Editor

Editor

वाशिंगटन। भारतीय प्रतिभाओं के दम पर पूरे विश्व में डंका बजा रहे अमेरिका की सरकार को विशेषज्ञों ने आगाह किया है। विशेषज्ञों ने कहा है कि अमेरिका की गलत वीजा नीति के कारण भारतीय प्रतिभा अब अमेरिका के बजाय कनाडा जा रही है। यह ऐसे समय में हो रहा है, जब अमेरिका चीन की बढ़ती लगातार ताकत से लड़ने के लिए प्रतिस्पद्र्धा को तेज करने का प्रयास कर रहा है। विशेषज्ञों ने अमेरिकी संसद को वीजा नीति में परिवर्तन के लिए तेजी से कार्य करने को कहा है। उन्होंने कहा कि विशेष रूप से एच 1 बी वीजा और देशों के कोटा निर्धारण को लेकर तत्काल नियमों में परिवर्तन करना चाहिए। यदि वीजा नियमों में ग्रीन कार्ड और स्थायी निवास की सहूलियतों को आसान नहीं किया गया तो बेहतरीन भारतीय प्रतिभा से अमेरिका को वंचित होना पड़ेगा।नेशनल फाउंडेशन फॉर अमेरिकन पालिसी के स्टुअर्ट एंडरसन ने चेतावनी दी है कि भारतीयों के लिए रोजगार आधारित श्रेणियों में वीजा का बैकलाग 9 लाख से ज्यादा है। 2030 तक यह संख्या 21 लाख से ज्यादा हो जाएगी। एंडरसन ने सीनेट की आव्रजन संबंधी समिति के सामने ये आंकड़े पेश करते हुए कहा कि यदि अमेरिका ने अपनी पुरानी नीतियों को नहीं बदला तो भारतीय प्रतिभा का कनाडा के लिए पलायन और तेज हो जाएगा। अमेरिका के विश्वविद्यालय में 2016-17 से 2018-19 के बीच के शिक्षा सत्र में कंप्यूटर साइंस और इंजीनियरिंग में 25 फीसद भारतीय छात्रों में कमी आई है।

ब्रूसेल्‍स। यूरोपीय संघ के शीर्ष कोर्ट ने कहा है कि कंपनियां अपने यहां पर काम करने वाली मुस्लिम महिलाओं के सिर पर लगे स्‍कार्फ या हिजाब को कुछ खास परिस्थिति में ही हटवा सकती है। शीष्र कोर्ट ने ये फैसला दो मामलों पर सुनवाई के बाद सुनाया है। इनमें से एक मामले में जर्मनी की एक कंपनी में काम करने वाली महिला को इसके लिए सस्‍पेंड कर दिया गया था। आपको बता दें कि हिजाब सिर को ढकते हुए कंधों तक आता है। इसका उपयोग महिलाएं करती हैं। इसको लेकर कुछ वर्षों से यूरोप में बहस चल रही है। वहीं कुछ लोग इसको मुस्लिमों के साथ हो रहे व्‍यवहार से जोड़कर देख रहे हैं।कोर्ट के सामने आए दोनों ही मामलों में महिलाएं स्‍पेशल केयर से जुड़ी हुई थी। एक अन्‍य महिला म्‍यूलर ड्रग स्‍टोर चेन से जुड़ी थी। जिस वक्‍त उन्‍होंने अपनी जॉब की शुरुआत की थी उस वक्‍त वो इस तरह के हिजाब का इस्‍तेमाल नहीं करती थीं। लेकिन कुछ समय के बाद उन्‍होंने इसको लगाना शुरू कर दिया था। उनको कहा गया कि ये सब कुछ यहां पर करने की इजाजत नहीं है। इसके लिए महिलाओं को सख्‍त हिदायत दी गई थी और कहा गया था कि उन्‍हें सस्‍पेंड तक किया जा सकता है। कंपनी की तरफ से कहा गया था कि उनको यहां पर बिना हिजाब लगाए आना होगा या फिर उन्‍हें दूसरी नौकरी तलाश करनी होगी।अब कोर्ट ने इस मामले में दिए अपने आदेश में कहा कि हिजाब को प्रतिबंधित करना क्‍या धर्म की आजादी का उल्‍लंघन है या इसकी मंजूरी देना बिजनेस के उसूलों के खिलाफ है। या इससे वहां पर आने वाले ग्राहक पर काई असर पड़ता है। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि इस तरह का फैसला थोपने से पहले कंपनी को इसके लिए उचित वजह बताने की जरूरत है। यदि कंपनी अपनी छवि को एक न्‍यूट्रल रखना चाहती है, तो वो ऐसा कर सकती है।

वाशिंगटन। अमेरिका में कोरोना के मामलो में एक माह के बाद फिर से तेजी आई है। तीन सप्‍ताह के दौरान रोजाना आने वाले नए मामले करीब दोगुना हो गए हैं। इसकी वजह तेजी से फैल रहे डेल्‍टा वैरिएंट को बताया गया है। इसके पीछे एक वजह देश में 4 जुलाई को मनाए गए स्‍वतंत्रता दिवस को भी बताया जा रहा है। इस दिन काफी संख्‍या में लोग एकत्रित हुए थे। जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक देश में 23 जून को कोरोना के 11300 नए मामले सामने आए थे। वहीं सोमवार 13 जुलाई को इनकी संख्‍या बढ़कर 23600 हो गई। बीते दो सप्‍ताह के दौरान देश के डकोटा और मेने राज्‍य में लगातार मामलों में तेजी आई है।वाशिंगटन के स्‍कूल ऑफ मेडिसिन में इंफेक्शियस डिजीज डिवीजन के कॉ-डायरेक्‍टर डॉक्‍टर बिल पाउडरली का कहना है कि ये संयोग नहीं है कि जिस वक्‍त हमनें ऐसा होने का अनुमान लगाया था ठीक उसी वक्‍त मामले बढ़ रहे हैं। विशेषज्ञों ने जुलाई के चौथे सप्‍ताह के आसपास देश में कोरोना के मामले बढ़ने का अनुमान लगाया था। उनके मुताबिक ये ऐसे समय में हो रहा है जब देश के ज्‍यादातर हिस्‍सों में कोरोना के खिलाफ वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम तेजी से चलाया जा रहा है। देश में मामलों के इतना तेजी से बढ़ने के पीछे डेल्‍टा वैरिएंट हैं जिसके संक्रमण की रफ्तार काफी तेज है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के मुताबिक देश में 55.6 फीसद अमेरिकियों को अब तक वैक्‍सीन की कम से कम एक खुराक दी जा चुकी है।डीसी के मुताबिक देश के पांच ऐसे राज्‍य हैं जहां पर दो सप्‍ताह के अंदर कोरोना के ताजा मामले तेजी से बढ़े हैं। इसकी वजह यहां पर वैक्‍सीनेशन में आई कमी है। मिसूरी में 45.9, अरकंसास में 43 फीसद, नवादा में 50.9 फीसद और उटाह में 49.5 फीसद लोगों को ही वैक्‍सीन दी गई है। बढ़ते मामलों की वजह से लोस एंजेलिस काउंटी और सेंट लुइस में सार्वजनिक स्‍थलों पर लोगो को मास्‍क लगाने की हिदायत दी गई है भले ही वो वैक्‍सीन की खुराक ले चुके हों। इतना ही नहीं शिकागो ने मिसूरी और अरकंसास से आने वालों को दस दिनों के लिए क्‍वारंटीन अनिवार्य कर दिया है। यदि इससे बचना है तो उन्‍हें कोविड-19 की अपनी नेगेटिव रिपोर्ट को दिखाना जरूरी होगा।मिसीसिप्‍पी ने अपने फेसबुक पर पोस्‍ट कोविड के लिए बनाए गए पेज को फिलहाल ब्‍लॉक कर दिया है। कहा जा रहा है कि इस पर वायरस और वैक्‍सीन के बाबत कुछ गलत जानकारियां दी जा रही थीं। यहां के अधिकारियों ने 65 और इससे अधिक की उम्र वाले ऐसे लोग जिनको क्रॉनिक दिक्‍कत है उन्‍हें किसी भी तरह की भीड़ से बचने की सलाह दी गई है। अधिकारियों का कहना है कि यहां पर पिछले दो सप्‍ताह से अस्‍पतालों में मरीजों की संख्‍या काफी बढ़ी हुई है।लुसियान में भी वैक्‍सीनेशन की रफ्तार काफी धीमी है। इसको देखते हुए यहां के प्रशासन ने किसी तरह की बड़े खेल और मनोरंजन के प्रोग्राम को फिलहाल आगे बढ़ा दिया है। लोगों से कहा गया है कि उन्‍हें इसमें शामिल होने के लिए मुंह पर मास्‍क लगाना अनिवार्य होगा। यहां पर वैक्‍सीन लेने वालों को अपनी नेगेटिव रिपोर्ट दिखानी जरूरी की गइ्र है। अधिकारियों का कहना है कि कोरोनाके बढ़ते मामले अधिकतर वहां सामने आ रह हैं जहां पर टीकाकरण नहीं हुआ है।

नई दिल्ली। बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना कपूर खान इन दिनों अपनी किबात 'प्रेग्नेंसी बाइबल' को लेकर काफी खुर्खियों में बनीं हुई है। करीना ने अपनी इस बुक को इसी महीने 9 जुलाई को लॉन्च किया है। करीना अपनी इस किबात के टाइटल को लेकर काफी कॉन्ट्रोवर्सी में है। वहीं सोशल मीडिया पर भी उन्हें काफी आलोचनाओं का समना करना पड़ रहा हैं। वहीं अब इसी बीच करीना की बुक 'प्रेग्नेंसी बाइबल' से उनके बेटे की तस्वीर लीक हुई हैं। करीना के फैन पेज पर कुछ तस्वीरें वायरल हो रही हैं जिसमें ये दावा किया गया है कि इस किबात में जो तस्वीरें हैं वो करीना के छोटे बेटे 'जेह' की है। 'जेह' की तस्वीरें करीना ने इस किबात में लिया है। बता दें कि करीना ने अभी तक अपने छेटे नवाब की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर​ नहीं की है।

फैंस ने की तारीफ;-करीना कपूर ने अपने दूसरे बेटे 'जेह' को अभी तक मीडिया से छुपा कर रखा है। हलांकि फैंस करीना के दूसरे बेटे की एक झलक देखने के लिए बेताब हैं। ऐसे में करीना कपूर के एक फैन पेज पर एक तस्वीर शेयर की गई है। साथ ही ये भी दावा किया गया हैं कि इस तस्वीर में दिखने वाला बच्चा तैमूर अली खान का छोटा भाई 'जेह' है। ये भी कहा जा रहा है कि करीना ने अपनी किबात 'प्रेग्नेंसी बाइबल' में बेटे की तस्वीर शेयर छापी है। वहीं बताया जा रहा है कि यह तस्वीर उसी किबात से ली गई है।

टीवी जगत में इन दिनों शादियों का दौर शुरू हो गया है। एक के बाद एक कपल के शादी करने की खबरें आ रहीं हैं। कल यानी 16 जुलाई को बिग बॉस फेम राहुल वैद्य अपनी गर्लफ्रेंड-अदाकारा दिशा परमार संग शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं। वही उनसे पहले आज स्‍टार प्‍लस के सीरियल पांड्या स्‍टोर में लीड रोल निभाने वाली अदाकारा शाइनी दोषी ने अपने बॉयफ्रेंड लवेश खैरजानी संग सात फेरे ले लिए हैं। अब दोनों के शादी के फोटोज तेजी से वायरल हो रहे हैं जो आप यहाँ देख सकते हैं। अपनी शादी में शाइनी दोषी लाल लहंगे में नजर आईं और वहीँ उनके बोयफ़्रेंस लवेश सफेद शेरवानी में नजर आए।शाइनी दोषी इस दौरान अपने पति को किस करते हुए भी नजर आईं। अब दोनों के शादी के फोटोज तेजी से वायरल हो रहे हैं। आप सभी को बता दें कि शाइनी ने बॉयफ्रेंड लवेश खैरजानी के साथ सगाई पिछले साल 4 जनवरी, 2020 को की थी और दोनों शादी भी करने वाले थे लेकिन कोरोना काल के चलते ऐसा न हो सका। हालाँकि अब दोनों शादी के बंधन में बंध चुके हैं।शाइनी दोषी इन दिनों आ रहे सीरियल पांड्या स्‍टोर में धरा पांड्या का किरदार निभाती हैं और इस सीरियल की बदौलत वह काफी मशहूर हो चुकीं है। शो में वह एक्‍टर किंशुक महाजन के अपोजिट नजर आ रही हैं। शो में उनके तीन देवर हैं जिन्हे वह अपने बेटे मानती हैं। शाइनी दोषी के करियर के बारे में बात करें तो उन्होंने अपने करियर की शुरुआत फेमस टीवी शो 'सरस्वतीचंद्र' से की थी। इस शो के बाद शाइनी ने कई अन्य शोज में काम किया, जिनमें 'जमाई राजा', 'बहू हमारी रजनीकांत', 'दिल ही तो है' और 'लाल इश्क' शामिल हैं।

बिग बॉस फेम राहुल वैद्य और अभिनेत्री दिशा परमार की शादी की रस्में शुरू हो चुकी हैं. ऐसे में बुधवार शाम इस कपल की मेहंदी की रस्म हुई जिसकी कुछ खास तस्वीरें हम आपके लिए लेकर आए हैं, दिशा और राहुल की ये तस्वीरें देखने के लिए रुख कीजिए आगे की स्लाइड्स का. शादी की खुशी दिशा और राहुल दोनों के ही चेहरों पर साफ दिखाई दे रही है. काफी समय से फैंस राहुल और दिशा की शादी के लिए काफी एक्साइडेट थे ऐसे में उनकी इस तस्वीरों पर सभी काफी प्यार बसरा रहे हैं.रस्म के बाद दिशा और राहुल ने बाहर आकर पैपराजी को पोज दिए. इस दौरान दिशा ने अपनी खूबसूरत ब्राइडल मेहंदी भी फ्लॉट की. फैंस को दिशा की मेहंदी का डिजाइन काफी पसंद आ रहा है.इसके साथ ही दिशा और राहुल का ये मेहंदी लुक भी काफी छाया हुआ है.तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि इस दौरान दिशा ने गुलाबी और सफेद रंग का स्लिप शरारा पहना हुआ था. इसपर मिरर वर्क इसे बेहद शानदार लुक दे रहा था.वहीं बात करें राहुल वैद्य की तो वो ग्र कलर के सैटिन कुर्ता पजामा में काफी हैंडसम दिखाई दे रहे थे.इसके साथ ही दिशा और राहुल ने इस दौरान खूब मस्ती और डांस भी किया. तस्वीरों में आप देख सकते हैं दिशा और राहुल अपने दोस्तों और कजिन के साथ खूब मस्ती कर रहे हैं.फैंस दिशा और राहुल की इस कैमिस्ट्री को काफी पसंद कर रहे हैं.

नई दिल्ली इन दिनों पवित्र रिश्ता के सीजन 2 काफी चर्चा में है। इसके पहले सीजन में दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत और अंकिता लोखंडे मुख्य भूमिका में थे। इन दोनों को जोड़ी को दर्शकों का काफी प्यार मिला था। पवित्र रिश्ता के नए सीजन में अंकिता लोखंडे के साथ सुशांत सिंह राजपूत की जगह शाहीर शेख मुख्य भूमिका में रहेगें। पवित्र रिश्ता 2.0 की शूटिंग को शुरू कर दिया गया है।ऐसे में इस शो को लेकर सुशांत सिंह राजपूत के फैंस और करीबी के अलावा सितारे भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। पवित्र रिश्ता 2.0 को लेकर दिवंगत अभिनेता की बहन श्वेता सिंह कीर्ति ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने सोशल मीडिया पर अंकिता लोखंडे के पवित्र रिश्ता 2.0 के लिए अपनी खुशी जाहिर की है। श्वेता सिंह कीर्ति सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहती हैं। वह अक्सर सुशांत सिंह राजपूत को याद करती रहती हैं।श्वेता सिंह कीर्ति ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट की स्टोरी पर पवित्र रिश्ता 2.0 के सेट से अंकिता लोखंडे और शाहीर शेख की तस्वीर साझा की है। इस स्टोरी के साथ उन्होंने अपनी खुशी जाहिर की है। श्वेता सिंह कीर्ति तस्वीरे के पोस्ट में लिखा, 'पवित्र रिश्ता के सफल होने के लिए प्रार्थना। मैं इसके लिए काफी खुश हूं। पवित्र रिश्ता की टीम को शुभकामनाएं।' सोशल मीडिया पर श्वेता सिंह कीर्ति का यह पोस्ट तेजी से वायरल हो रहा है।सुशांत सिंह राजपूत के फैंस और तमाम सोशल मीडिया यूजर्स उनके पोस्ट को खूब पसंद कर रहे है। साथ ही कमेंट कर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। टेलीविजन का सबसे चर्चित और सक्सेसफुल धारावाहिक 'पवित्र रिश्ता' आज से 11 साल पहले प्रसारित हुआ था। करीब चार साल तक चले इस धारावाहिक को आठ साल पहले बंद कर दिया गया। लेकिन दर्शकों के लिए एक बार फिर से खुशखबरी है कि 'पवित्र रिश्ता 2.0' अब एक नए अवतार के साथ एक बार फिर से दर्शकों के बीच आ रहा है। धारावाहिक की शूटिंग भी शुरू कर दी गई है।साल 2009 में शुरू हुए इस धारावाहिक में अंकिता लोखंडे और दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत ने मुख्य किरदार निभाया था। इस धारावाहिक और अंकिता- सुशांत की जोड़ी को दर्शकों का खूब प्यार मिला था। हालांकि अब सुशांत तो इस दुनिया में नहीं रहे। ऐसे में धारावाहिक में नए मानव के रूप में अभिनेता शहीर शेख नजर आने वाले हैं। हाल ही में अंकिता लोखंडे ने धारावाहिक की शूटिंग से अपना और शहीर का लुक शेयर किया है। 

नई दिल्ली,। टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज मो. कैफ ने स्पोर्ट्स तक पर विराट कोहली की कप्तानी के बारे में खुलकर चर्चा की। कैफ से पूछा गया कि श्रीलंका के खिलाफ क्रिकेट सीरीज और आइपीएल 2021 पार्ट टू के बाद क्या ये क्लीयर हो जाएगा कि, टी20 वर्ल्ड कप के लिए 15 सदस्यीय टीम क्या हो सकती है। इसका जवाब देते हुए कैफ ने साफ तौर पर कहा कि, इस टीम इंडिया में कोई स्पष्टता नहीं है। एक कमेंटेटर के तौर पर भी हम ये बात करते हैं कि, टीम में स्पष्टता होनी चाहिए। अब भारतीय टीम उस तरह से नहीं खेलती, आप मान लो ना। कैफ ने आगे कहा कि, कोहली का ऐसा तरीका नहीं है। वो देखते हैं कि, भाई कल कौन फॉर्म में आया और उसे प्लेइंग इलेवन में शामिल कर लेते हैं। ये विराट कोहली की कप्तानी का अपना तरीका है। कोहली अब तक भारत को आइसीसी खिताब जीता पाते हैं या नहीं आप उनको इस पर जज करिए और अब तक तो वो ऐसा नहीं कर पाए हैं। कोच या टीम मैनेजमेंट भी कोहली की तरीके को ही फॉलो करती है। इस टीम को खिलाड़ी के पिछले प्रदर्शन में कोई रुझान नहीं होता।कोहली का ये मानना है कि, आप अभी क्या कर रहे हैं और आपका फॉर्म कैसा है। तभी तो भारतीय टीम के लिए सूर्यकुमार यादव, इशान किशन खेले। शिखर धवन को ड्रॉप कर दिया गया और रोहित शर्मा को टेस्ट में मौका मिला। इस टीम में आपकी जगह पक्की नहीं है ये प्लेयर्स को भी मालूम है। ये पुरानी बात हो गई कि टीम में आपकी जगह पक्की है और खिलाड़ी भी इस बात को समझने लगे हैं। वो अब बस मौके का इंतजार करते हैं कि, जैसे ही मौका मिले उसे बस पकड़ना है। कैफ ने सौरव गांगुली की कप्तानी के बारे में कहा कि, वो खिलाड़ी के पीछे खड़े रहते थे और पूरा मौका देते थे। जो लीडर होता है वो यही करता है, लेकिन विराट कोहली का ये तरीका नहीं है। गांगुली के पास उस वक्त ज्यादा ऑप्शन नहीं थे, आइपीएल नहीं था। उस वक्त 20-25 खिलाड़ी होते थे और उन्हीं में से वो चुनते थे क्योंकि उन्हें पता था कि, प्लेयर को बैक नहीं किया गया तो वो अपना बेस्ट नहीं दे पाएगा। कैफ ने कहा कि, हमारे समय में हमें ज्यादा मौके मिलते थे, लेकिन आज ऐसा नहीं है। खिलाड़ी के मन में डर है कि, वो कहीं बाहर ना कर दिए जाएं और ऐसे में वो प्रेशर में बिखर जाते हैं। 

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज, बेहतरीन फील्डर व कमेंटेटर मो. कैफ ने टी20 वर्ल्ड कप 2021 को लेकर स्पोर्ट्स तक पर काफी बातें की। मो. कैफ से पूछा गया कि, क्या रोहित शर्मा के साथ विराट कोहली का इस इवेंट में ओपनिं करना सही होगा क्योंकि शायद कप्तान भी यही चाहते हैं। इसका जवाब देते हुए मो. कैफ ने कहा कि, ये शायद टीम के हित में नहीं होगा। उन्होंने टी20 वर्ल्ड कप के लिए रोहित शर्मा के साथ शिखर धवन को उतारने की सलाह दी। कैफ ने कहा कि, बल्लेबाज में राइट और लेफ्ट का कांबिनेशन हमेशा ही विरोधी टीम के लिए परेशानी खड़ी करता है। विरोधी कप्तान को लेफ्ट व राइट बल्लेबाजों के खिलाफ साइड बदलते ही रणनीति बदलनी होती है, फील्डिंग में बदलाव करना होता है और गेंदबाज भी गेंदबाजी को लेकर कन्फ्यूज हो जाते हैं।मो. कैफ ने शिखर धवन के बारे में कहा कि, श्रीलंका दौरे पर रन बनाकर वो अपनी टीम जगह में मजबूत कर सकते हैं और पिछले कुछ दिनों से वो काफी अच्छी फॉर्म में हैं और आइपीएल 2021 पार्ट वन में उनका प्रदर्शन अच्छा रहा था। इसके अलावा दूसरे ओपनर के तौर पर उन्होंने केएल राहुल और पृथ्वी शॉ के नाम पर भी मुहर लगाई। उन्होंने कहा कि, विराट कोहली तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उपयुक्त हैं। अगर विराट कोहली और रोहित शर्मा ओपनिंग करते हैं तो विरोधी टीम के लिए इनके खिलाफ रणनीति बनाना आसान होगा। ये दोनों टीम की बल्लेबाजी की जान हैं और अगर ये जल्दी आउट हो जाते हैं तो टीम मुसीबत में आ जाएगी। वहीं उन्होंने भारतीय टीम के श्रीलंका दौरे पर वनडे सीरीज के लिए विकेटकीपर के तौर पर इशान किशन की जगह संजू सैमसन को प्लेइंग इलेवन में रखने की वकालत की। उन्होंने कहा कि, अनुभव के आधार पर संजू सैमसन इशान किशन से ज्यादा बेहतर वनडे में साबित हो सकते हैं। वहीं उन्होंने कहा कि, भारत के पास एक तेज गेंदबाज ऑलराउंडर की जरूरत है जिसे हार्दिक पांड्या पूरी कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि, भारत के लिए तेज गेदंबाज ऑलराउंडर की जरूरत शार्दुल ठाकुर और भुवनेश्वर कुमार भी पूरी कर सकते हैं। 

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया की टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले तीन मैच हारने के बाद चौथे टी20 मुकाबले में जबरदस्त वापसी की और 4 रन से करीबी जीत दर्ज की। इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए कंगारू टीम ने कप्तान आरोन फिंच और मिचेल मार्श की शानदार अर्धशतकीय पारी के दम पर 20 ओवर में 6 विकेट पर 189 रन बनाए थे। कैरेबियाई टीम को जीत के लिए 190 रन का लक्ष्य मिला था, लेकिन लेंडल सिमंस की 72 रन की शानदार पारी के बावजूद ये टीम 20 ओवर में 6 विकेट पर 185 रन की बना पाई और मैच गंवा दिया। कंगारू कप्तान फिंच ने इस मैच में खेली गई अपनी 53 रन की पारी के दम पर कुछ शानदार रिकॉर्ड्स बना डाले। 

फिंच ने कोहली को छोड़ा पीछे;-आरोन फिंच ने इस मैच में 37 गेंदों पर 3 चौके व 5 छक्कों की मदद से 53 रन की पारी खेली। बतौर टी20 कप्तान इंटरनेशनल क्रिकेट में अब उनके 1555 रन हो गए हैं। अब टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में अपनी इस पारी के बाद वो कप्तान के तौर पर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने विराट कोहली को पीछे छोड़ दिया। विराट ने क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप में बतौर कप्तान 1502 रन बनाए हैं और अब दूसरे नंबर पर आ गए हैं। 

 T20I में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप 5 बल्लेबाज-

1555 रन- आरोन फिंच

1502 रन- विराट कोहली

1383- केन विलियमसन

1334- इयोन मोर्गन

1273- फॉफ डुप्लेसिस

फिंच ने की केन विलियमसन की बराबरी:-आरोन फिंच ने कप्तान के तौर पर टी20 इंटरनेशन क्रिकेट में 11वीं बार 50 रन से ज्यादा की पारी खेली। अब वो इस मामले में केन विलियमसन की बराबरी पर आ गए हैं क्योंकि केन भी 11 बार ये कमाल कर चुके हैं। वहीं इस मामले में विराट कोहली सबसे ऊपर हैं और 12 बार ऐसा कमाल कर चुके हैं। 

T20I में बतौर कप्तान सबसे ज्यादा बार 50 रन से ज्यादा का पारी खेलने वाले टॉप 5 बल्लेबाज

12- विराट कोहली 

11- आरोन फिंच

11- केन विलियमसन

09- बाबर आजम

09- इयोन मोर्गन

Page 6 of 568

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">