Editor

Editor

नई दिल्ल। देश में कोरोना के टीकाकरण को लेकर मोदी सरकार ने बड़ा एलान किया है। देशभर में 16 जनवरी से टीकाकरण अभियान की शुरुआत होगी। इस दौरान स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अग्रिम पंक्ति के कर्मचारियों को प्राथमिकता दी जाएगी। शुरुआत में लगभग 3 करोड़ लोगों में कोरोना का टीका लगाया जाएगा, जो निशुल्क होगा। इसके बाद 50 साल से ऊपर के लोगों को टीका लगाए जाने की रूपरेखा तैयार की गई है। पहले चरण में जिन बाकी 27 करोड़ लोगों का टीकाकरण होना है, उनका टीकाकरण उसके बाद शुरू होगा।वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि 16 जनवरी को भारत कोरोना वायरस से लड़ने में एक और महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ गया है। 16 जनवरी से भारत का राष्ट्रव्यापी कोरोना का टीकाकरण अभियान शुरू जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के टीकाकरण में हमारे बहादुर डॉक्टरों, हेल्थकेयर वर्कर्स, सफाई कर्मचारियों सहित फ्रंटलाइन कर्मचारियों को सबसे पहले प्राथमिकता दी जाएगी।बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने आज कोरोना टीकाकरण के लिए राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की तैयारियों के साथ देश में कोरोना की स्थिति की समीक्षा के लिए एक उच्च-स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की थी। बैठक में कैबिनेट सचिव, प्रधान सचिव, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य सचिव, और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया था।

टीकाकरण को लेकर कोविन एप पर 79 लाख लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन;-इस बैठक में प्रधानमंत्री को बताया गया कि किस तरह से केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर जल्द शुरू होने वाले टीकाकरण अभियान की तैयारियां कर रही है। प्रधानमंत्री को बताया गया कि (Covin App) कोविन एप पर अब तक 79 लाख लाभार्थियों का रजिस्ट्रेशन कराया जा चुका है, जिन्हें शुरुआत में टीका दिया जाना है। बैठक में विस्तृत समीक्षा के बाद यह तय किया गया कि लोहड़ी, मकर संक्रांति पोंगल, माघ बिहू जैसे त्योहारों के मद्देनजर देश में टीकाकरण अभियान 16 जनवरी से शुरू किया जाएगा।

दो कोरोना वैक्सीन को मिली है मंजूरी:-मालूम हो कि अभी हाल ही में डीसीजीआई (ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया) द्वारा देश में दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी मिली है। इन दो कोरोना वैक्सीन में सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड (Covishield) और भारत बायोटेक की कोवैक्सिन (Covaxin) शामिल हैं।गौरतलब है कि दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन निर्माता कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने 'Covishield' के उत्पादन के लिए एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ साझेदारी की है। वहीं, भारत बायोटेक ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR) के साथ मिलकर ‘Covaxin’ का निर्माण किया है।

नई दिल्‍ली।दिल्‍ली सरकार बर्ड फ्लू को लेकर काफी अलर्ट हो गई है। इसी क्रम में सरकार ने एक एहतियात के तौर पर एक बड़ा कदम उठाया है। गाजीपुर मुर्गा मंडी को सरकार ने 10 दिनों के लिए बंद कर दिया है। सरकार ने इसके अलावा बाहर से भी मुर्गा-मुर्गी के दिल्‍ली लाने पर रोक लगा दी है। दिल्‍ली में बाहर से आ रही चिड़ियों के सेहत की भी निगरानी कर रही है। सरकार के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने यह जानकारी लाइव प्रेस वार्ता  में दी है। 

लोगों से सावधानी बरतने की अपील;-मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बर्ड फ्लू की आशंका को लेकर दिल्ली सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है। सरकार पूरी तरह अलर्ट मोड पर है। संबंधित विभागों की टीमें बनाई गई हैं, जहां भी पक्षी मरे मिले हैं, उनके सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। उन्होंने लोगों से भी अपील की है कि बर्ड फ्लू को लेकर सावधानी बरतें।

सरकार अलर्ट जारी है:सरकार ने बाहर से जिंदा मुर्गा-मुर्गियों के लाने पर रोक लगाया है। बता दें कि दिल्‍ली से पहले कई राज्‍यों में बर्ड फ्लू को लेकर सरकार अलर्ट जारी कर चुकी है। इसलिए सरकार ने एहतियात के तौर पर यह रोक लगाई है। दिल्‍ली के मयूर विहार फेज-3 में कुछ कौवों के मरने की सूचना के बाद से ही विभाग अलर्ट मोड पर है। उनके सैंपल को जालंधर के लैब में भेजे गए हैं। इनकी रिपोर्ट रविवार तक आएगी। इसके बाद दिल्‍ली सरकार इन रिपोर्ट के आधार पर उचित कदम उठाएगी।

सरकार ने जारी की हेल्‍प लाइन:-बर्ड फ्लू को लेकर सरकार ने लोगों से सूचना-आदान प्रदान करने के लिए एक हेल्‍प लाइन नंबर जारी किया है। 011- 23890318 इस नम्बर पर 24 घंटे की हेल्पलाइन की सुविधा मिलेगी। वहीं, डीएम के नेतृत्व में रैपिड रिस्पांस टीमें बनाई गई हैं।

भोपाल। मध्‍य प्रदेश के गृह मंत्रालय ने राजपत्र में धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक- 2020 को अधिसूचित कर दिया है।  सरकार के इस कदम से कथित लव जिहाद के खिलाफ सख्त कानून अब लागू हो गया है। पिछले साल दिसंबर में शिवराज सिंह चौहान सरकार के मंत्रिमंडल ने मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2020 को मंजूरी दे दी थी। विधेयक में शादी या  अन्‍य कपटपूर्ण तरीके से कराया गया धर्मांतरण अपराध माना जाएगा जिसके मामले में अधिकतम 10 साल की कैद और एक लाख रुपए तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। समाचार एजेंसी पीटीआइ की रिपोर्ट के मुताबिक, यह विधेयक काफी कुछ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा अधिसूचित उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 के समान है। उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 में भी जबरन धर्मांतरण कराने के अपराध में अधिकतम 10 साल की सजा का प्रावधान किया गया है। मध्‍य प्रदेश के कानून एवं गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि उनकी सरकार ने इस विधेयक को काफी कठोर बनाने की कोशिश की है। मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2020 के कानून बन जाने से कोई भी किसी दूसरे को प्रलोभन, धमकी अथवा बलपूर्वक विवाह के नाम पर या अन्य कपटपूर्ण तरीके से प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष से उसका धर्म परिवर्तन नहीं करा पाएगा। इस कानून का उल्लंघन करने पर एक से 10 साल तक की कैद एवं एक लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। यही नहीं धर्म छिपाकर (कथित लव जिहाद) शादी के अपराध में तीन साल से 10 साल तक के कारावास और 50 हजार रुपये के दंड का प्रावधान है।सामूहिक धर्म परिवर्तन का प्रयास करने पर पांच से 10 साल तक की कैद और एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। नाबालिग, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के साथ ऐसा अपराध करने पर दो से 10 साल तक की कैद और कम से कम 50 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान किया गया है। यही नहीं विधेयक में स्वेच्छा से धर्म संपरिवर्तन करने वाले या कराने वाले व्यक्ति को 60 दिन पहले जिला दंडाधिकारी सूचित किया जाना अनिवार्य किया गया है। ऐसा नहीं करने पर कम से कम तीन से पांच साल की कैद और कम से कम 50 हजार रुपए के अर्थदंड का प्रावधान है। 

गुरुग्राम। अरावली पहाड़ी क्षेत्र में वन भूमि पर बनाए गए फार्म हाउसाें को ध्वस्त करने की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। तोड़फाेड़ अभियान चलाने के लिए न केवल एक कमेटी बना दी गई है बल्कि ड्यूटी मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है। मानेसर के तहसीलदार ड्यूटी मजिस्ट्रेट की भूमिका निभाएंगे। इससे उम्मीद है कि अगले सप्ताह से अभियान शुरू हो जाएगा।सर्वे के मुताबिक अरावली पहाड़ी क्षेत्र में वन भूमि पर लगभग 100 फार्म हाउस बने हुए हैं। अधिकतर फार्म हाउस ग्वालपहाड़ी, गैरतपुर बास, सोहना एवं मानेसर के इलाके में हैं। बताया जाता है कि अधिकतर फार्म हाउस देश के दिग्गज राजनीतिज्ञों से लेकर सेवानिवृत्त आला अधिकारियों के हैं। इस वजह से आंखों के सामने निर्माण होने के बाद भी वन अधिकारियों ने रोकने की हिम्मत नहीं की।अब जब नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने सभी फार्म हाउसों को ध्वस्त करने का आदेश जारी किया है फिर वन अधिकारियों ने अभियान चलाने की हिम्मत जुटाई है। एनजीटी ने 31 जनवरी तक रिपोर्ट सौंपने का आदेश जारी कर रखा है। आदेश जारी किए हुए भी छह महीने से अधिक हो चुके हैं। यही नहीं सर्वे करने में भी विभाग ने एक महीने से अधिक का समय लगाया। अब जिला प्रशासन द्वारा ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए जाने के बाद अगले सप्ताह से अभियान चलने की उम्मीद है।

मानेसर इलाके से शुरू किया जाएगा अभियान:-वन विभाग तोड़फोड़ अभियान मानेसर इलाके से शुरू करेगा। संभवत इसी को ध्यान में रखकर मानेसर के तहसीलदार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाया गया है। हालांकि जानकारों का कहना है कि अभियान ग्वालपहाड़ी, गैरतपुर बास या सोहना इलाके से करना चाहिए था। उन इलाकों में बनाए गए फार्म हाउस काफी पुराने हैं। इन इलाकों में कई फार्म हाउस पांच सितारा होटल की तरह बने हुए हैं। मानेसर इलाके में अधिकतर फार्म हाउसों में एक या दो रूम बने हुए हैं या फिर केवल चारदीवारी है।एनजीटी के आदेशानुसार अगले सप्ताह से तोड़फोड़ अभियान शुरू कर दिया जाएगा। अभियान शुरू करने से पहले एक बार भी कमेटी की बैठक आयोजित की जाएगी। अभियान चलाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा ड्यूटी मजिस्ट्रेट लगाना अनिवार्य होता है। यह जिम्मेदारी तय की जा चुकी है। अब अभियान चलाने का रास्ता हर स्तर पर साफ हो चुका है।

दरभंगा। सूबे के बहुचर्चित दरभंगा के बड़ा बाजार स्थित अलंकार ज्वेलर्स से हुई करोड़ों के सोना व हीरा लूट के मामले में पुलिस को कामयाबी मिली है। पुलिस ने 1.5 किलो सोना, 72 पीस हीरा और 30.89 लाख नकद रुपये जब्त किए हैं। मामले में कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें महिलाएं भी शामिल हैं। पकड़े गए बदमाशों की निशानदेही पर पुलिस की टीम लगातार छापेमारी कर रही है।वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम ने शनिवार को बताया कि घटना के बाद से पुलिस कार्रवाई कर रही थी। इस क्रम में गिरोह के सरगना विकास झा समेत कई लोग पहले जेल भेजे जा चुके हैं।विकास झा ने यह बताया था कि घटना को अंजाम देने में समस्तीपुर के बदमाश शामिल थे। इसके बाद पुलिस ने जांच कर समस्तीपुर निवासी तरूण साह के घर पर छापेमारी की। उसे गिरफ्तार किया गया। उसके घर से 72 पीस लूट का हीरा बरामद किया गया। तरूण ने पूरी जानकारी दी। इस आधार पर समस्तीपुर के मनोज राय, लक्ष्मण राय और प्रिंस कुमार के घर पर भी छापेमारी की गई। इस दौरान प्रिंस और मनोज राय के घर से लूट का सोना और कैश बरामद किया गया। लूट का माल छिपाने के आरोप में इनके स्वजनों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। तरूण ने पुलिस को बताया था कि लूट के सोना में से 1850 ग्राम सोना 47 लाख में बेगूसराय के एक सोनार से बेचा गया था। इस आधार पर पुलिस ने वहां से दो लोगों को गिरफ्तार किया है और 400 ग्राम गलाया हुआ सोना जब्त किया गया है। इसके अतिरिक्त समस्तीपुर के दलसिंहसराय स्थित एके ज्वेलर्स से 60 ग्राम लूट का सोना बरामद किया गया है। पुलिस ने ताजा कार्रवाई में कुल 11 लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की टीम लगातार लूट का सोना बरामद करने के लिए लगातार छापेमारी कर रही है।दरभंगा वरीय पुलिस अधीक्षक बाबूराम का कहना है कि  घटना तिथि से लगातार पुलिस कार्रवाई कर रही थी। इस बीच मुंगेर से विकास झा की गिरफ्तारी हुई। उसकी निशानेदही पर समस्तीपुर और बेगूसराय में पुलिस टीम ने छापेमारी की। इस दौरान दरभंगा से लूटा गया करीब 1.5 किलो सोना। 72 पीस हीरा और 30.89 लाख कैश बरामद किया गया है। कुल ग्यारह लोग गिरफ्तार किए गए हैं। कार्रवाई जारी है।

6 दिसंबर को भी जमा हुए थे बदमाश, समस्तीपुर का तरूण था योजना में शामिल:-एसएसपी ने साफ किया कि घटना को अंजाम देने की योजना बनाने में समस्तीपुर का शातिर तरूण भी शामिल था। लूट की घटना को 6 दिसंबर 2020 को ही अंजाम दे देना था। लेकिन, उस दिन बदमाश सफल नहीं हो सके। 9 दिसंबर को लूट की घटना को अंजाम देने के बाद सभी समस्तीपुर स्थित तरूण के घर गए। उसी के घर पर लूट के माल का आपस में बंटवारा किया और सभी अलग हो गए थे।

दुर्गापुर। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के बर्द्धमान में रोड शो किया। नड्डा के बर्द्धमान शहर में वीरहाटा घड़ी टावर से कर्जन गेट तक रोड शो के दौरान लोगों की काफी भीड़ उमड़ी। तकरीबन 750 मीटर दूरी का रोड शो चार बजे शुरू हुआ। रोड के किनारे काफी संख्या में समर्थक तैनात थे व पूरा इलाका भाजपा के झंडा से पटा हुआ था। इस दौरान उनके साथ बंगाल बीजेपी के अध्यक्ष दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय भी मौजूद रहे। इससे पहले नड्डा ने बर्द्धमान के कटवा राधा गोविंद मंदिर में पूजा अर्चना की। जिसके बाद जगदानंदपुर गांव में सभा को संबोधित किया। यहां उन्होंने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सुप्रीमो व मुख्यमंत्री पर हमला बोला। उन्होंने भारत माता की जय ध्वनि से सभा का संबोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि मुझे आज यहां आकर अत्यंत खुशी हो रही है। इस ऐतिहासिक भूमि पर जहां स्वामी विवेकानंद का कर्म भूमि के रूप में उनका लालन पालन हुआ। जहां गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर, सुभाष चंद्र बोस, अरविंद ने अपने कार्य से दिशा दी। श्यामा प्रसाद मुखर्जी, जिन्होंने देश में नई चिंगारी के साथ एक देश, एक निशान, एक विधान के लिए बलिदान दिया। ऐसे कर्म भूमि को नमन करता हूंं।हेलीपैड से लेकर सभा स्थल तक लोगों ने गर्मजोशी से उनका स्वागत किया, जिस पर जेपी नड्डा ने कहा कि इतनी बड़ी संख्या में लोगों की उपस्थिति बताती है कि ममता का जाना निश्चित है एवं भाजपा का आना तय है। पश्चिम बंगाल की जनता ने अपना मन बना लिया है, जनता भाजपा के स्वागत के लिए आतुर है। हमारा दायित्व है कि हम आगे बढ़कर सरकार बनाएं। ममता बनर्जी पर हमला करते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि ममता दी किछु कोरे ना, वे कुछ करेंगी नहीं, यह बात हमें समझना चाहिए। यहां भाजपा की सरकार बने, इसके लिए हमें काम करना है। यहां कटमनी की संस्कृति चल रही है, चावल चोर, तिरपाल चोर, सिंडिकेट, कोयला का भ्रष्टाचार, बालू चोर का दबदबा है, दीदी ने क्या सरकार बना दिए। कोविड में हमलोगों ने राशन बांटा, यहां राशन चोरी हुआ, तृकां नेताओं के घर में अनाज का गोदाम मिला। उन्होंने तृकां (टीएमसी) का मतलब कटमनी, चावल चोर, तिरपाल चोर बताया। हाई कोर्ट ने सरकार को सीएजी से आडिट करवाने एवं रिपोर्ट देने को कहा तब वह चावल चोर, तिरपाल चोर को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट चली गईं। ममता जी ऐतो भय केनो, कि होये छे, हर बात में बोलती है होबे ना होबे ना, मई महीने में होबे, भजपा की सरकार आवे-आवे-आवे। बंगाल में ऐसा भ्रष्टाचार चल रहा है। चावल-तिरपाल चोरी के साथ-साथ ममता जी मोदी जी के योजनाओं के नाम की भी चोरी करती है।

मोहर बदलने से कुछ नहीं होगा, मोदी जी लोगों के दिल में:-भाजपा अध्यक्ष बर्द्धमान के कटवा की सभा में काफी आक्रामक दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि दीदी, केंद्र की योजनाओं का नाम बदल देती हैं। स्वच्छत भारत मिशन को निर्मल बांग्ला कर दिया, प्रधानमंत्री आवास योजना को बांग्ला बाड़ी योजना बना दी। मोहर बदलने से कुछ नहीं होता। मोदी जी का नाम कहां-कहां से हटाओगी, वे लोगों के दिलों में बसे है। मोदी जी ने बंगाल के विकास के लिए दिन रात एक किया। कोविड में ट्रेन भेजी, उसे दीदी ने कोविड केरियर की संज्ञा दी। उनका यह शब्द बंगाल के लोगों के प्रति प्रेम समर्पण को दिखाता है।

जल्द दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा ;-उन्होंने कहा कि तृकां सरकार ने केवल तोलाबाजी, तुष्टीकरण तानाशाही के लिए काम किया। भ्रष्टाचार ऐसा हुआ कि अंतिम संस्कार के लिए भी यहां कटमनी देना होता है। यहां सारदा से लेकर कई चिटफंड उदाहरण है। राजकुमार ने कैसे धन का उजार्जन किया है, यह ज्यादा चलने वाला नहीं है। जल्द ही दूध का दूध, पानी का पानी हो जाएगा। बंगाल की जनता इस भ्रष्टाचार का जवाब देगी।

सौगंध लेते हैं, हमारी सरकार आएगी व किसानों को न्याय दिलाएंगे;-उन्होंने कहा कि आज मैंने कृषक सुरक्षा अभियान की शुरूआत की है। एक मुट्ठी चावल किसानों से दान लिया हूं, गांव में जाकर दान लेने वाला हूं। आज से लेकर 24 जनवरी तक 40 हजार ग्राम सभाओं में जाकर किसानों से हमलोग अन्न लेंगे व सौगंध खाएंगे कि हमारी सरकार आएगी तो किसानों को न्याय दिलाने का काम करेंगे। 24 से 31 जनवरी तक कृषक भोज का आयोजन होगा, जहां किसान के साथ बैठकर किसान पर अन्याय व अत्याचार के खिलाफ आवाज उठाएंगे। 40 हजार ग्राम सभा में अपनी बात रखकर किसानों के साथ अगली सरकार बनाने का निश्चित करेंगे। जब से मोदी जी प्रधानमंत्री बने है, किसानों के लिए एवं कृषि के लिए 6 गुना बजट बढ़ा दिया है। यहां ममता एवं यूपीए सरकार का बजट वर्ष 2013-14 में 22 हजार करोड़ था, आज 1.34 हजार करोड़ का बजट मोदी जी ने दिया है। उसी तरह से एमएसपी की बात कहते थे, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश को मोदी जी ने लागू किया, एमएसपी को 50 फीसद बढ़ाया गया।बंगाल के बारे में बात करने पर दुख होता है, आज ममता जी ने पीएम को चिट्टी लिखी है कि हम किसान निधि में जुड़ना चाहते है। ममता जी हम किसान सुरक्षा अभियान शुरू कर चुके है तो आपकी चिट्ठी की जरूरत नहीं है। दो साल से हमलोग बोल रहे थे, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का लाभ किसानों को दे दें, बंगाल के 70 लाख परिवार इसे वंचित है, जिसमें 23 लाख लोगों ने केंद्र सरकार को अर्जी लगाकर बताया था, हम किसान सम्मान निधि से पंजीकृत होना चाहते है। अब ममता जी की जमीन खिसक गई तो उनको किसानों को याद आयी है। उन्होंने दोहा भी सुनवाया, अब पछतावत होत क्या, जब चिड़िया चुग गई खेत। दीदी, बंगाल के लोगों ने तय कर लिया है एवं भाजपा को लाना और आपका जाना है। उन्होंने कहा कि जो किसान बिल आया है, वह किसानों को आजादी देता है। किसान अपनी जमीन पर उपजने वाली चीज का खुद कांट्रेक्टर कर सकता है। देश के 22 राज्यों के किसान उसके साथ है, केवल पंजाब व हरियाणा के किसान भ्रम में आकर आंदोलन कर रहें है। लोगों से सवाल करते हुए उन्होंने कहा कि अगर बंगाल को बदलना है तो कृषक सुरक्षा अभियान ठीक से चलाना होगा, लोगों को जोड़ना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बंगाल के लोग आयुष्मान योजना से भी वंचित हुए। ममता जी ने 4.67 लोगों को वंचित रखा है। भाजपा की सरकार बनेगी एवं 4.67 लाख लोगों को आयुष्मान भारत पहुंचाया जाएगा।

लोगों से करवाई नारेबाजी:-भाजपा अध्यक्ष ने कटवा की सभा में लोगों से नारेबाजी भी करवाई। उन्होंने एक नया नारा दिया मां दुर्गा, जय मां काली, शेष करो यह अत्याचारी। वहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कृषक सुरक्षा अभियान का शपथ पाठ भी करवाया। केंद्र सरकर की ओर से शुरू हुई किसान रेलगाड़ी का भी जिक्र उन्होंने किया।

जकार्ता। इंडोनेशिया (Indonesia) की राजधानी जकार्ता (Jakarta) से उड़ान भरने के बाद शनिवार को एक हवाई जहाज क्रैश हो गया। समाचार एजेंसी सिन्‍हुआ (Xinhua) ने स्‍थानीय मीडिया के हवाले से बताया है कि इंडोनेशिया के श्रीविजय एयर का यात्री विमान जकार्ता से दूर पानी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। श्रीविजया एयर की फ्लाइट संख्या एसजे-182 का कंट्रोल रूम से संपर्क टूट गया था। विमान पर कुल 62 लोग सवार थे। विमान ने पश्चिम कालीमंतन प्रांत (Kalimantan province) में पोंटिआनक (Pontianak) के लिए उड़ान भरी थी।संपर्क टूट जाने के बाद बोइंग B737-500 विमान की खोजबीन का अभियान चलाया गया जिसके बाद उसके क्रैश होने की जानकारी सामने आई है। समाचार एजेंसी एपी ने अधिकारियों के हवाले से बताया है कि यह एक घरेलू उड़ान थी। विमान ने जकार्ता से दोपहर 1:56 बजे उड़ान भरी थी। विमान से अंतिम संपर्क अपराह्न 2:40 पर हुआ था। इंडोनेनियाई एयरलाइन (Indonesian airline) श्रीविजय एयर (Sriwijaya Air) ने कहा है कि विमान अपनी पोंटिआनक (Pontianak) के लिए अपनी 90 मिनट की उड़ान पर था। विमान  सवार लोगों में 56 यात्री और चालक दल के छह सदस्‍य शामिल हैं।  विमान निर्माता अमेरिकी कंपनी बोइंग के विमान पहले भी हादसे के शिकार होते रहे हैं। साल 1978 में एयर इंडिया का बोइंग 747 विमान पहली जनवरी को 213 यात्रियों के साथ समु्द्र में समा गया था। सम्राट अशोक नाम के इस विमान ने मुंबई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से उड़ान भरी थी और कुछ देर बाद हादसे का शिकार हो गया था। हादसे की वजह किसी यांत्रिक खराबी को बताया गया था। इस विमान में चालक दल के 23 सदस्य और 190 यात्री सवार थे। बाद में समुद्र से विमान के मलबे मिले थे जिसकी जांच में पाया गया कि यह विमान एक हादसे का शिकार हुआ था।उल्‍लेखनीय है कि साल 2018 और 2019 के पांच महीने के दरम्‍यान इंडोनेशिया और इथोपिया में 737 मैक्स विमान के साथ कई हादसे हुए थे। इंडोनेशिया और इथियोपिया में हुए हादसों में 346 लोगों के मारे जाने के बाद दुनियाभर के देशों ने मैक्स विमान का परिचालन बंद कर दिया था। इसके बाद हादसों को लेकर कई तरह की जांचों का सिलसिला शुरू हो गया। इन विमानों की निर्माता अमेरिकी कंपनी बोइंग आलोचकों के निशाने पर आ गई थी जिसको काफी नुकसान उठाना पड़ा था। दुनियाभर की विमानन कंपनियों और उड्डयन नियामकों से बोइंग के रिश्ते खराब हुए थे। यहां तक कि विमानन कंपनियों ने अपने ऑर्डर तक रद कर दिए थे जिससे बोइंग को काफी नुकसान हुआ था।

वाशिंगटन। अमेरिका के नव- निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा है कि वह पद संभालने के तत्काल ट्रंप प्रशासन की नीतियों को पटलते हुए एक आव्रजन संबंधी विधेयक लेकर आएंगे। बाइडन ने कहा कि वह पर्यावरण के मु्द्दों पर ट्रंप प्रशासन के आदेशों की भी समीक्षा करेंगे। बाइडन 20 जनवरी को अमेरिका के राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे। बता दें कि राष्ट्रपति ट्रंप द्वारा एच 1बी वीजा सहित दूसरे वर्क वीजा पर तरह-तरह के प्रतिबंध लगाए जाने से भारतीय आइटी प्रोफेशनल्स को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।अपने गृह प्रांत डेलावेयर के विलमिंगटन में मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, 'मैं तत्काल आव्रजन संबंधी बिल लेकर आऊंगा। इसे विचार-विमर्श के लिए उचित समितियों के पास भेजा गया है।' दरअसल, बाइडन से पूछा गया था कि वह 20 जनवरी को पदभार संभालने के बाद सबसे पहले क्या काम करेंगे, जिसके जवाब में उन्होंने यह बात कही। इससे पहले भी बाइडन ने वादा किया था कि वह पद संभालने के बाद 100 दिन के अंदर आव्रजन संबंधी प्रणाली में सुधार करेंगे।ट्रंप की आव्रजन नीतियों को पलटना बाइडन के मुख्य चुनावी वादों में से एक है। ट्रंप प्रशासन शुरू से ही सीमित आव्रजन पर काम करता रहा है। ट्रंप ने राष्ट्रपति बनते ही सात मुस्लिम-बहुल देशों पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया था। ट्रंप के कार्यकाल के अंत में भी ऐसा ही चलता रहा और व्हाइट हाउस ने कोरोना महामारी को ढाल बनाकर आव्रजन पर पाबंदी लगाने की बात कही थी। ट्रंप सरकार ने अमेरिका में शरण लेने की अनुमति देने वाले आव्रजन नियमों को सख्त कर दिया था और अमेरिकी श्रमिकों की सुरक्षा के लिए योग्यता आधारित आव्रजन प्रणाली की वकालत की थी।

नई दिल्ली। करीना कपूर खान इन दिनों अपने प्रेग्नेंसी टाइम को एंजॉय कर रही हैं और हर कोई उनका इस वक्त खास ख्याल रख रहा है। वहीं वो अक्सर अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट पर खास पोस्ट और तस्वीरें शेयर करती रहती हैं। हाल ही में करीना अपने इंस्टा पर एक ऐसा ही फोटो शेयर की है, जिसमें वो अपने गर्ल गैंग के साथ नजर आ रही हैं, फोटो में करीना कपूर, मलाइक आरोड़ा, अमृता आरोड़ा, नताशा पूनावाला और मल्लिका भट्ट नजर आ रही हैं।अक्सर इन गर्ल को आपनी नाइट्स पार्टी या डिनर पार्टी में साथ देखा जाता है। करीना कपूर खान ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर अपने गर्ल गैंग का फोटो शेयर कर कैप्शन लिखा, ‘रियूनियन, मिसिंग करीश्मा कूपर।’वहीं नताशा पूनावाला ने भी फोटो को अपने इंस्टाग्राम पर शेयर कर कैप्शन लिखा, ये मेरा गैंग है और आप अपने गैंग के बिना नहीं रह सकते। फोटो में करीना कपूर खान नीले कलर की ड्रेस में नजर आ रही हैं। वहीं मलाइका वाइट टी-शर्ट, ब्लैक ट्राउजर और अमृता हुडी में नजर आ रही हैं। बता दें कि करीना कपूर खान और उनकी दोस्त अक्सर मिलती रहती हैं और कोरोना महामारी के चलते हुए लॉकडाउन के बाद ये सभी अगस्त के महीने में मिले थे। जिसके बाद अक्सर वीडियो कॉल पर मिलते रहते हैं।करीना कपूर खान को बड़े पर्दे पर फिल्म अंग्रेजी मीडियम में बॉलीवुड के दिवंगत अभिनेता इरफान खान के साथ नजर आई थी। फिल्म में करीना एक पुलिस ऑफिसर का किरदार निभाया है। इससे पहले वो फिल्म गुड न्यूज में अक्षय कुमार और दिलजीत दोसांझ के साथ नजर आई थी। करीना जल्द ही आमिर खान के साथ लाल सिंह चड्ढा में दिखाई देंगी, इसमें पहले उन्होंने आमिर खान के साथ 3 इडियट्स फिल्म में काम किया था।

नई दिल्लीl फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन ने शुक्रवार को एक पुरानी फोटो सोशल मीडिया पर शेयर कीl यह तस्वीर उनके एक फैन ने ट्विटर पर शेयर की है। यह तस्वीर तब की है जब कुली हादसे के बाद वह घर सकुशल लौटकर वापस आए थेl उन्होंने इस फोटो से जुड़ा एक तथ्य भी बताया कि अस्पताल से घर वापस आने के बाद उन्हें देखकर पिता हरिवंश राय बच्चन की आंखों से आंसू छलक पड़े थेlअमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर लिखा, '45 मिलियन ट्विटर परिवार को मैं बताना चाहता हूंl थैंक्यू जैस्मिन, यह फोटो बहुत खास हैl मैं कुली हादसे के बाद मौत से लड़कर घर वापस आया थाl यह पहली बार है जब मैंने पिताजी को रोते हुए देखा थाl इसमें चिंतित अभिषेक बच्चन भी दिखाई दे रहे हैं।' फोटो में अमिताभ बच्चन पिता के पैर छू रहे हैं, जोकि रो रहे हैंl जबकि अभिषेक बच्चन अपने दादाजी के पास चिंतित खड़े नजर आ रहे हैंlअमिताभ बच्चन के कई फैंस ने इस हादसे को लेकर अपनी संवेदनाएं व्यक्त की हैl एक फैन ने लिखा है, 'सदमा जीवन को बदल देता हैl अमित जी आपके लिए फैंस प्रार्थना कर रहे थेl हम समझ सकते हैं कि परिवार पर क्या बीती होगीl 45 मिलियन हम यही हैंl इनके अलावा पूरी दुनिया में और भी कई लोग आपके साथ हैl' वहीं एक अन्य ने लिखा, 'आपका समर्पण अतुलनीय हैl' गौरतलब है कि 26 जुलाई 1982 को पुनीत इस्सर के साथ एक फाइट सीन की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन को चोट लग गई थीl इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया थाlअमिताभ बच्चन की आयु 78 वर्ष है और वह अब भी सक्रिय हैl वह कई फिल्मों में अहम भूमिका निभाते नजर आते हैंl जल्द वह फिल्म ब्रह्मास्त्र में नजर आएंगेl इसके अलावा कौन बनेगा करोड़पति शो भी होस्ट कर रहे हैl जोकि सभी को पसंद भी आ रहा हैंl

Page 1 of 1600

हमारे बारे में

नार्थ अमेरिका में भारत की राष्ट्रीय भाषा 'हिन्दी' का पहला समाचार पत्र 'हम हिन्दुस्तानी' का शुभारंभ 31 अगस्त 2011 को न्यूयॉर्क में भारत के कौंसल जनरल अम्बैसडर प्रभु दियाल ने अपने शुभ हाथों से किया था। 'हम हिन्दुस्तानी' साप्ताहिक समाचार पत्र के शुभारंभ का यह पहला ऐसा अवसर था जब नार्थ अमेरिका में पहला हिन्दी भाषा का समाचार पत्र भारतीय-अमेरिकन्स के सुपुर्द किया जा रहा था। यह समाचार पत्र मुख्य सम्पादकजसबीर 'जे' सिंह व भावना शर्मा के आनुगत्य में पारिवारिक जिम्मेदारियों को निर्वाह करते हुए निरंतर प्रकाशित किया जा रहा है Read more....

pr checker

ताज़ा ख़बरें