नई दिल्‍ली। महिलाओं के प्रति यौन शोषण के मामले पूरी दुनिया में बढ़े हैं। हाल ही में मीटू कैंपेन में कई महिलाओं ने अपनी आपबीती कही। इसके बाद कई नामी लोगों के ऊपर से अच्‍छाई का नकाब भी हट गया। आपको बता दें कि अमेरिका के राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप पर इससे ही मिलता जुलता मामला अभी तक उनके गले की फांस बना हुआ है। बहरहाल, यहां पर हम जिस शख्‍स की बात कर रहे हैं वह भी एक देश के पूर्व राष्‍ट्रपति रह चुके हैं। इस लिहाज से यह पूरी दुनिया को बेहद शर्मशार करने वाली घटना है।इस शर्मसार कर देने वाली घटना के घेरे में कोस्‍टा रिका के पूर्व राष्‍ट्रपति ओस्‍कर आरियास हैं। ओस्‍कर पर पांचवीं बार किसी महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। यह महिला कोई और नहीं बल्कि उनके ही देश की मिस कोस्‍टा रिका रह चुकी याजमीन मोरलस हैं। उन्‍होंने पूर्व राष्‍ट्रपति पर आरोप लगाया है कि वर्ष 2015 में उन्‍होंने न सिर्फ उन्‍हें उनकी इच्‍छा के बिना छुआ बल्कि जबरन चुंबन भी लिया। घटना के चार वर्ष बाद वह इस मामले को सभी के सामने लाने की हिम्‍मत जुटा सकीं। उन्‍होंने पूर्व राष्‍ट्रपति के खिलाफ इसको लेकर आपराधिक मामला भी दर्ज करवाया है।आपको जानकर हैरत होगी कि आरियाज कोस्‍टा रिका के दो बार राष्‍ट्रपति चुने गए थे। 1987 में उन्‍हें सेंट्रल अमेरिका में छिड़े गृहयुद्ध को रोकने के लिए नोबेल शांति पुरस्‍कार से नवाजा गया था। आपको यहां पर बता दें कि जिस शख्‍स पर यह आरोप लगा है वह एक देश का पूर्व राष्‍ट्रपति होने के अलावा नोबेल पुरस्‍कार विजेता भी रह चुका है। इस घटना ने नोबेल विजेताओं का सिर भी शर्म से झुका दिया है।याजमीन के वकील ने पूर्व राष्‍ट्रपति के खिलाफ दर्ज मामले की पुष्टि की है। आरियाज के खिलाफ पहली शिकायत वर्ष 2014 में सामने आई थी। उस वक्‍त भी महिला ने उनपर बिजना इजाजत जबरन छूने और चुंबन का ही आरोप लगाया था। जिस महिला ने यह शिकायत की थी वह महिला शांति कार्यकर्ता है। उसने आरियाज पर डराने धमकाने का भी आरोप लगाया था।हालांकि उस वक्‍त पूर्व राष्‍ट्रपति ने इन आरोपों का खंडन किया था और कहा था कि उन्‍होंने किसी भी महिला के साथ किसी भी तरह का दुर्व्‍यवहार नहीं किया है। यह मामला अब तक भी लंबित है। इसके बाद आरियाज के खिलाफ दूसरी शिकायत 2015 में सामने आई थी। शिकायत करने वाली महिला का आरोप था कि ईस्‍टर के मौके पर आरियाज ने उसे घर पर बुलाया था जहां उसके साथ दुर्व्‍यवहार किया गया। महिला ने अपनी शिकायत में यहां तक कहा कि वह आरियाज की हरकत को देखकर बेहद शर्मसार थीं और कुछ नहीं कर सकी। बाद में वह वह आरियाज को बिना कुछ कहे घर से निकल भागी।इसके अलावा भी आरियाज के खिलाफ तीन अलग-अलग महिलाओं ने यौन शोषण के आरोपों के तहत शिकायत की है। आरियाज के खिलाफ लगातार उठती अंगुली के बाद कोस्‍टा रिका में महिलाओं ने सड़क पर आकर उनके खिलाफ प्रदर्शन तक किया है। इन महिलाओं के हाथों में आरियाज के खिलाफ पोस्‍टर और बैनर भी थे। इन पर लिखा था कि आरियाज पर लगे आरोपों पर पूरा विश्‍वास है।वोक्‍सडॉटकॉम के मुताबिक अप्रैल 2017 से जनवरी 2019 तक दुनियाभर के करीब करीब 263 जानी मानी हस्तिायां यौन शोषण के आरोपों के घेरे में आ चुकी हैं। इनमें सेलिब्रिटी से लेकर राजनीतिज्ञ, सीईओ तक शामिल हैं। जहां तक यौन शोषण की बात है तो पिछले वर्ष थॉमसन रॉयटर फाउंडेशन की रिपोर्ट में भारत को महिलाओं के लिए सबसे अधिक खतरनाक देश बताया गया था। इस रिपोर्ट में अफगानिस्‍तान, कांगो, पाकिस्‍तान और सोमालिया को भी महिलाओं के लिए खतरनाक देश बताया गया था।

Share this article

AUTHOR

Editor

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

ताज़ा ख़बरें