खेल

खेल (4427)

नई दिल्ली। एशिया कप में भारत व पाकिस्तान का मुकाबला 19 सितंबर को होना है। इस मुकाबले को लेकर गौतम गंभीर ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि मेरे लिए देश पहले आता है और क्रिकेट बाद में आता है। हम अगर किसी आइसीसी टूर्नामेंट में पाकिस्तान के साथ खेलते हैं तो हमें द्विपक्षीय सीरीज भी खेलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि किसी भी तरह का क्रिकेट देश के बाद आता है और देश के सैनिक सबसे पहले आते हैं। गौतम गंभीर ने कहा कि देश की सरकार को सीमा सुरक्षा की बात पहले करनी चाहिए उसके बाद ही क्रिकेट पर कोई निर्णय लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हम दूसरे देश में पाकिस्तान के साथ खेलते हैं तो द्विपक्षिय सीरीज भी खेलनी चाहिए। उन्होंने एशिया कप में पाकिस्तान के साथ नहीं खेलने की तरफ इशारा किया। गौरतलब है कि पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम का मुकाबला 19 सितम्बर को है। इसके बाद सुपर फोर में पहुँचने के बाद दोनों टीमें एक बार फिर आमने-सामने होंगी। फाइनल में अगर भारत और पाक की टीमें पहुंचती है, तो उनके बीच टूर्नामेंट में तीसरा मुकाबला भी होगा। इसको लेकर गंभीर ने कहा कि क्रिकेट के मैदान और सीमा पर रिश्ते अलग नहीं होने चाहिए। भारत की सीमा पर सब कुछ ठीक होने के बाद ही क्रिकेट खेलना चाहिए।

नई दिल्ली। एशिया कप में रविवार को दूसरा मैच पाकिस्तान और हांगकांग के बीच खेला गया। पाकिस्तान के लिए ये मैच शायद एक मैच प्रैक्टिस हो सकती है लेकिन हांगकांग जैसे देश जो इंटरनेशनल लेवल पर अपनी पहचान बनाने को संघर्ष कर रहे हैं, उनके लिए ये दिन काफी बड़ा है। एशिया कप के क्वालिफायर में हांगकांग ने यूएई जैसी मजबूत टीम को हराकर इस टूर्नामेंट में जगह बनाई।इस टूर्नामेंट के दूसरे मैच में सभी की नजरें हांगकांग के खिलाड़ियों पर थी कि वह कैसे पाकिस्तान जैसी मजबूत टीम का सामना करते है। हांगकांग के खिलाड़ी भी शायद इस मैच का काफी समय से इंतजार कर रहे होंगे। लेकिन जैसे ही वह मैदान में उतरे तो उन्हें एक बड़ी निराशा का सामना करना पड़ा। दरअसल पाकिस्तान और हांगकांग के बीच मैच में 100 दर्शक भी मौजूद नहीं थे। यूएई पाकिस्तान का होम ग्राउंड है, इसलिए उम्मीद थी कि उन्हें सपोर्ट के लिए फैंस आएंगे लेकिन खाली स्टेडियम देख दोनों ही टीम के खिलाड़ी निराश हुए।वैसे इस मैच में हांगकांग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। हांगकांग टीम की कप्तान 20 वर्ष के अंशुमन रथ के हाथों में है तो पाकिस्तान की कप्तानी सरफराज अहमद कर रहे हैं। हांगकांग की टीम वर्ष 2008 के बाद इस एशिया कप में हिस्सा ले रही है। हांगकांग की टीम ने क्वालीफाइंग राउंड पार करने के बाद इस बार एशिया कप में जगह बनाई है। वो इस टूर्नामेंट में छठे टीम के तौर पर हिस्सा ले रही है।
पाकिस्तान की प्लेइंग टीम-फखर जमां, इमाम उल हक, बाबर आजम, शोएब मलिक, सरफराज अहमद, आसिफ अली, शादाब खान, फहीम अशरफ, मो. आमिर, हसन अली, उस्मान खान।
हांगकांग की प्लेइंग टीम- निजाकत खान, अंशुमन रथ, बाबर हयात, किंचित शाह, क्रिस्टोफर कार्टर, एहसान खान, एजाज खान, स्कॉट मैकेचिने, तनवीर अफजल, अहसान नवाज, नदीम अहमद।

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ने नव नियुक्त राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने घोषणा की है कि इस राज्य की खुद की आइपीएल टीम बनाई जाएगी और उनके लिए मैचों का आयोजन भी किया जाएगा। एन एन वोहरा की जगह राज्यपाल बनाए गए मलिक ने एक कार्यक्रम के दौरान ये बातें कही। इस कार्यक्रम में जम्मू-कश्मीर के क्रिकेटर मंजूर दार ने भी हिस्सा लिया था। मंजूर को किंग्स इलेवन पंजाब ने आइपीएल 2018 के लिए अपनी टीम में शामिल किया था लेकिन उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। मंजूर दार के क्रिकेटर बनने की संघर्ष की कहानी से प्रेरित होकर मलिक ने ये कदम उठाया और कहा कि इस राज्य की खुद की आइपीएल टीम बनाई जाएगी। उन्होंने कहा कि उनके इस कदम से राज्य के कई क्रिकेटर को आगे बढ़ने का मौका मिलेगा।सत्यपाल मलिक ने कहा कि मैंने मंजूर दार के क्रिकेटर बनने के संघर्ष की कहानी सुनी और मुझे पता चला कि किस तरह कि दिक्कतों का सामना करके उन्होंने आगे क्रिकेट खेलना जारी रखा। मैं आइपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला से भी मिला था और उन्होंने मुझे मंजूर की कहानी के बारे में बताया और ये भी बताया कि उनमें क्रिकेट के लिए कितना पैशन है। मलिक ने कहा कि मंजूर के बारे में जानने के बाद मैंने चीफ सेक्रेटरी से बात की और हमने निश्चय किया कि जम्मू-कश्मीर की अपनी आइपीएल टीम बनाई जाएगी। हम अपने राज्य में आइपीएल मैचों का आयोजन भी करेंगे और राज्य में क्रिकेट प्रतिभा को आगे लाने की कोशिश की जाएगी।जम्मू-कश्मीर के अंदरूनी हालात की वजह से वहां से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर सामने नहीं आए हैं। इस राज्य से अब तक सिर्फ परवेज रसूल और मंजूर दार ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के तौर पर पहचान हासिल कर पाए हैं। इस राज्य में दो बेहतरीन क्रिकेट स्टेडियम भी है। एक स्टेडियम श्रीनगर तो दूसरा जम्मू में है। 80 के दशक में यहां पर दो अंतरराष्ट्रीय मैचों का आयोजन किया गया था लेकिन कई खामियों की वजह से यहां पर इंटर स्टेट मैचों का आयोजन भी पिछले कुछ सालों से नहीं किया जा रहा है। अगर यहां प्रयास किए जाएं तो कई अच्छे क्रकेटर सामन आ सकते हैं। हाल ही में यहां के अंडर19 क्रिकेटर कामरान इकबाल को इंडिया बी टीम में शामिल किया गया था। इस खिलाड़ी ने इस टीम की तरफ से चतुष्कोणीय सीरीज में हिस्सा भी लिया था और अच्छा खेल दिखाया था।

नई दिल्ली। इस बार एशिया कप में क्वालीफाइंग मुकाबलों की बाधा पार करके हांगकांग की टीम ने शानदार एंट्री की। ये टीम अपने 20 वर्षीय कप्तान अंशुमन रथ की कप्तानी में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए एशिया कप टूर्नामेंट में प्रवेश करने वाली छठी टीम बनी। हांगकांग की टीम ने आखिरी बार एशिया कप में वर्ष 2008 में हिस्सा लिया था। इसके बाद इस बार इस टीम को इस टूर्नामेंट में खेलने का मौका मिला। जाहिर तौर पर इसका श्रेय पूरी टीम के साथ-साथ कप्तान को भी जाता है। अंशुमन वैसे तो हांगकांग से क्रिकेट खेलते हैं और वहां के कप्तान हैं लेकिन उनका भारत से खास नाता है। उनका जन्म भी हांगकांग में ही हुआ लेकिन उनके माता-पिता मूल रूप से ओडिशा से ताल्लुक रखते हैं। अंशुमन के माता-पिता 90 के दशक में ही हांगकांग चले गए थे और वहीं बस गए। हांगकांग में पले-बढ़े अंशुमन को भारत से काफी लगाव है और वो अपने रिश्तेदारों से मिलने यहां आते रहते हैं। अंशुमन ने भारत के पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को देखकर ही क्रिकेटर बनने का सपना संजोया था। महज छह वर्ष की उम्र में यानी वर्ष 2003 विश्व कप के दौरान सचिन की बल्लेबाजी देखकर अंशुमन इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने ठान लिया कि उन्हें क्रिकेट ही खेलना है। उस विश्व कप में सचिन ने कमाल की बल्लेबाजी की थी और 11 मैचों में सबसे ज्यादा 673 रन बनाए थे। वो मैन ऑफ द सीरीज बने थे और भारत इस विश्व कप के फाइनल में पहुंचा था। अंशुमन अभी सिर्फ 20 वर्ष के हैं लेकिन हांगकांग में उनकी तुलना धौनी से की जाती है। दरअसल माही की तरह वो भी विकेटकीपर-बल्लेबाज हैं। उन्हें काफी कम उम्र में ही टीम की कप्तानी सौंप दी गई। अंशुमन ने अब तक अपनी टीम के लिए कुल 16 वनडे मैच खेले हैं और इसमें उन्होंने 52.57 की औसत से 736 रन बनाए हैं। उनके नाम पर एक शतक भी है और वनडे में उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 143 रन है।

 

दुबई। भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज अंबाती रायडू एशिया कप के लिए दुबई में भारतीय टीम के साथ हैं। टीम इंडिया अपने नियमित कप्तान विराट की गैरमौजूदगी में एशिया कप खिताब के लिए अपनी दावेदारी पेश करेगी। रायडू ने कहा कि विराट का टीम में नहीं रहना एक बड़ा झटका है लेकिन उनकी गैरमौजूदगी के बावजूद टीम में अच्छे खिलाड़ियों की कमी नहीं हैं जो बाहर जाकर जीत सकते हैं। उन्होंने धौनी की मौजूदगी को टीम के लिए काफी अहम बताया और कहा कि उनसे टीम के हर खिलाड़ी को कुछ ना कुछ सीखने को मिलता है। हमारे पास विराट नहीं हैं तो क्या हुआ हमारे पास धौनी हैं और उनकी मौजूदगी में हमारी टीम जीत दर्ज करने में सक्षम है। धौनी के बारे में रायडू ने कहा कि उन्होंने मुझे इस सीजन में काफी कुछ सीखाया। भारतीय टीम में अब भी मध्यक्रम में ठोस बल्लेबाज को लेकर उठापटक जारी है जबकि विश्व कप में अब कुछ महीने शेष बचे हैं। ऐसे में रायडू के पास एक शानदार मौका है कि वो मध्यक्रम में खुद को साबित करें और अपना स्थान पक्का करें। उन्होंने कहा कि मैं इसके बारे में सोच भी नहीं रहा ना ही इसे एक प्रतिस्पर्धा के तौर पर ले रहा हूं। मैं इस स्थान के बारे में सोचकर दबाव नहीं लेना चाहता हूं। रायडू इंजरी की वजह से काफी वक्त से टीम से बाहर थे और एशिया कप के जरिए उनकी टीम में वापसी हुई है। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि इस वक्त कोई विश्व कप के बारे में सोच भी रहा है। हम अभी एशिया कप खेलने आए हैं मुझे नहीं लगता कि इस मौके पर कोई विश्व कप के बारे में विचार कर रहा है। भारत को अपना पहला मैच हांगकांग के खिलाफ 18 सितंबर को खेलना है। इसके ठीक बाद यानी 19 को ही भारत का सामना पाकिस्तान के साथ होगा। लगातार मैच के बारे में रायडू ने कहा कि ये हमारे लिए थोड़ा मुश्किल जरूर है लेकिन हम इसके बाद यानी पाकिस्तान के खिलाफ भी पूरी तरह से तैयार होकर मैदान पर उतरेंगे। रायडू ने कहा कि आइपीएल में किए गए शानदार प्रदर्शन के बावजूद इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज मिस करना उनके लिए काफी परेशान करने वाला रहा। रायडू यो-यो टेस्ट में फेल हो जाने की वजह से इंग्लैंड दौरे पर नहीं जा सके थे।उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर इंग्लैंड नहीं जा पाना उनके लिए काफी मुश्किल रहा लेकिन मैं खुश हूं कि मैंने उस टेस्ट को पास कर भारतीय टीम में एशिया कप के लिए वापसी कर ली है। इस वर्ष का आइपीेएल भी मेरे लिए काफी अच्छा रहा था। सबसे बड़ी बात जो मैंने महसूस की है वो ये कि अगर आप फिट हैं तो उम्र आपके लिए कोई मायने नहीं रखता है। दूसरी बार में यो-यो टेस्ट में पास करने के बाद रायडू ने इंडिया ए के लिए ट्राई सीरीज में हिस्सा लिया था जिसमें दक्षिण अफ्रीका ए और ऑस्ट्रेलिया ए की भी टीम शामिल थी। ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ उन्होंने 62 रन की नाबाद पारी खेली थी और मैन ऑफ द मैच बने थे। वहीं दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ उन्होंने 66 रन की पारी खेली थी।

 

 

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी और सेलेक्टर संदीप पाटिल ने विराट कोहली के एशिया कप में ना खेलने को लेकर सवाल उठाए हैं। पाटिल ने कहा कि मैं मानता हूं कि भारतीय खिलाड़ियों का शेड्यूल बेहद टाइट है और खिलाड़ियों पर काफी दबाव है साथ ही इस पर विचार किए जाने की भी जरूरत है। लेकिन मुझे ये नहीं समझ आ रहा कि इस अहम टूर्नामेंट के लिए विराट को क्यों आराम दिया गया है।संदीप पाटिल ने कहा कि मैं खिलाड़ियों के उपर आ रहे दबाव को समझता हूं लेकिन एशिया कप के दौरान भारत व पाकिस्तान का मुकाबला होना है। इस मैच को लेकर क्रिकेट फैंस की उत्सुकता अपने चरम पर होती है साथ ही इस मैच के साथ सबका भावनात्मक लगाव भी है। ऐसे में इतने अहम मैच के लिए विराट को आराम देने का फैसला क्यों किया गया। उन्होंने कहा कि बीसीसीआइ के कांट्रेक्ट में 30 खिलाड़ी हैं और सिर्फ विराट को ही इस तरह का स्पेशल ट्रीटमेंट क्यों दिया गया जबकि सब एक ही काम कर रहे हैं।संदीप ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि मैं विराट कोहली को किसी भी बात के लिए जिम्मेदार नहीं ठहरा रहा ना ही उन्हें किसी बार के लिए दोषी ठहरा रहा हूं लेकिन बीसीसीआइ के कांट्रेक्ट में शामिल सभी 30 खिलाड़ी उनके बराबर ही खेल रहे हैं और उन पर भी काम का उतना ही बोझ है ऐसे में सिर्फ विराट को ही आराम क्यों दिया गया। एशिया कप में रोहित शर्मा भारतीय टीम की कप्तानी करेंगे और उन पर इस टूर्नामेंट के दौरान कप्तान और बल्लेबाज दोनों ही स्तर पर दबाव से निपटना होगा

 

नई दिल्ली। एशिया कप का खिताब अपने पास इस बार बरकरार रखना भारतीय टीम के लिए बड़ी चुनौती है। विराट की कप्तानी में पिछली बार एशिया कप का खिताब जीतने वाली टीम इंडिया की कमान इस बार रोहित के हाथों में है और इस टीम को जीत के दावेदार के तौर पर भी देखा जा रहा है। हालांकि विराट के नहीं खेलने से टीम की बल्लेबाजी पर उसका असर तो…
नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने अपनी गर्लफ्रेंड डेनी विलिस से शादी कर ली है। दोनों काफी वक्त से एक-दूसरे को जानते थे। स्मिथ ने सोशल मीडिया के जरिए इस बात की जानकारी दी। उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की और लिखा कि आज मैंने अपनी सबसे अच्छी दोस्त से शादी कर दी। मेरे लिए ये दिन काफी शानदार है और डेनी…
नई दिल्ली। श्रीलंका क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने लगता है कि एशिया कप के जरिए कई और टैलेंटेड क्रिकेटर दुनिया के सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि एशिया में क्रिकेट को बढ़ावा देने में ये टूर्नामेंट अहम साबित होगा। इस वर्ष यूएई में आयोजित ये टूर्नामेंट एशिया के एक और क्रिकेट खेलने वाले देश अफगानिस्तान के शामिल होने से और ज्यादा रोचक हो गया है। ये टूर्नामेंट नए…
नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेटर एस श्रीसंत इस बार बिग बॉस सीजन 12 में हिस्सा लेंगे। बिग बॉस के इस सीजन की शुरुआत 16 सितंबर से होने जा रहा है। श्रीसंत इस बार बिग बॉस के घर में रहेंगे इस बात का खुलासा एक प्रोमो के जरिए कर दिया गया है। अक्सर विवादों में रहने वाले श्रीसंत इससे पहले भी कई टीवी रियलीटी शो का हिस्सा रह चुके हैं। हाल ही…
Page 2 of 317

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें