नई दिल्ली - चीन ने दुनिया के सामने इंजीनियरिंग की एक और मिसाल पेश की है। अब उसने समुद्र के नीचे दुनिया की सबसे गहरी सुरंग बना डाली है। 8.1 किमी लंबी इस सुरंग का 3.49 किमी हिस्सा समुद्र के नीचे है। 88 मीटर गहरी सुरंग क्विंगदाओ शहर के जिओझाऊ खाड़ी में बनी है। वर्तमान में यह चीन की समुद्र के नीचे बनी सबसे लंबी और गहरी सुरंग है। हांगकांग, मकाऊ और झुहाई को जोड़ने वाले समुद्र पर बने दुनिया के सबसे लंबे पुल तैयार होने के एक महीने के भीतर चीन ने इसे भी बना लेने की घोषणा कर दी है।
हैरतअंगेज निर्माण
पूर्व में अपनी कई सफल योजनाओं से दुनिया को चौंका चुके चीन को इस सुरंग को बनाने में काफी मशक्कत उठानी पड़ी। सुरंग के प्रोजेक्ट मैनेजर के मुताबिक समुद्र के नीचे 290 फीट पर दबाव बहुत था, जिसमें काम करना बहुत आसान बात नहीं थी। प्रति वर्ग मी यह दाब 300 कारों के वजन के बराबर था। प्रतिकूल परिस्थितियों के बीच यह उपलब्धि अहम है।
सुरंग से गुजरेगी मेट्रो
यह परियोजना क्विंगदाओ के एक नंबर मेट्रो लाइन का हिस्सा है। शहर की आबादी 90 लाख है। जर्मनी के उपनिवेश रहे इस शहर को चीन की बीयर राजधानी भी कहते हैं। 37 मील लंबी सबवे लाइन में 23 स्टाप हैं। 2020 में यहां मेट्रो चलने लगेगी। अभी लोगों को जिओझाऊ खाड़ी घूमकर जाना पड़ता है। जिसमें वक्त ज्यादा लगता है। मेट्रो चलने के बाद यह पूरा रास्ता छह मिनट में तय किया जा सकेगा।
पूर्व का रिकॉर्ड
तुर्की की बॉसफोरस खाड़ी में बनी मरमारय सुरंग को इससे पहले समुद्र के नीचे सबसे गहरी होने का तमगा हासिल था। यह 55 मीटर (180 फीट) से अधिक गहरी है। 13.6 किमी (8.5 मील) लंबी यह सुरंग बॉसफोरस खाड़ी के नीचे गुजरते हुए इस्तांबुल के दोनों किनारों पर एशिया और यूरोप को जोड़ती है।

 

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें