क्षेत्र पंचायत सदस्य ब्लाक प्रमुख चुनने के लिए मतदान करेंगे। बीते दिनों सपा व भाजपा समर्थकों की झड़प के बाद आज पीएसी की अतिरिक्त फोर्स भी हर ब्लाक में तैनात की गई है। हर ब्लाक पर सुरक्षा की जिम्मेदारी सीओ को सौंपी गई है।प्रमुखों क्षेत्र पंचायत (ब्लाक प्रमुख) के 825 पदों में से शुक्रवार को नामांकन वापसी के बाद 349 प्रमुखों क्षेत्र पंचायत निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिए गए। इनमें से 334 से ज्यादा भाजपा के हैं। अब 476 पदों के लिए आज मतदान होगा। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि 825 प्रमुखों क्षेत्र पंचायत पदों के लिए कुल 1778 नामांकन गुरुवार को किए गए थे। जांच में कमियां मिलने पर 68 नामांकन रद कर दिए गए। इसी बीच 187 उम्मीदवारों ने अपना नामांकन वापस ले लिया। नाम वापसी के बाद जिन 349 पदों पर एक ही प्रत्याशी रह गया वहां संबंधित प्रत्याशी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया गया।

निर्विरोध निर्वाचित प्रमुखों में 334 से ज्यादा भाजपा के;-भाजपा के प्रदेश महामंंत्री जेपीएस राठौर ने बताया कि निर्विरोध निर्वाचित ब्लाक प्रमुखों में 334 से ज्यादा भाजपा के हैं। पार्टी की ओर से पंचायत चुनाव का दायित्व संभाल रहे राठौर के मुताबिक जिला पंचायत अध्यक्ष की तरह प्रमुखों क्षेत्र पंचायत के पदों पर भी भाजपा का शानदार प्रर्दशन रहेगा। जिन पदों के लिए शनिवार को मतदान है, उनमें से भी ज्यादातर पर भाजपा ही जीत हासिल करेगी। 

नई दिल्‍ली/मॉस्‍को। भारतीय विदेश मंत्री एस जयशंकर तीन दिनों की रूस की यात्रा पर थे। भारतीय विदेश मंत्री का यह दौरा भारत-रूस साझेदारी से इतर दोनों देशों के बीच सामरिक साझेदारी को और मजबूत करने का एक अवसर भी है। खास बात यह है कि विदेश मंत्री का यह दौरा ऐसे समय हो रहा है, जब भारत और चीन के रिश्‍ते काफी तल्‍ख है। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन के बीच सैन्‍य तनाव बना हुआ है। यह बात तब और अहम हो जाती है, जब चीन और रूस के बीच संबंध बेहद मधुर है। दूसरे, पाकिस्‍तान से भी अब रूस के संबंध पूर्व की तरह नहीं हैं। रूस और पाकिस्‍तान की निकटता बढ़ रही है। दोनों देशों के बीच सामरिक रिश्‍ते मजबूत हो रहे हैं। यह भारत के लिए चिंता का विषय है।

रूस के साथ नए संबंधों की तलाश में भारत

कंधार: अफगानिस्तान में शुक्रवार को सेना द्वारा की गई कार्रवाई में करीब 109 तालिबानी आतंकी मारे गए, जबकी 25 के घायल होने की खबर है। बताया जा रहा है कि, देश के दक्षिणी प्रांतों में सेना ने तालिबान की बढ़ती गतिविधियों के जवाब में ये कार्रवाई की है।

कंधार में 70 आतंकी ढेर:-सेना की 205वीं अटल कोर्प्स ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि, कंधार प्रांत में अफगान वायु सेना (एएएफ) द्वारा समर्थित अफगान राष्ट्रीय रक्षा सुरक्षा बलों (एएनडीएसएफ) ने कंधार शहर के पुलिस डिस्ट्रिक्ट 7 और पड़ोसी जिले डांड में एक अभियान के दौरान 70 तालिबान आतंकवादी मारे गए और 8 अन्य घायल हैं। इससे पहले शुक्रवार की सुबह तालिबान ने एएनडीएसएफ की चौकियों पर हमला करते हुए कंधार शहर में घुसपैठ की कोशिश की, जिस के दिन भर मुठभेड़ जारी रही।

39 आतंकी मारे गए:-साथ ही, सेना की 215वीं माईवंड कोर के मुताबिक हेलमंद जिले में, एएएफ द्वारा समर्थित एएनडीएसएफ द्वारा प्रांतीय राजधानी लश्कर गाह शहर के बाहरी इलाके काला-ए-बुलन में तालिबान के एक समूह को निशाना बनाने के बाद 39 तालिबान आतंकवादी मारे गए और 17 के घायल होने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक मारे गए लोगों में आतंकवादियों के दो स्थानीय प्रमुख नेता तजागुल और नेहमॉन भी शामिल हैं। 

हथियारों का जखीरा नष्ट:-सेना ने कार्रवाई के दौरान दोनों प्रांतों में भारी मात्रा में आतंकवादियों के हथियार और गोला-बारूद भी नष्ट किए हैं। सुरक्षा बलों की ओर से घायलों की संख्या के बारे में अभी खुलासा नहीं किया गया है। साथ ही सेना द्वारा की गई कार्रवाई को लेकर तालिबान की कोई टिप्पणी सामने नहीं आई है। गौरतलब है कि, अमेरिका और नाटो सैनिक देश छोड़ रहे हैं, जिसके बाद देश में हिंसा बढ़ रही है। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अफगान के सुरक्षा बलों ने आतंकियों पर दबाव बनाना जारी रखा।

इस्लामाबाद। पाक की काउंसिल आफ इस्लामिक आइडियोलाजी (सीआइआइ) ने शुक्रवार को घरेलू हिंसा बिल 2020 को रोक दिया है। काउंसिल ने कहा है कि इस विधेयक की समीक्षा करने की जरूरत है। समीक्षा के निष्कर्ष से सरकार को अवगत कराया जाएगा। यह बिल सीनेट में पास हो चुका है।इमरान सरकार ने इस बिल में कुछ प्रविधान इस्लाम की शिक्षा के खिलाफ मानने के बाद उसको काउंसिल के पास भेज दिया है। इस बिल के माध्यम से पाकिस्तान में हो रहे घरेलू हिंसा के मामलों में कुछ रोक लग सकती है। बिल का कट्टरपंथियों द्वारा विरोध किया जा रहा है।उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के मानवाधिकार संगठन ने पहले ही यह बता दिया है कि महिलाओं पर अत्याचार के मामले खतरनाक स्तर तक पहुंच गए हैं।

उत्तरी वजीरिस्तान में आदिवासी महिला की गोली मारकर हत्या:-उत्तरी वजीरिस्तान के मीरमशाह के निकट एक आदिवासी बुजुर्ग महिला की अज्ञात हमलावरों ने गोली मारकर हत्या कर दी। इस क्षेत्र में निशाना बनाकर हत्या करने का कुछ ही दिनों में यह दूसरा मामला है।

वाशिंगटन। पाकिस्तान में प्रेस की स्वतंत्रता के लिए खतरा पैदा करने वाले नए कानून पर चिंता जताते हुए पत्रकारों की सुरक्षा समिति (सीपीजे) ने पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर और विधानसभा अध्यक्ष परवेज इलाही से प्रस्तावित कानून में संशोधन करने को कहा है।रिपोर्ट के मुताबिक, 'पिछले महीने, पंजाब प्रांतीय विधानसभा ने पंजाब विशेषाधिकार (संशोधन) अधिनियम, 2021 की प्रांतीय विधानसभा को पारित किया। यह ऐसा विधेयक था जो स्पीकर को विधायी निकाय के कवरेज पर पत्रकारों को दंडित करने की क्षमता के साथ एक न्यायिक समिति बनाने का अधिकार देता है।'लोकल मीडिया के अनुसार, 'सीपीजे ने कहा कि यदि अधिनियमित किया जाता है, तो न्यायिक समिति के पास संक्षिप्त परीक्षण करने और पत्रकारों को छह महीने तक जेल की सजा देने और किसी भी विधानसभा सदस्य की शिकायत के आधार पर 10,000 रुपये (यूएसडी 63) तक का जुर्माना लगाने की शक्ति होगी।'

वाशिंगटन। पाकिस्तान में प्रेस की स्वतंत्रता के लिए खतरा पैदा करने वाले नए कानून पर चिंता जताते हुए पत्रकारों की सुरक्षा समिति (सीपीजे) ने पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर और विधानसभा अध्यक्ष परवेज इलाही से प्रस्तावित कानून में संशोधन करने को कहा है।रिपोर्ट के मुताबिक, 'पिछले महीने, पंजाब प्रांतीय विधानसभा ने पंजाब विशेषाधिकार (संशोधन) अधिनियम, 2021 की प्रांतीय विधानसभा को पारित किया। यह ऐसा विधेयक था जो स्पीकर को विधायी निकाय के कवरेज पर पत्रकारों को दंडित करने की क्षमता के साथ एक न्यायिक समिति बनाने का अधिकार देता है।'लोकल मीडिया के अनुसार, 'सीपीजे ने कहा कि यदि अधिनियमित किया जाता है, तो न्यायिक समिति के पास संक्षिप्त परीक्षण करने और पत्रकारों को छह महीने तक जेल की सजा देने और किसी भी विधानसभा सदस्य की शिकायत के आधार पर 10,000 रुपये (यूएसडी 63) तक का जुर्माना लगाने की शक्ति होगी।'

नई दिल्ली।  विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization, WHO)  जल्द ही भारत बायोटेक की कोविड-19 वैक्सीन कोवैक्सीन (Covaxin) के लिए आपातकालीन मंजूरी पर अहम फैसला लेने वाला है। संगठन की प्रमुख वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन (Soumya Swaminathan) ने बताया कि कोवैक्सीन के इस्तेमाल के लिए मंजूरी आगामी 4-6 हफ्तों में दे दी जाएगी।CSE द्वारा शुक्रवार को आयोजित वेबिनार में स्वामीनाथन ने कहा कि भारत बायोटक अब पोर्टल पर वैक्सीन का पूरा डाटा अपलोड कर रहा है जिसकी जांच कर WHO कोवैक्सीन की समीक्षा कर रहा है। WHO के दिशानिर्देशों के अनुसार, EUL प्रक्रिया के तहत नए या बगैर लाइसेंस के उत्पादों के इस्तेमाल की मंजूरी दी जाती है ताकि स्वास्थ्य को लेकर उत्पन्न आपातकालीन परिस्थितियों में इसका उपयोग किया जा सकेस्वामीनाथन ने बताया,' EUL के लिए एक प्रक्रिया से गुजरना होता है और वैक्सीन की मंजूरी प्राप्त करने के लिए कंपनी को तीन चरणों के ट्रायल का डाटा पेश करना होता है जिसकी जांच WHO के अंतर्गत विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है और तब मंजूरी दी जाती है।' फिलहाल WHO की ओर से कोरोना वैक्सीन फाइजर/बायोएनटेक, एस्ट्राजेनेका-एसके बायो/सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, एस्ट्राजेनेका इयू, जानस्सेन, मॉडर्ना और सिनोफार्म को आपातकाल इस्तेमाल की मंजूरी दी गई है।WHO की वैज्ञानिक ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट काफी संक्रामक है। उन्होंने कहा, 'वैक्सीन की दो खुराक डेल्टा वैरिएंट से बचाव के लिए आवश्यक है लेकिन इसके बावजूद आप संक्रमित हो सकते हैं और इसे फैला सकते हैं। इसलिए मास्क व अन्य सावधानियों को जारी रखना होगा।' उन्होंने उन कंपनियों का भी जिक्र किया जो वैक्सीन की दो खुराक के बाद बूस्टर डोज की आवश्यकता पर जोर दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि अभी बूस्टर डोज की जरूरत नहीं है और इसकी आवश्यकता एक या दो साल के बाद होगी। वैक्सीनेशन अभियान को संतोषजनक बताते हुए उन्होंने कहा,' वैक्सीन लेने वालों में 8, 10 या 12 महीनों तक इम्यून रेस्पांस बरकरार देखा गया है।

जयपुर। भाजपा नेता राज्यवर्धन राठौर ने शनिवार को कहा कि वर्ष 2019-2020 में राजस्थान में महिलाओं के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध दर्ज किए गए। 2020 में महिलाओं के खिलाफ अपराधों में 50 फीसद की वृद्धि हुई। राज्य सरकार ने लोगों के प्रति अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ लिया है। वे केवल सत्ता में बने रहना चाहते हैं। इधर, राजस्थान के अलवर जिले में पांच दिन के भीतर सामूहिक दुष्कर्म की दो घटनाएं हुई हैं। दोनों घटनाओं में आरोपित एक वर्ग विशेष के लोग हैं। पहली घटना एमआइए पुलिस थाना इलाके में हुई। यहां 19 वर्षीय युवती के साथ सात लोगों ने दुष्कर्म किया और फिर बेहोशी की हालत में उसे अपनी गाड़ी से सड़क किनारे फेंक कर फरार हो गए।वहीं, दूसरी घटना में 16 वर्षीय नाबालिग के साथ चार युवकों ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने दोनों मामलों में पीड़िताओं का मेडिकल करवाया है। दोनों ही घटनाओं के आरोपित फिलहाल फरार हैं। उधर, भाजपा ने इन दोनों घटनाओं को मुद्दा बना लिया है। भाजपा ने 25 जुलाई को रामगढ़ में रैली करने की घोषणा की है। पूर्व विधायक ज्ञानदेव आहूजा के नेतृत्व में होने वाली इस रैली को भाजपा और विश्व हिंदू परिषद के नेता संबोधित करेंगे। आहूजा ने आरोप लगाया कि मेवात इलाके में हिंदुओं की लड़कियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं। पुलिस इन्हें रोकने में नाकाम साबित हो रही है।एमआइए पुलिस थाने में गुरुवार को 19 वर्षीय एक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ है। पुलिस के अनुसार, युवती तीन दिन पहले देर रात गाय को संभालने के लिए घर के बाहर निकली थी। उसके घर के पास गांव के ताहिर, सद्दाम और साजिद बैठकर शराब पी रहे थे। तीनों युवती को जबरन खींचकर एक घर में ले गए। युवती चिल्लाने लगी तो उसका मुंह दबा दिया। तीनों ने युवती के साथ बारी-बारी से दुष्कर्म किया। युवती के भाई द्वारा पुलिस में दर्ज करवाई गई। रिपोर्ट के अनुसार बाद में तीनों आरोपित उसे बोलेरो गाड़ी में जबरन डालकर पास के सांखला गांव ले गए। वहां उनके दोस्त वसीम, परवेज, अरबान और चतर ने दुष्कर्म किया। इस दौरान परिजन युवती को तलाशते रहे। दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपित युवती को घर से कुछ दूर सड़क पर फेंक कर फरार हो गए। गाड़ी से फेंकने के कारण युवती बेहोश हो गई। उसके शरीर में कई जगह चोट भी आई है। सुबह युवती को सड़क किनारे बेहोशी की हालत में देखकर ग्रामीणों ने उसके परिजनों को सूचना दी। मौके पर पहुंचकर परिजनों ने युवती को अस्पताल में भर्ती करवाया। जिला पुलिस अधीक्षक तेजस्वनी गौतम ने बताया कि मामला दर्ज कर जांच उप अधीक्षक ओमप्रकाश मीणा को सौंपी गई है। फरार आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिसकर्मियों की टीम गठित की गई है। उन्होंने बताया कि पुलिस के बयान दर्ज कर लिए गए हैं।रामगढ़ पुलिस थाने में शुक्रवार को 12 वर्षीय नाबालिग से गाड़ी में सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज हुआ है। इस मामले में चार आरोपित नामजद किए गए हैं। एक दिन पहले शाम के समय नाबालिग घर से कुछ दूर नल पर पानी लेने गई थी। इसी दौरान एक गाड़ी आई और उसके बैठे आरोपितों ने नाबालिग को जबरन अंदर खींच लिया। चारों आरोपितों ने चलती हुई गाड़ी में नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया। दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद आरोपित पीड़िता को किशनगढ़बास के पास जंगल में छोड़कर फरार हो गए। इस मामले में साजिद, तरफी, मुस्ताक व रकीब के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

Page 11 of 568

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">