Editor

Editor

नई दिल्ली। साउथ सिनेमा के मशहूर अभिनेता थलापति विजय इन दिनों नौ साल पुराने अपने एक मामले को लेकर मुश्किलों में आ गए हैं। उन पर मद्रास हाईकोर्ट ने एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। विजय पर आरोप है कि उन्होंने साल 2012 में अपनी एक लग्जरी कार को लंदन से मंगवाया था, उस कार का उन्होंने टैक्स अदा नहीं किया था, जिसके चलते हाईकोर्ट ने उन पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार थलापति विजय साल 2012 में इंग्लैंड से अपने लिए रॉल्स रॉयस घोस्ट कार इंपोर्ट करवाई थी। उस वक्त विजय ने मद्रास हाईकोर्ट में याचिका दायर कर उस पर लगने वाले एंट्री टैक्स में राहत की अपील की थी। अब नौ साल बाद हाईकोर्ट ने दिग्गज अभिनेता की याचिका को खारिज कर दिया है और कहा कि वह टैक्स देने से बच रहे हैं।ऐसे में कोर्ट ने थलापति विजय पर टैक्स न भुगतान करने के आरोप में एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। जस्टिस एस एम सुब्रह्मण्यम ने विजय की याचिका को खारिज करते हुए कहा, 'अभिनेता के लाखों फैंस हैं। यह सभी फैंस फिल्मी सितारों को अपना असली हीरो मानते हैं। तमिलनाडु जैसे राज्य में जहां फिल्मी सितारे राज्य को चलाने वाले भी बन चुके हैं, उनसे यह उम्मीद नहीं की जाती है कि वह सिर्फ रील हीरो की ही तरह पेश आएं। टैक्स की चोरी को राष्ट्रीय विरोधी सोच और मानसिकता माना जाना चाहिए।'जस्टिस एस एम सुब्रह्मण्यम ने विजय की ओर से टैक्स का भुगतान न करने को असंवैधानिक बताया है। गौरतलब है कि थलपति विजय की रोल्स रॉयस कार को अक्सर उनकी सबसे बेशकीमती संपत्ति में गिना जाता है। कार की अनुमानित कीमत करीब 6.95-7.95 करोड़ रुपये है। रोल्स रॉयस के अलावा थलापति विजय के पास और भी कई महंगी कार हैं।बात करें थलापति विजय के वर्कफ्रंट की तो वह आखिरी बार फिल्म मास्टर में नजर आए थे। यह फिल्म इस साल की शुरुआत में सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी। इस फिल्म में उनके साथ विजय सेतुपति मुख्य भूमिका में थे। फिल्म में दोनों कालाकारों के अभिनय को दर्शकों ने खूब पसंद किया था। फिल्म मास्टर को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर भी दर्शकों का काफी प्यार मिला है।

नई दिल्ली। महेंद्र सिंह धौनी टीम इंडिया के सबसे सफल कप्तान हैं और हर कोई उनकी कप्तानी का लोहा मानता है। आकाश चोपड़ा भी धौनी की कप्तानी के बहुत बड़े फैन हैं और उन्होंने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा कि, अपनी लीडरशिप के साथ साथ धोनी कप्तानी के एक नए आयाम को सामने लेकर आए हैं। उन्होंने कहा कि, धौनी ने हमें कप्तानी का नया तरीका सिखाया। सौरव गांगुली ने प्रतिभाशाली खिलाड़ियों को खोजा, लेकिन धौनी ने उन्हें निखारने का काम किया और टीम में एक ऐसा माहौल तैयार किया जिससे कि खिलाड़ी बिल्कुल फ्री होकर खेलें और अपना बेस्ट टीम को दे सकें।आपको बता दें कि, धौनी ने भारत के लिए 200 वनडे मैचों में कप्तानी की जिसमें टीम इंडिया को 110 मैचों में जीत मिली थी तो वहीं 72 टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में उनकी कप्तानी में टीम इंडिया को 41 मैचों में जीत मिली थी। आकाश चोपड़ा ने दीपक चाहर का जिक्र करते हुए कहा कि, धौनी ने उनका इस्तेमाल इतने शनादार तरीके से किया कि, वो डेथ ओवर्स के स्पेशलिस्ट गेंदबाज बन गए। आकाश चोपड़ा ने धौनी के बारे में कहा कि, वो इस बात को अच्छी तरह से समझ जाते हैं कि, किस खिलाड़ी में किस तरह की प्रतिभा है और वो क्या कर सकता है। दीपक चाहर ने खुद को डेथ ओवरों के लिए तैयार किया और इसका श्रेय धौनी को जाता है। धौनी की यही बात उन्हें बेस्ट बनाती है कि, उन्हें पता होता है कि किसी खिलाड़ी का बेस्ट किस तरह से आ सकता है।धौनी के कूल अंदाज की तारीफ करते हुए पूर्व क्रिकेटर आकाश चोपड़ा ने कहा कि, आपने बेहद कम मौके पर उन्हें अपना आपा खोते हुए देखा होगा। उनकी कप्तानी का अंदाज और तरीका बिल्कुल अलग है और खेल को पहले से ही परख लेने की उनकी क्षमता कमाल की है। वो अपने साथी खिलाड़ियों पर भरोसा जताते हैं और खुद को पीछे रखते हैं। अगर कुछ गलत हो जाता है तो वो फिर स्थिति के मुताबिक काम करते हैं और उनकी यही आत्मविश्वास उन्हें एक अलग लेवल का कप्तान बनाता है। 

नई दिल्ली। टीम इंडिया के कई पूर्व खिलाड़ियों की बायोपिक बन चुकी है और इनमें अलग-अलग अभिनेता इनके किरदार को सिल्वर स्क्रीन पर जीवंत करते हुए नजर आ चुके हैं। सचिन तेंदुलकर, महेंद्र सिंह धोनी और मोहम्मद अजहरुद्दीन के बाद, सौरव गांगुली अगले भारतीय क्रिकेट कप्तान हैं जिनके जीवन को बड़े पर्दे पर दिखाया जाएगा। पूर्व क्रिकेटर और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के वर्तमान अध्यक्ष ने इस परियोजना के लिए हां कह दी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक यह बड़े बजट की फिल्म होने जा रही है इसके निर्माण में 200 से 250 करोड़ रुपये खर्च किए जा सकते हैं। वहीं माना जा रहा है कि, सौरव गांगुली की इस बायोपिक में बॉलीवुज के दिलकश अभिनेता रणबीर कपूर मुख्य भूमिका निभा सकते हैं।न्यूज 18 बांग्ला के साथ एक साक्षात्कार में, सौरव गांगुली ने इस खबर की पुष्टि की। सौरव ने कहा, "हां, मैंने बायोपिक के लिए हामी भर दी है। यह हिंदी में होगी लेकिन अभी निर्देशक के नाम का खुलासा करना संभव नहीं है। सब कुछ फाइनल होने में कुछ और समय लगेगा।" खबरों के मुताबिक फिल्म की स्क्रिप्ट लिखी जा रही है. प्रोडक्शन हाउस सौरव गांगुली से एक से अधिक बार मिल चुका है। सूत्रों का दावा है कि प्रोडक्शन हाउस ने उस अभिनेता पर भी फैसला किया है जो स्क्रीन पर सौरव गांगुली को चित्रित करेगा। रिपोर्ट्स का दावा है कि रणबीर कपूर इस भूमिका के लिए शीर्ष दावेदार हैं। दो और अभिनेताओं पर भी विचार किया जा रहा है।इससे पहले, जब नेहा धूपिया ने सुझाव दिया था कि रितिक रोशन स्क्रीन पर सौरव गांगुली की भूमिका निभाने के लिए सबसे अच्छे विकल्प होंगे, तो पूर्व क्रिकेटर ने कहा था कि इसके लिए उनका शरीर मेरे जैसा होना चाहिए। रितिक की बॉडी काफी बिल्ड है और इस रोल के लिए पहले उन्हें मेरे जैसा शरीर बनाना होगा। फिल्म की स्क्रिप्ट अभी लिखी जा रही है और रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि फिल्म सौरव गांगुली की पूरी क्रिकेट जर्नी को कैप्चर करेगी। एक युवा क्रिकेटर के रूप में और भारतीय राष्ट्रीय टीम के कप्तान बनने से लेकर लॉर्ड्स में उनकी ऐतिहासिक जीत और अंत में बीसीसीआइ के अध्यक्ष बनने तक, ये फिल्म सौरव गांगुली के जीवन के सभी पहलुओं को कवर करेगी।यह पहली बार नहीं है जब सौरव गांगुली की बायोपिक की खबरें सुर्खियां बटोर रही हैं। इससे पहले भी बायोपिक को लेकर कई खबरें आ चुकी हैं। हालांकि, सौरव ने पहले कभी भी किसी भी रिपोर्ट को स्वीकार नहीं किया था। लेकिन इस बार खुद बीसीसीआइ अध्यक्ष ने इस बात की जानकारी दी है कि बायोपिक पर काम चल रहा है। प्री-प्रोडक्शन का काम पूरा होने के बाद फिल्म की शूटिंग शुरू होगी। फिलहाल मामले को गोपनीय रखा जा रहा है।

नई दिल्ली। टीम इंडिया के पूर्व ओपनर बल्लेबाज व कमेंटेटर आकाश चोपड़ा ने रोहित शर्मा की कप्तानी की जमकर तारीफ की और कहा कि, वो बिल्कुल टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी की तरह से ही कप्तानी करते हैं। उन्होंने कहा कि, रोहित शर्मा के अंदर धौनी की कप्तानी की झलक मिलती है और कुछ मामलों में वो धौनी की तरह से ही कप्तानी करते हैं। रोहित शर्मा के दिमाग में हर तरह की योजना चलती रहती है और वो हर संभावना पर विचार करते रहते हैं और एक बेहतरीन कप्तान के यही गुण हैं।आकाश चोपड़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए कहा कि, अगर आप धौनी को देखें तो उनके चेहरे को देखकर ये कभी नहीं अंदाजा लगा पाएंगे कि, उनके दिमाग में क्या चल रहा है। धौनी के दिमाग मे एक कैलकुलेटर चलता रहता है कि, किस गेंदबाज के कितने ओवर बचे हैं उन्हें कब इस्तेमाल करना है। वो पूरी तरह से खेल को अपने कंट्रोल में रखते हैं। धौनी जब टीम इंडिया की कप्तानी करते थे या फिर वो आइपीएल में कप्तानी करते हैं तो उन्हें देखकर लगता है कि, वो खेल को अपने कंट्रोल में रखने में पूरी तरह से माहिर हैं।रोहित शर्मा भी इसी तरह से कप्तानी करते हैं और वो अपनी टीम के खिलाड़ियों को खुद ही फैसले करने देते हैं। वो खिलाड़ी के उपर छोड़ देते हैं कि, वो क्या करना चाहते हैं और अपनी सलाह जरूरत के वक्त ही देते हैं। धौनी भी कुछ इसी तरह से किया करते थे। आकाश चोपड़ा ने आगे कहा कि, आप किसी ऐसे खिलाड़ी से बात करें जो रोहित की कप्तानी में खेले हैं तो वो भी आपको यही कहेंगे कि, वो कप्तान के तौर पर कुछ सुझाव जरूर देते हैं लेकिन पहले आपकी राय पूछते हैं कि आप क्या करना चाहते हैं। रोहित को भी अपने खिलाड़ियों की ताकत के बारे में पता होता है और वो ये जानते हैं कि, उनसे बेस्ट किस तरह के निकलवाना है। 

सेंट लूसिया। टी20 क्रिकेट में 14000 रन बनाने का कमाल वेस्टइंडीज के बल्लेबाज क्रिस गेल ने किया है। क्रिस गेल दुनिया के एकमात्र बल्लेबाज हैं, जिन्होंने टी20 क्रिकेट में 14 हजार से ज्यादा रन बना लिए हैं। इतनी बड़ी संख्या में टी20 क्रिकेट में रन बनाने के बावजूद यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल का कहना है उनमें रनों की भूख अभी भी बाकी है। गेल ने ये भी बताया है कि टी20 क्रिकेट में अब उनका अगला लक्ष्य क्या होने वाला है?बाएं हाथ के तूफानी बल्लेबाज क्रिस गेल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे टी20 मुकाबले में 38 गेंदों पर सात छक्कों और चार चौकों की मदद से 67 रन की तूफानी पारी खेली। इसी के दम पर वे अपनी टीम को मैच और सीरीज में जीत दिलाने में सफल रहे। इस पारी के दौरान 29वां रन बनाते हीं गेल पहले बल्लेबाज बन गए, जिन्होंने टी20 क्रिकेट में 14000 रन पूरे किए। उन्होंने देश के लिए 14वां टी20 अर्धशतक भी जड़ा।क्रिस गेल ने मैच के बाद कहा, "14000 टी20 रन बनाना अच्छी उपलब्धि है। मैं अपने लिए एक नया टारगेट सेट करता हूं और अब मैंने 15000 रन बनाने का सोचा है। यह जानना सुखद है कि मैं पहला व्यक्ति हूं जिसने टी20 में 14000 रन बनाए हैं, विशेषकर अर्धशतक और जीत के साथ। अभी काफी कुछ करना बाकी है और मैं इसमें सक्षम हूं। मुझमें रन बनाने की भूख अभी भी है। यह अच्छा है कि मैं रन बना सका, क्योंकि पिछले कुछ समय से मेरा बल्ला खामोश था। मैं खुश हूं कि ऐसा कर सका लेकिन यह मेरे टीम के साथी खिलाड़ियों के बिना संभव नहीं था जो मुझे प्रेरित करते हैं।"गेल ने टीम के कप्तान किरोन पोलार्ड की भी तारीफ की। हालांकि, वे इस सीरीज अब तक नहीं खेल पाए हैं। उनकी अनुपस्थिति में निकोलस पूरन कप्तानी कर रहे हैं और टीम को जीत पर जीत दिला रहे हैं। वहीं, क्रिस गेल ने पोलार्ड को लेकर कहा, "कप्तान किरोन पोलार्ड ने मुझे याद दिलाया कि बस वहां जाकर खुद का खेल खेलो और मुझे खुशी है कि मैं इस मैच में ऐसा कर सका।"

दिल्ली। इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) अपने मोबाइल एप के जरिए डिजिटल रूप से बचत खाता खोलने की सुविधा प्रदान करता है। पोस्ट ऑफिस खाताधारक इस एप के जरिए आसानी से बेसिक बैंकिंग लेनदेन कर सकते हैं। इससे ग्राहकों की बैंकिंग सेवाओं तक काफी आसान पहुंच हो गई है। यदि आपके पास आईपीपीबी खाता खुलवाने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने का समय नहीं है और आप वहां लाइन में खड़े रहने के झंझट से बचना चाहते हैं, तो घर बैठे ही आईपीपीबी एप डाउनलोड कर उससे डिजिटल बचत खाता खुलवा सकते हैं। यह खाता खुलवाने के लिए आवेदक को 18 साल से अधिक का भारतीय नागरिक होना चाहिए।बता दें कि डिजिटल सेविंग अकाउंट केवल एक साल के लिए वैध होता है। खाता खोलने के एक साल के अंदर आपको उस खाते के लिए बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण पूरा करना है, जिसके बाद इसे नियमित बचत खाते में बदल दिया जाएगा। खाता खुलवाने का स्टेप बाय स्टेप प्रॉसेस यह है-

स्टेप 1. अपने मोबाइल फोन में आईपीपीबी मोबाइल बैंकिंग एप डाउनलोड करें। इसके बाद आईपीपीबी मोबाइल बैंकिंग एप को ओपन कर ‘Open Account’ पर क्लिक करें।

स्टेप 2. यहां आपको अपना पेन कार्ड नंबर और आधार कार्ड नंबर दर्ज करना होगा।

स्टेप 3. पेन कार्ड नंबर और आधार कार्ड नंबर दर्ज करने के बाद आपको लिंक्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा। वह ओटीपी दर्ज करें।

स्टेप 5. यह जानकारी दर्ज करने के बाद सबमिट पर क्लिक करें। इसके साथ ही खाता खुल जाएगा।

स्टेप 6. आप इस इंस्टेंट बैंक अकाउंट का उपयोग एप के द्वारा कर सकते हैं।

नई दिल्ली:- घरेलू बाजार में अधिक स्टॉक के कारण भारत का पाम ऑयल आयात इस साल के पिछले महीने की तुलना में 24 प्रतिशत गिरकर 5,87,467 टन रह गया। उद्योग निकाय सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन (SEA) ने मंगलवार को यह जानकारी दी। SEA ने चिंता जताई कि सितंबर तक कच्चे पाम ऑयल (सीपीओ) और अन्य पाम ऑयल के आयात शुल्क में हालिया कटौती, साथ ही दिसंबर तक आरबीडी पामोलिन का अप्रतिबंधित आयात घरेलू रिफाइनर और तिलहन उत्पादकों के हित के लिए हानिकारक होगा।दुनिया के प्रमुख वनस्पति तेल खरीदार भारत ने जून 2020 में 5,64,839 टन पाम ऑयल का आयात किया था। जबकि मई 2021 में पाम ऑयल का आयात 7,69,602 टन था। देश का कुल वनस्पति तेल आयात इस साल जून में 17 प्रतिशत घटकर 9.96 लाख टन रहा, जो एक साल पहले इसी अवधि में 11.98 लाख टन था। देश के कुल वनस्पति तेल आयात में पाम ऑयल का हिस्सा 60 प्रतिशत से अधिक है।SEA के अनुसार, घरेलू बाजार में स्टॉक ज्यादा होने के कारण जून में वनस्पति तेल का आयात पिछले महीने की तुलना में कम रहा। एसईए के आंकड़ों के मुताबिक, पाम ऑयल उत्पादों में कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का आयात इस साल जून में बढ़कर 5.76 लाख टन हो गया, जो एक साल पहले की समान अवधि में 5.63 लाख टन था। इसी अवधि में कच्चे पाम कर्नेल तेल (CPKO) की शिपमेंट 1,000 टन से बढ़कर 7,377 टन हो गई।नरम तेलों में सोयाबीन तेल का आयात जून में घटकर 2,06,262 टन रह गया, जो पिछले साल की समान अवधि में 3,31,171 टन था। इसी तरह सूरजमुखी तेल की खेप 2,69,428 टन से गिरकर 1,75,702 टन रह गई। 1 जुलाई तक खाद्य तेल का कुल भंडार 19.87 लाख टन था।

नई दिल्‍ली। Indian Railways ने Covid Mahamari के दौरान नियमित ट्रेनों का चलाना बंद कर रखा है। लेकिन यात्रियों की सहूलियत को देखते हुए कुछ Special Train चलाई हैं। हालांकि बीते साल मार्च से पहले रेलवे रोजाना करीब 12,600 ट्रेनें चलाता था। इसमें करीब 2.3 करोड़ यात्री सफर करते थे।Indian railways समय-समय पर पटरियों और दूसरे मरम्‍मती कामों के कारण कई बार ट्रैफिक ब्लॉक करता है, जिससे ट्रेनों की आवाजाही बेहतर होती है। इसके लिए कुछ ट्रेनों को कैंसिल या उनका रूट बदलना पड़ता है। कभी कभार मरम्‍मती काम के कारण Train Time भी बदला जाता है।इन Train के बारे में रेलवे अपनी ट्रेन इनक्‍वायरी की वेबसाइट पर Cancel Train List भी जारी करता है। इससे यात्रियों को काफी सहूलियत होती है। वे समय रहते अपनी यात्रा में रद्दोबदल कर सकते हैं।13 जुलाई 2021 को Indian Railways ने जिन ट्रेनों को Partially कैंसिल किया है, उनकी लिस्‍ट रेलवे की वेबसाइट पर जारी की गई है।

 

ट्रेन कैंसिल होने पर पैसा वापस होगा;-Indian railways जिन ट्रेनों को कैंसिल करता है, उनकी जानकारी यात्रियों को दी जाती है। इसके लिए रेलवे स्टेशनों पर अनाउंसमेंट के जरिए भी बताया जाता है। Indian railways के इनक्‍वायरी नंबर 139 सर्विस पर SMS कर भी ट्रेनों का स्‍टेटस जाने सकते हैं। जिन ट्रेनों को कैंसिल किया गया है उनका टिकट रद्द कर पूरा रिफंड ले सकते हैं।

नई दिल्ली। वैक्सीनेशन में तेजी के चलते आर्थिक गतिविधियों में बढ़ोत्तरी होने से पिछले महीने तेल की मांग में वृद्धि हुई, लेकिन ओपेक+ देशों द्वारा आवश्यकता से कम उत्पादन करने से कीमतों का अस्थिर रहना तय है, जब तक कि उत्पादन बढ़ाने को लेकर कोई समझौता ना हो जाए। इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ने मंगलवार को यह बात कही है।इस महीने की शुरुआत में ओपेक+ देशों की एक बैठक हुई थी, लेकिन इसमें गतिरोध देखा गया और उत्पादन में कटौती को धीरे-धीरे कम करने की योजना पर कोई फैसला नहीं हो पाया। बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत के समय तेल की मांग में भारी कमी के कारण ओपेक+ देशों ने उत्पादन में कटौती का फैसला लिया थाहालांकि, अब तेल की मांग फिर से बढ़ रही है। इंटरनेशनल एनर्जी एसेंजी का अनुमान है कि इसमें पिछले महीने 3.2 मिलियन बैरल प्रति दिन (mbd) की वृद्धि हुई है, जो कि पिछले साल मांग में आई कुल गिरावट के एक तिहाई से अधिक है।आईईए का अनुमान है कि जुलाई से तीन महीने में तेल डिमांड 3.3 mbd और बढ़ सकती है। यह साल 2019 में समान अवधि के दौरान दर्ज हुई सीजनल वृद्धि के दोगुने से अधिक है। आईईए का कहना है कि यह कोविड प्रतिबंधों में राहत और वैक्सीनेशन में तेजी का परिणाम है।मांग बढ़ने पर ओपेक+ को धीरे-धीरे उत्पादन में वृद्धि करनी थी, लेकिन बैठक में आए गतिरोध का मतलब है कि उत्पादन मौजूदा स्तर से तब तक आगे नहीं बढ़ाया जाएगा, जब तक कि कोई समझौता नहीं हो जाता।इंटरनेशनल एनर्जी एजेंसी ने अपनी ताजा मासिक रिपोर्ट में कहा, "तेल की कीमतों ने पिछले हफ्ते ओपेक+ गतिरोध पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। अगर कोई समझौता नहीं हो पाता है, तो आपूर्ति घाटा गहराने की संभावना है।"

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) ने शनिवार को अपने वियतनाम के समकक्ष फाम मिन्ह चिन्ह (Pham Minh Chinh) से फोन पर बात की और उन्हें देश के प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने वियतनाम के पूर्व सुरक्षा अधिकारी और वहां की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता फाम मिन्ह चीन्ह से वार्ता के दौरान भरोसा जताया कि उनके कुशल निर्देशन में दोनों देशों के बीच व्यापक सामरिक साझेदारी और भी मजबूत होगी।प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि दोनों नेताओं के बीच फोन पर वार्ता हुई और इस दौरान द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा की गई। बातचीत के दौरान दोनों देशों के बीच सहयोग के विभिन्न मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान भी हुआ। PMO के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने एक खुले, समावेशी, शांतिपूर्ण और नियम आधारित हिंद महासागर क्षेत्र को लेकर दोनों देशों के समान विचारों का हवाला देते हुए कहा, 'भारत-वियतनाम व्यापक सामरिक साझेदारी क्षेत्रीय शांति, समृद्धि और विकास को बढ़ावा देने में योगदान दे सकती है।' इस संदर्भ में प्रधानमंत्री मोदी ने यह हवाला भी दिया कि भारत और वियतनाम संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य भी हैं।प्रधानमंत्री मोदी ने भारत में कोविड-19 की दूसरी लहर के समय वियतनाम की ओर से की गई सहायता के लिए आभार व्यक्त किया। साथ ही दोनों देशों के प्रमुखों ने महामारी का मुकाबला करने के लिए विचार-विमर्श और एक दूसरे का सहयोग करना जारी रखने पर सहमति व्यक्त की। PMO ने कहा, 'दोनों प्रधानमंत्रियों ने द्विपक्षीय संबंधों की प्रगति की समीक्षा की औरसहयोग के विभिन्न क्षेत्रों में विचारों का आदान-प्रदान किया।' पीएमओ ने बताया कि वर्ष 2022 में दोनों देशों के बीच कूटनीतिक रिश्तों की स्थापना की 50वीं वर्षगांठ होगी और दोनों नेताओं ने इस महत्वपूर्ण उपलब्धि को धूमधाम से मनाने पर सहमति जताई। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने वियतनामी समकक्ष को भारत आने का निमंत्रण भी दिया।

Page 10 of 568

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें

data-ad-type="text_image" data-color-border="FFFFFF" data-color-bg="FFFFFF" data-color-link="0088CC" data-color-text="555555" data-color-url="AAAAAA">