फुझोउ - रियो ओलम्पिक की रजत पदक विजेता पी.वी. सिंधु इस साल भी अपने दूसरे चीन ओपन खिताब से चूक गईं। अग्रणी भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी सिंधु को शुक्रवार को महिला एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल मैच में हार मिली। सिंधु ने 2016 में पहली बार चीन ओपन खिताब को हासिल किया था। महिला एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में सिंधु को चीन की वर्ल्ड नम्बर-7 ही बिंगजियाओ ने एक घंटे 10 मिनट तक चले संघर्षपूर्ण मुकाबले में 17-21, 21-17, 15-21 से हराकर बाहर का रास्ता दिखाया। इस मैच के पहले गेम के दौरान चीन की खिलाड़ी को हाथ में चोट लगी थी, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने वर्ल्ड नम्बर-3 सिंधु पर अपना दबदबा कायम रखते हुए जीत हासिल की।
इसी साल फ्रेंच ओपन और इंडोनेशिया ओपन में भी सिंधु को बिंगजियाओ के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। ऐसे में देखा जाए, तो लगातार तीसरे मुकाबले में सिंधु को बिंगजियाओ से मात मिली है। सिंधु और बिंगजियाओ के बीच अब 13 मुकाबले खेले जा चुके हैं, जिसमें से आठ में चीन की खिलाड़ी ने जीत हासिल की है। इस स्टार भारतीय महिला शटलर को बिंगजियाओ के खिलाफ 5 मुकाबलों में जीत मिली है, लेकिन पिछले तीन मुकाबलों से सिंधु लगातार हारती आ रही हैं। बिंगजियाओ का सामना अब सेमीफाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा से होगा। सिंधु की हार के साथ ही इस टूनार्मेंट के महिला एकल वर्ग में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई है।
श्रीकांत भी क्वार्टर फाइनल में हारे
श्रीकांत को पुरुष एकल वर्ग के क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे के वर्ल्ड नम्बर-3 चोउ तिएन चेन ने केवल 35 मिनटों के भीतर सीधे गेम में 21-14, 21-14 से मात देकर बाहर का रास्ता दिखाया। श्रीकांत और चेन इससे पहले तीन मैचों में आमने-सामने आ चुके हैं। चीन ओपन टूनार्मेंट में खेले गए इस मैच के साथ तिएन ने तीसरे मुकाबले में भारतीय खिलाड़ी के खिलाफ जीत हासिल की है, वहीं श्रीकांत को एक ही मैच में चीनी ताइपे के खिलाड़ी के खिलाफ जीत मिली। श्रीकांत और सिंधु की हार के साथ चीन ओपन के महिला एवं पुरुष एकल वर्ग में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई है।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें